चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, May 17, 2012

नई हलचल ( चर्चा - 882 )

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है 
ब्लॉग जगत में अब नई हलचल है । परिकल्पना सम्मान के लिए वोट डल रहे हैं कुछ लोग इसे ठीक नहीं मानते । बस इसी को लेकर माहौल  गर्म हैं ।आप भी इस बहस शामिल हो रहे हैं या नहीं । जल्दी सोचिएगा ।
चलते हैं चर्चा की ओर 
My Photo
शास्त्री जे सी फिलिप Shastri JC Philip hindi blog
kunwarji's
ज़ख्म…जो फूलों ने दिये
मेरा फोटो
 
My Photo
My Photo
Albela Khatri
 
अंत में 
आज के लिए बस इतना ही 
धन्यवाद 

23 comments:

  1. ढेर सारे पठनीय लिंक देने के लिए आभार!

    ReplyDelete
  2. अंदाज अपना अपना ।

    दिलबाग जी दा जवाब नहीं ।

    बढिया चर्चा ।

    ReplyDelete
  3. खूबसूरत सजा है
    चर्चामंच आज का
    वकई जवाब नहीं
    दिलबाग का ।

    ReplyDelete
  4. अत्यन्त पठनीय सूत्र..

    ReplyDelete
  5. सभी लिंक्स बेहद उम्दा है !
    आभार !

    ReplyDelete
  6. सभी बेहतरीन सूत्र, बहुत अच्छा चर्चा मंच सजाया है दिलबाग जी ने, मेरी रचना को शामिल करने के लिए आभार|

    ReplyDelete
  7. सभी सूत्र बहुत अच्छे पठनीय हैं...... आभार

    ReplyDelete
  8. अच्छी चर्चा
    मेरी बात भी लोगों तक पहुंचाने के लिए शुक्रिया

    ReplyDelete
  9. बहुत बढ़िया चर्चा दिलबाग जी....
    खुली खुली एवं स्पष्ट प्रस्तुति....

    शुक्रिया
    सादर.

    ReplyDelete
  10. बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स संयोजित किये हैं आपने ... आभार

    ReplyDelete
  11. बहुत सुन्दर लिंक संयोजन ……सार्थक चर्चा

    ReplyDelete
  12. अच्छी लिंक देने एवं मेरी रचना शामिल करने केलिए बहुत२ आभार ,,,,,,,दिलबाग जी,.....

    MY RECENT POSTफुहार....: बदनसीबी,.....

    ReplyDelete
  13. बढिया चर्चा दिलबाग जी
    मेरा ब्लॉग शामिल करने के लिए शुक्रिया.

    ReplyDelete
  14. बढ़िया चर्चा... सुन्दर लिंक्स..
    सादर आभार.

    ReplyDelete
  15. सुन्दर कड़ियों से सजी बढ़िया चर्चा |

    ReplyDelete
  16. बढिया चर्चा , सुन्दर लिंक्स ।
    आभार !

    ReplyDelete
  17. बढिया चर्चा... मेरी रचना शामिल करने केलिए आभार ,,,,,,,दिलबाग जी,.....

    ReplyDelete
  18. बढ़िया चर्चा....मेरी रचना शामिल करने केलिए आभार...दिलबाग जी

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin