Followers

Saturday, April 09, 2011

हम तुम साथ जले,स्मृति की सुख कल्पना से:-(शनिवासरीय चर्चा)......Er. सत्यम शिवम

*ॐ साई राम*


भविष्य की ओर बढ़ता जाता,
जीवन तो है ढ़लता सूरज
-----सत्यम शिवम-----

"स्पेशल काव्यमयी चर्चा"
ब्लॉगः"anupama's sukrity!"
ब्लॉगरःअनुपमा त्रिपाठी जी

नमस्कार दोस्तों मै सत्यम शिवम आपके समक्ष लेकर आया हूँ "स्पेशल काव्यमयी चर्चा" साथ में शनिवासरीय चर्चा...

आज की "स्पेशल काव्यमयी चर्चा" में अनुपमा त्रिपाठी जी के ब्लाग के दस सुंदर पोस्टों को लिया गया है.......


"स्पेशल काव्यमयी चर्चा" के बारे में अधिक जानकारी हेतु इस लिंक पर जाये...

आप भी अपनी काव्यमयी प्रस्तुति आज ही मुझे भेज दे....
मेरा ईमेल है :-satyamshivam95@gmail.com

देश में क्रांति और आंदोलन की आग सुलग रही है,आज अन्ना हजारे के रुप में हमे एक ऐसी नेतृत्व शक्ति मिली है,जो भ्रष्टाचार की पीड़ा से देश को मुक्त कराने के लिए तत्पर है।नमन है वैसे देशभक्त अहिंसा के पुजारी को जो देश के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं करता.......
अन्ना हजारे को नमन हम भारतवासियों का.....

अब आपके सामने रखता हूँ आज की चर्चा....
सबसे पहले कविताओं का उपवन....
*काव्य-रस*
1.)आरती जी की "चाहत" ने 
2.)"Amrita Tanmay" पर देखिए अमृता जी की
3.)"रजनी नैय्यर मल्होत्रा" जी के
स्वप्न मरते नहीं
4.)मुदिता जी के "एहसास अंतर्मन के" से
5.)वंदना जी की "जिंदगी...एक खामोश सफर" पर
6.)डा नूतन गैरोला जी की "अमृतरस" पर 
हमारी ओर से भी नूतन जी की माँ को श्रद्धाँजलि....
7.)"वटवृक्ष" पर अखिलेश यादव जी कहते है
8.)"आदत..मुस्कुराने की" से संजय भास्कर जी की
9.)मुकेश कुमार तिवारी जी की "कवितायन" पर
10.)कैलाश सी शर्मा जी की "Kashish - My Poetry" से
11.)डा.राजेंद्र तेला"निरंतर" जी की "निरंतर की कलम से...." 
12.)मेरी "काव्य कल्पना" पर 
13.)"उच्चारण" पर डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी कहते है
14.)"साहित्य प्रेमी संघ" पर मदन मोहन बहेटी जी को
15.)विभोर गुप्ता जी की
16.)लक्ष्मी नारायण लहरे जी की कविता

अब कुछ लेखों से सजी बगियां....
*गद्य-रस*
17.)सुशील बाकलीवाल जी की "जिंदगी के रंग" पर
18.)"स्वतंत्र विचार" पर होगी
19.)
डॉ॰ मोनिका शर्मा जी की "परवाज....शब्दों के पंख" पर

20.)स्वराज्य करुण जी की "दिल की बात" 

21.)

आरती जी कहती है "ऐसी ही..हूँ मै..."

जैसी
22.)
"मिसफिटःसीधीबात" पर जानिए 

23.)परशुराम राय जी का आलेख "मनोज" पर

24.)डॉ. शरद सिंह "शरदाक्षरा..." पर करती है 
25.)
अजय कुमार झा जी के "कुछ भी..कभी भी" पर


26.)साधना वैध जी की "सुधिनामा" पर

राज भाटिय़ा जी के "पराया देश" पर

28.)डा दिव्या श्रीवास्तव जी की "ZEAL" पर

29.)मेरी "गद्य सर्जना" पर 

30.)

"आवाज" पर

अब थोड़ा हँसी मजाक....

*हास्य-रस*
31.)
"हास्य फुहार" पर हुई
32.)"काजल कुमार के कार्टून" पर देखिए
अब कुछ खाना खजाना से....

*स्वाद-रस*
33.)निवेदीता जी के "जायका" से

अब बच्चों से मुलाकात...
*बाल-रस*
34.)"पाखी की दुनिया" पर
35.)
"बाल सजग" पर

अब तकनीकि जानकारी...
*तकनीक-रस*
36.)
मयंक भारद्वाज जी के "Computer Duniya" पर

37.)

"Hindi Tech - तकनीक हिंदी में" पर

अब कुछ अध्यात्म की बात....


*अध्यात्म-रस*
38.)
"ॐ शिव माँ" पर राज शिवम जी लेकर आये है

39.)
राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ जी की "सत्य की खोज" पर 

और अंत में........
40.)"परिकल्पना" पर 
(उत्तर छायावाद के प्रवर्तक कवि आचार्य जानकी बल्लभ शास्त्री जी को हमारी श्रद्धाँजलि....)



चलिए हो गयी पूरी,आज की चर्चा....आपके विचारों के लिए प्रतीक्षारत रहूँगा,साथ ही "स्पेशल काव्यमयी चर्चा" के लिए अपने पोस्ट भेजना मत भूलिए....।



फिर मिलते है अगले शनिवार को.....धन्यवाद।
-----सत्यम शिवम-----

36 comments:

  1. wah ! vihangam charcha hai aajki. aabhar.

    ReplyDelete
  2. अच्छी सम्साम्य्क चर्चा |बधाई
    आशा

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया चर्चा!
    आचार्य जनकी बल्लभ शास्त्री को श्रद्धांजलि!
    --
    मेरे विचार से श्रद्धांजलि की पोस्ट चर्चा के अन्त में लेते तो ठीक रहता!

    ReplyDelete
  4. नमस्कार सत्यम शिवम् जी .,
    बहुत अच्छी चर्चा है आज की |बहु आयामी एवं समसामयिक|काव्यमयी चर्चा में आज मुझे जगह देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार ...!!बहुत सारे लिनक्स हैं कोशिश करूंगी सभी को पढ़ सकूँ ...!
    आपके स्नेह एवं उत्साहवर्धन के लिए पुनः ह्रदय से आभार ....!!!!

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छी और सार्थक चर्चा ...अच्छे लिंक्स मिले ..मेरे ब्लॉग की पोस्ट को शामिल करने के लिए आभार
    आईपीएल के मैचो का पूरा मजा ले अपने पीसी पर

    ReplyDelete
  6. विस्तृत चर्चा ...

    ReplyDelete
  7. बहुत शानदार चर्चा प्रतीत होती है आज की ! मेरे आलेख को इसमें सम्मिलित करने के लिये आपका आभार ! उसे कविता की श्रेणी में शायद आप भूल से रख गये है ! यदि संभव हो तो उसका स्थान बदल कर उसे गद्य की श्रेणी में रख दें ! इतनी विविध आयामी चर्चा के लिये आपको बहुत बहुत बधाई एवं धन्यवाद !

    ReplyDelete
  8. बड़ी ही सुन्दर और सार्थक चर्चा।

    ReplyDelete
  9. शानदार चर्चा

    ReplyDelete
  10. नमस्कार शास्त्री जी...मैने आपके कहे अनुसार वो श्रद्धाँजलि वाली पोस्ट लास्ट में रख दी है..मेरा मार्गदर्शन करने हेतु..धन्यवाद।

    ReplyDelete
  11. नमस्कार साधना जी...मैने आपकी पोस्ट गद्य में कर दी है.....आपका आभार।

    ReplyDelete
  12. सुन्दर शानदार चर्चा और सार्थक चर्चा।

    ReplyDelete
  13. बहुत ही विस्तार से चर्चा की आपने सत्यम भाई । सुंदर और समग्र । एक पाठक को भरपूर खुराक मिल गई है । मेरे लिए तो तीन चार घंटे की खुराक है ।शुक्रिया मित्र

    ReplyDelete
  14. सुंदर चर्चा ...मुझे शामिल करने का आभार ....

    ReplyDelete
  15. हमेशा की तरह सटीक और सार्थक चर्चा।
    आचार्य जी को हमारी भी विनम्र श्रद्धांजलि।

    ReplyDelete
  16. अच्छी विस्तृत और सार्थक चर्चा .जानकी बल्लभ शास्त्री जी को विनम्र श्रद्धांजली ..

    ReplyDelete
  17. इंजी.सत्यम शिवम जी,
    आज के चर्चा मंच में भी आपने हमेशा की तरह बखूबी विभिन्न आयामों की बहुत ही रुचिकर पठन सामग्री प्रस्तुत की है।

    बहुत उत्कृष्ट चयन है आपका। पूरी चर्चा बेहद रोचक और ज्ञानवर्धक पठन सामग्री से भरपूर है।

    मेरे लेख को भी इस चर्चा में शामिल करने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार!

    आचार्य जानकी बल्लभ शास्त्री जी को मेरी भावभीनी विनम्र श्रद्धांजलि!

    ReplyDelete
  18. हर रंग की उत्कृष्ट प्रस्तुति से परिपूर्ण इस सुंदर चर्चा में मेरे ब्लाग जिन्दगी के रंग को भी स्थान देने हेतु आपका आभार...

    ReplyDelete
  19. खूब सारे लिंक्स के साथ एक विस्तृत चर्चा...बहुत सुन्दर चर्चा... और एक बात खास ..हम चर्चामंच में आ कर ब्लोगर्स भाई बहनों को उनकी तस्वीर के साथ जानने लगते हैं... सादर
    मेरी पोस्ट को यहाँ पर जगह देने के लिए आभार ...

    ReplyDelete
  20. सभी रंगों से सजी बहुत सुन्दर चर्चा..सुन्दर लिंक्स. मेरी रचना को चर्चा में शामिल करने के लिये धन्यवाद..

    ReplyDelete
  21. बधाई हो ..अन्ना के साथ हम जीत गए .
    शिवम् जी,
    बहुत अच्छी चर्चा है आज की.. बहुत सारे लिनक्स हैं.मुझे जगह देने के लिए ह्रदय से
    आभार..आपको चर्चा के लिये बहुत बहुत बधाई एवं धन्यवाद .जानकी जी के लिए बहुत दुःख है ..उनकी आत्मा को शांति मिले .

    ReplyDelete
  22. आदरणीय सत्यम शिवम् जी सप्रेम साहित्याभिवादन ....
    सबसे पहले मेरी बधाई स्वीकार करे
    मुझे शामिल करने के लिए बहुत -बहुत धन्यवाद ....
    चर्चा मंच एक बेहतरीन प्रयास है जो साहित्यकारों की अन्दर में छुपी साहित्य सृजन को नई दिशा प्रदान कर रही है आत्म विश्वास जगा रही है
    जिसे कुछ शब्दों ,वाक्यों में नहीं कहा जा सकता !आज का चर्चा ,सकारात्मक शनिवार के नाम से जाना जाएगा
    सत्यम शिवम् -सुन्दरम ...
    सादर
    लक्ष्मी नारायण लहरे

    --

    ReplyDelete
  23. behad sarthak charcha...aaj is charcha ke maadhyam se kafi kuch naye rachnakaaron ko padhne ka saubhagya mila..bahut bahut abhar..

    ReplyDelete
  24. प्रिय सत्यम जी,

    यमुना प्रसाद शास्त्री जी को विनम्र श्रृद्धाँजलि.....

    अभी पिछले दिनों में श्री मनोज कुमार जी अपने ब्लॉग के पाँच अंकों में यमुना प्रसाद शास्त्री जी से की हुई भेंट का बड़ा ही अच्छा वर्णन किया था, उनकी आज की दिनचर्या से लगाकर......गुजश्ता दिनों की यादों का सफ़र तक।

    चर्चामंच की चर्चा में मुझे स्थान देने के लिये शुक्रिया।

    सादर,

    मुकेश कुमार तिवारी

    ReplyDelete
  25. बढ़िया विस्तृत चर्चा.

    ReplyDelete
  26. charchaa manch par charchaa manch par tippniyon ke saath kavitaaon par bhee tippniyaan honee chaahiye.
    Dhanyawaad

    ReplyDelete
  27. sabse pehle aapki itni khubsurat charcha manch ke lie badhai...mujhe charcha manch pe shamil karne ke lie aabhar...mere dono post ko select karne ke lie dhanybad...mujhe to ykin hi nhi hota ki main is kabil bhi hu...bhut bahut bahut badhaiiii....

    ReplyDelete
  28. Er. सत्यम शिवम जी,
    बहुत अच्छी और सार्थक चर्चा....
    भिन्न भिन्न प्रकार के फूल आज की चर्चा मेँ सजाये हैँ आपने.

    सभी लिंक्स दिलचस्प हैं...सचमुच आपने बहुत मेहनत की है.... आपको हार्दिक धन्यवाद एवं शुभकामनाएं .

    ReplyDelete
  29. सुंदर सार्थक चर्चा।

    ReplyDelete
  30. bahut bahut aabhar satyam ji mere post ko yaha jagah dene ke liye......sare charche sarthak evam sunder rahe......network ki presani ki vajah se nahi aa payi der se aayi hun.....

    ReplyDelete
  31. आभार सत्यम जी

    ReplyDelete
  32. प्रिय सत्यम जी,
    बहुत अच्छी चर्चा है आज की |चर्चा में आज मुझे जगह देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार

    ReplyDelete
  33. सबसे पहले अनुपमा जी को बधाई.."स्पेशल काव्यमयी चर्चा" हेतु.......बहुत ही अच्छा लगा उनके ब्लाग पोस्टों की चर्चा कर के....।

    ReplyDelete
  34. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद..आप सब आये और मेरा उत्साहवर्धन किया....बहुत बहुत आभार।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

विदेशी आक्रमणकारी बड़े निष्ठुर बड़े बर्बर; चर्चामंच 2816

जिन्हें थी जिंदगी प्यारी, बदल पुरखे जिए रविकर-   रविकर     "कुछ कहना है"   (1) विदेशी आक्रमणकारी बड़े निष्ठुर बड़े बर्...