चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Friday, June 24, 2011

"जान जाओगे उस वक्त तुम भी जब इश्क तुम्हे हो जाएगा":-(शनिवासरीय चर्चा)....Er. सत्यम शिवम

*ॐ साई राम*
जानती हूँ किस्मत में अपनी है जुदाई,
जान जाओगे उस वक्त तुम भी ये गुजरे इक लम्हे का प्यार,
आजीवन इक लम्हे की याद बनकर,
कितना तड़पाता है,
-----सत्यम शिवम-----
"स्पेशल काव्यमयी चर्चा"
ब्लॉगः-"मेरे अरमान..मेरे सपने.."
ब्लॉगरः-दर्शन कौर धनोए जी
नमस्कार दोस्तों एक अंतराल के बाद आज मै सत्यम शिवम आपसबों के समक्ष लेकर आया हूँ फिर से मनोहारी लिंको से सजी "शनिवासरीय चर्चा" और किसी खाश के ब्लाग के दस पोस्टों की "स्पेशल काव्यमयी चर्चा"..... 

आज "स्पेशल काव्यमयी चर्चा" में प्रस्तुत है "दर्शन कौर धनोए जी के  ब्लाग "मेरे अरमान...मेरे सपने..." की काव्यमयी प्रस्तुति.....

"स्पेशल काव्यमयी चर्चा" के बारे में अधिक जानकारी हेतु इस लिंक पर जाये...
आप भी अपनी काव्यमयी प्रस्तुति आज ही मुझे भेज दे....
मेरा ईमेल है :-satyamshivam95@gmail.com

चर्चा शुरु करने से पहले "परिकल्पना ब्लागोत्सव‍ २०११" के धमाकेदार आगाज की झांकी लिजिए..... 
-:स्वागतम्:-
अब लिजीये मजा आज की चर्चा का....
सबसे पहले काव्य की धारा....
*काव्य-रस*
1.)धर्मेन्द्र कुमार सिंह ‘सज्जन’ के कल्पनालोक में आपका स्वागत है
से
2.)बबन पांडेय जी के "21वीं सदी का इंद्रधनुष" पर
3.)स्वराज्य करुण जी की "मेरे दिल की बात" पर
4.)मेरी "काव्य कल्पना" पर मै आज
5.)अनीता जी की "श्रद्धा सुमन" से हो रहा है
6.)"All India Bloggers' Association" पर देखिये दिलबाग विर्क जी की
7.)वंदना गुप्ता जी की "जिन्दगी...एक खामोश सफर" पर कुछ तो
8.)अना जी की "कविता" न जाने क्यों 
9.)निवेदिता जी की "झरोखा" पर
10.)गिरीश पंकज जी की ''सद्भावना दर्पण" पर
11.)"हमराही" पर ओम प्रकाश नदीम जी कहते है
12.)सुनील कुमार जी की "दिल की बातें" बनाती है
13.)डा शरद सिंह जी को 
14.)आशा जी की "अकांक्षा" 
15.)"साहित्य प्रेमी संघ" पर लक्ष्मी नारायण लहरे जी कर रहे हैं
16.)आरती झा जी की "चाहत" को
17.)"प्रियंका जैन" जी को 
18.)ईं.प्रदीप कुमार साहनी जी को याद है
19.)चिराग जी पुकारते है आ जाओ
मेरे महबूब
20.)"मुशायरा::: नॉन-स्टॉप" पर शालिनी कौशिक जी प्रस्तुत कर रही है
21.)संध्या शर्मा जी की "मै और मेरी कवितायें...." पर
अब लेखों का ब्योरा....
*गद्य-रस*
22.)"मनोज" पर आचार्य परशुराम राय जी का सुंदर आलेख
23.)मेरी "गद्य सर्जना" पर न जाने क्यूँ हुआ
24.)"ललित डाट काम" पर
हास्य की कुछ फुहार....
*हास्य-रस*
25.)"हास्यफुहार" पर सुने
26.)"काजल कुमार के कार्टून" पर
कुछ खाना और पकवान....
*स्वाद-रस*
27.)"खाना मसाला" पर उर्मी चक्रवर्ती जी बना रही हैं
28.)"स्वाद का सफर" पर पी लीजिये आज
नन्हे मुन्नों की गली....
*बाल-रस*
29.)"पंखुरी Times ...!" पर सुनें
30.)"सरस पायस" पर
अब कुछ तकनीक की बात....
*तकनीक-रस*
31.)"Computer Duniya" पर
अंत में अध्यात्म की शरण में.....
*अध्यात्म-रस*
32.)सदा जी के "सद़विचार" पर
33.)"ॐ शिव माँ" पर राज शिवम जी की ज्ञानवर्धक प्रस्तुति
34.)"आज का राशि फल" पर संगीता पूरी जी से जानिये

हो गयी पूरी आज की चर्चा,आप आये और अपने विचारों से अवगत करायें...साथ ही "स्पेशल काव्यमयी चर्चा" के लिए अपने पोस्ट भेजते रहें...हो ना हो कल आपकी भी बारी आयेगी.....।

फिर मिलेंगे इसी जगह,इसी समय अगले शनिवार को.......धन्यवाद।
----सत्यम शिवम----

42 comments:

  1. er satyam shivam ji aapne bahut acche blogo ka chunav kiya hai dhanyawaad "samrat bundelkhand"

    ReplyDelete
  2. सबसे पहले मेरी कविता को चर्चा में शामिल करने के लिए धन्यवाद सत्यम जी ।
    बहुत अच्छी रही आज की चर्चा । कुछेक लिंक्स पर तो जाकर भी देखा, बहुत उम्दा थे । बाकि के लिंक्स पर भी कल जाकर देखना है । विश्वास है सभी अच्छे से अच्छे होंगे ।
    आभार ।

    ReplyDelete
  3. सुन्दर और सार्थक चर्चा।

    ReplyDelete
  4. बढ़िया चर्चा!
    शाम तक पढ़ने के लिए लिंक मिल गये!

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छी रही आज की चर्चा |बधाई |
    मेरी रचना आज शामिल करने के लिए आभार |अभी तक ६ लिंक्स देख ली हैं बाकी दोपहर के लिए
    आशा

    ReplyDelete
  6. बढिया लिंक लगाए हैं मित्र।

    साधुवाद

    ReplyDelete
  7. आज और भी जानकारी दी तुमने,इतने सारे लिंक पढने को मिला,मेरा लिंक देने के लिये आशिर्वाद।

    ReplyDelete
  8. links ke chayan me aapkee chayan shamta lajawab hai.darshan kaur ji ke blog ki special kavyamayee charcha charcha manch kee shobha ko aur bhi badha rahi hai.
    hamesha ki tarh aapne apne nam ke anuroop hi charcha prastut ki hai.meri prastuti ko mushayere se lene ke liye aabhar.

    ReplyDelete
  9. आपका तो जबाब ही नही है सत्यम ...बहुत सुन्दरता से समेटा है आज का चर्चा मंच ...
    मुझे इतनी बड़ी उपलब्धी दे कर आपने मुझे जो सम्मान दिया है ,उसके काबिल खुद को बना सकू ...यही मेरी कामना है ...धन्वाद !
    एक बार फिर धन्यवाद सत्यम !!!

    ReplyDelete
  10. अच्छी चर्चा ,आभार

    ReplyDelete
  11. सार्थक चर्चा -सुन्दर ढंग से प्रस्तुत की है आपने .आभार- शुक्रिया|

    ReplyDelete
  12. बहुत ही अच्‍छी चर्चा और सभी लिंक्‍स अच्‍छे दिये हैं आपने ।

    ReplyDelete
  13. मेरी कविता को चर्चा मंच में शामिल करने के लिए हार्दिक आभार ..
    बहुत सुन्दर और प्रसंसनीय प्रस्तुति बहुत अच्छा चर्चा हार्दिक बधाई ..
    सादर
    लक्ष्मी नारायण लहरे

    ReplyDelete
  14. hamesha ki tarah aapka charcha manch or aap ki mehant ka asar dikha...lajabab prastuti...hame shamil karne ke lie dhanybad.....

    ReplyDelete
  15. आदरणीय सत्यम जी सप्रेम अभिवादन ...
    बहुत सुन्दर मार्मिक प्रस्तुति ..हार्दिक बधाई

    ReplyDelete
  16. er satyam shivam ji thanks yaar
    its really nice to see my poem between some good poets

    its all because of you

    ReplyDelete
  17. आज का चर्चा मंच प्रसंसनीय और महत्वपूर्ण के साथ -साथ साहित्यकारों की अमिट कविताओं की प्रस्तुति है जो काबिले तारीफ है ...

    ReplyDelete
  18. बढ़िया चर्चा.

    ReplyDelete
  19. कार्टून को भी जगह देने के लिए आभार

    ReplyDelete
  20. मेरा खानामसाला ब्लॉग चर्चा में शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!
    बहुत बढ़िया और सार्थक चर्चा !

    ReplyDelete
  21. सत्यम जी, आपने इतनी सुंदर व विस्तृत चर्चा का आयोजन किया है कि एक दिन में सबको पढ़ना संभव नहीं... लेकिन हर रंग मौजूद है यहाँ...आभार !

    ReplyDelete
  22. बहुत बढ़िया और विस्तृत चर्चा ...

    ReplyDelete
  23. सुन्दर एवं सार्थक चर्चा ! धन्यवाद !

    ReplyDelete
  24. बहुत ही सुन्दर और सार्थक लिंक्स से सजी चर्चा…………आभार्।

    ReplyDelete
  25. बहुरंगी चर्चा
    आभार

    ReplyDelete
  26. सतरंगी चर्चा..सुन्दर लिंक्स...

    ReplyDelete
  27. स्पेशल काव्यमयी चर्चा से ले कर सभी लिंक्स आकर्षक, रोचक एवं बहुरंगी सामग्री से युक्त हैं। इतनी लाजवाब और बेहतरीन पोस्टों की लिंक्स का संचयन आपने एक स्थान पर उपलब्ध कराया...आपको अनेक धन्यवाद एवं कोटिशः मंगलकामनाएं!


    मेरी कविता को भी इस चर्चा में शामिल कर आपने मेरी कविता को जो आत्मीयता प्रदान की है, उसके लिए मैं आपकी आभारी हूं।

    ReplyDelete
  28. बहुत बढ़िया सार्थक चर्चा ………आभार्।

    ReplyDelete
  29. behatarin links.....badhiya

    ReplyDelete
  30. आज नेट की खलनायकी की वजह से कुछ भी पढ़ नहीं पायी हूँ ...अब पढ़्ना शुरू कर रही हूँ .... पर सबसे पहले धन्यवाद ’झरोखा’ को भी स्थान देने के लिये ...... शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  31. शिवम जी, चर्चामंच को बड़े ही आकर्षक ढंग से आपने सजाया है। आपने एक ही स्थान पर अनेक लिंक देकर अन्य ब्लॉगों पर पहुँचने काफी सुविधा प्रदान कर दी है। अपनी चर्चा में शिवस्वरोदय-48 को सम्मिलित करने के लिए आपका हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  32. शिवम जी, चर्चामंच को बड़े ही आकर्षक ढंग से आपने सजाया है। आपने एक ही स्थान पर अनेक लिंक देकर अन्य ब्लॉगों पर पहुँचने काफी सुविधा प्रदान कर दी है। अपनी चर्चा में शिवस्वरोदय-48 को सम्मिलित करने के लिए आपका हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  33. आज सुबह से कई सुधि पाठक मित्रों के फोन आये कि शास्त्री जी चर्चा मंच के हैडिंग में इश्क का "ईश्क" लिखा हुआ है!
    --
    मैं यह विनम्रता से निवेदन करना चाहता हूँ कि दर्शन कौर धनोए जी ने अपनी पोस्ट में इश्क को ईश्क लिखा था इसीलिए सत्यम शिवम जी ने भी वही शीर्षक डाल दिया था!
    --
    खैर!
    अब जैसे ही समय मिला मैंने वर्तनी की त्रुटियाँ ठीक कर दी हैं!

    ReplyDelete
  34. aabhar...sarthak charcha k liye aapkashram pranaam karane layak hai. sabko jodanaa badi baat hai.

    ReplyDelete
  35. मेरी कविता को चर्चा में शामिल करने के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
  36. @शास्त्री जी.....मुझे लगा था कि यहाँ इश्क होना चाहिये..पर मैने सोचा कभी कभी कोई विशेष अर्थ के शब्द अपभ्रंस हो जाते है...दिन भर व्यस्तता थी..आभार जो आपने इस त्रुटी को सुधार दिया।

    ReplyDelete
  37. दर्शन कौर धनोए जी को बहुत बहुत बधाई......"स्पेशल काव्यमयी चर्चा" हेतु...बहुत आनंद आया उनके ब्लाग की चर्चा कर के।

    ReplyDelete
  38. आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद.........।

    ReplyDelete
  39. सबसे पहले तो देर से यहाँ आने के लिए क्षमा चाहती हूँ, कुछ कारणवश मैं नहीं आ सकी... मेरी कविता को चर्चा में शामिल करने के लिए धन्यवाद सत्यम जी ........
    चर्चा बहुत अच्छी थी... सारे लिंक्स बहुत अच्छे थे ........
    आपका बहुत-बहुत आभार.......

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin