चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Monday, March 05, 2012

और ये पूछते हो के क्या देखते हो (सोमवारीय चर्चामंच-809)

सभी मित्रों को चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ का नमस्कार! होली के रंगीन मौसम में प्रस्तुत है रंगारंग चर्चामंच का-
 लिंक नं. 1- 
कविता हर पल
_______________
2-
मेरा फोटो
_______________
3-
_______________
4-
कुछ कहना है!! पूरी करें अधूरी कुण्डली
_______________
5-
देखो लोगन! यह है मेरा फ़रिस्ता
मेरा फोटो
_______________
6-
प्रांजल-प्राची! "रंग-बिरंगी आई होली"
_______________
7-

_______________
8-
भैया अब डिस्को रंग की भी फुहार
holi animated scraps, graphics
_______________
9-
अनामिका की सदायें ...क्या यही प्यार है???
My Photo
_______________
10-
उच्चारण
_______________
11-
प्रेमचन्द गाँधी की कविता ‘नास्तिकों की भाषा’ की समालोचना प्रस्तुत कर रहीं हैं डॉ. अलका सिंह ब्लॉग हसरतें पर
My Photo
_______________
12-
_______________
13-
_______________
14-
DSCN1538
_______________
15-
फागुनी दोहे शाश्वत शिल्प पर
_______________
16-
मावली-मारवाड मीटर गेज ट्रेन यात्रा प्रस्तुतकर्ता नीरज जाट
_______________
17-
_______________
18-
आओ मिलकर होली खेलें : मिश्री की डली ज़िन्दगी हो चली
Monika Jain
_______________
19-
एक प्रेम कहानी पल्लवी सक्सेना की
My Photo
_______________
20-
_______________
21-
_______________
22-
_______________
23-
________________
24-
________________
और अन्त में
30-
ग़ाफ़िल की अमानत
________________
आज के लिए इतना ही, होली की आप सब को बहुत-बहुत शुभकामनाएं, फिर मिलने तक नमस्कार!

22 comments:

  1. एक सराहनीय और श्रमसाध्य कोशिश आपकी महत्वपूर्ण चिट्ठों को संकलित करने में - सुन्दर चर्चा
    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    http://www.manoramsuman.blogspot.com
    http://meraayeena.blogspot.com/
    http://maithilbhooshan.blogspot.com/

    ReplyDelete
  2. आज के चर्चामंच में होली का पूर्वाभास झलक रहा है।

    ReplyDelete
  3. सभी को होली की शुभकामनायें..
    कलमदान को स्थान देने के लिए आभार ..
    kalamdaan.blogspot.in

    ReplyDelete
  4. भरा मस्तियों से रहा,
    गाफिल का अंदाज ।

    इन्द्रधनुष के रंग सी,
    आये चर्चा साज ।।

    ReplyDelete
  5. प्रिय मिश्र जी ,सदैव की भांति विनम्रता लिए मिथकों को तोड़ती आपकी सहजता, काव्य-काफिले को सफलतम आयाम प्रदान करती बढ़ चली है अपने मुकाम की ओर....शुभकामनाये आपके सद्प्रयासों को , प्रवीणता को / होली की बहुत -२ बधाईयाँ जी .....मित्रों ,परिजनों ,गुरुजनों को .

    ReplyDelete
  6. बहुत ही बढि़या लिंक्‍स का चयन किया है आपने ... आभार ।

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर प्रस्तुति और बेहतरीन लिंक्स से सजी है आज की चर्चा...

    शुक्रिया सर.
    सादर.

    ReplyDelete
  8. बहुत ही उम्दा चर्चा

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर लिंकों के साथ ...चर्चा मंच !
    मेरी रचना को सम्मान देने हेतु आभार !

    ReplyDelete
  10. bahut achchhe links sanjoye hain aapne......HOLI PARV KI HARDIK SHUBHKAMNAYEN

    ReplyDelete
  11. सुन्दर चर्चा ………होली की शुभकामनायें.॥

    ReplyDelete
  12. बहुत ही खुबसूरत लिनक्स दिए है आपने....मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |

    ReplyDelete
  13. gafil ji dhanywad meri rachna ko charcha manch par samman dene k liye.

    apki mehnat bahut dilchasp rango se bhari hai.

    ReplyDelete
  14. बढ़िया लिंक्स
    सुन्दर चर्चा मंच
    *****होली की शुभकामनाए ****

    ReplyDelete
  15. bahut sarthak charcha prastut ki hai aapne .SARTHAK PRASTUTI HETU BADHAI . ye hai mission london olympic

    ReplyDelete
  16. होली के अनुरूप आपने चर्चा खूब सजाई है ,हमको राह दिखाई है .सुन्दरता समझाई है .....

    ReplyDelete
  17. सराहनीय सुंदर लिंक्स प्रस्तुति,....
    गाफिल जी,मंच में मेरे रचना को स्थान देने के लिए बहुत२ आभार,.

    NEW POST...फिर से आई होली...
    NEW POST फुहार...डिस्को रंग...

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin