Followers

Tuesday, May 29, 2012

चर्चा-894 ह्रदय तारों का स्पंदन

मंगलवार आया लो मैं भी गई नमस्कार मित्रों 
        ये मेरे गार्डन के फूल आप सब के लिए 
       अब चलते हैं आप सब के ब्लोग्स पर घूमने 
!! सफेदपोश लुटेरों को सादर-'श्रृद्धांजली'!! -‎********************************************** होना था जिनको हवालात में ! सत्ता है आज उनके ही हाथ में !! लुटेरे-बेईमान राज़ कर रहे, देश के शुभ-चिन्तक भू.
************************************************************
************************************************************
सूत्र ( ) Albelakhatri.com

ले गये स्टम्प उखाड़, देखते रह गये धोनी ................ - किंग खान का हो गया, स्वप्न आज साकार आईपीएल का चैम्पियन बन गया केकेआर बन गया केकेआर, डोन के ग्यारह डोनी ले गये स्टम्प उखाड़, देखते रह गये धोनी ...
**********************************************************************************************************


चले दिल्ली : शेख चिल्ली -*इस समय गर्मी अपने चरम पर है। सही बात है गर्मी अपने चरम पर है तभी तो मौसम खूब गरम है। ऐसे में कहीं जाना मानो वही सब कुछ जिसे शायरी में कहा गया है 'आग का दर...
********************************************************************************************

हवा महक ले ... -  हवा महक ले ... हवा जा उनके जिस्म की महक ले , उसे छूकर दिल के पंछी की चहक ले ! कानों में जो शहद सी घोलती थी कभी, उनके हाथों की चूडियों की खनक ले ! ...
********************************************************************************************
सूत्र (5 ) SADA

जीने का मज़ा दोगुना हो जाएगा ... !!! - मैं अभ्यस् नहीं हूँ तुम्हारी तरह हर छोटी से छोटी चीज़ को अपनी आंखों में उतारने की मैने तो नज़रअंदाज़ करना सीखा है हर बात को तुमने ...
********************************************************************************************

मुझे जाँ कहो मेरी जाँ : क्या था गीता दत्त की उदासी का सबब ? - कनु दा से जुड़ी इस श्रृंखला की आख़िरी कड़ी में पेश है
 वो गीत जिसने उनके संगीत से मेरी पहली पहचान करवाई। अनुभव में यूँ तो गीता दत्त जी के तीनों नग्में लाजवाब ...
********************************************************************************************
सूत्र (7 ) नुक्कड़

दक्षिणी दिल्ली स्थित संत नगर पेयजल संघर्ष समिति की खबर आज के अखबारों में- आज सोमवार दिनांक 28 मई 2012 विभिन् समाचार पत्रों यथा दैनिक नवभारत टाइम्, दैनिक हरिभूमि, दैनिक जागरण, दैनिक जनसत्ता, दैनिक राष्ट्रीय सहारा में दक्षिण...
********************************************************************************************
सूत्र (8 ) भारत एकता
''लो अब तुम्हारी राह में दीवार हम नहीं' - वन्दे मातरम दोस्तों, माना तुम्हारी वाह के, हकदार हम नही, पल में भुलाये जाएँ, वो फनकार हम नही.......... क्यों सूलियों पे हमको चढाते हो बारहा, सबको खबर है...
***********************************************************************************************************************
सफलता उन्हें ही मिलती है जो सफलता के लिए दृढ़ संकल्प होकर प्रयास करते हैं - सफलता में मेहनत का कोई विकल्प नहीं करिअर निर्माण में लाखों छात्र अपने-अपने ढंग से सफलता के लिए जद्दोजहद करते नज़र आते हैं। परन्तु अधिकांश छात्रों को यह शि...
************************************************************************************************************************
सूत्र (10) असुविधा

प्रांजल धर की कविताएँ - * * ** * * * * मई 1982 में उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले के ज्ञानीपुर गाँव में जन्मे प्रांजल की कविताएँ, कहानियाँ, समीक्षाएँ, यात्रा वृत्तान्त और आलेख दे...


********************************************************************************************
सूत्र (11) मनोज

बांस का चीरा - *बांस का चीरा*** *श्यामनारायण मिश्र*** *बांस पर,*** *औरत झुकी है*** *सांस साधे सांस पर।*** *बांस की*** *तासीर, गांठे, कोशिकाएं*** *तौलती है आंख से,*** *...
************************************************************************************************************************
जीवन-शैली में बदलाव से संभव है रक्तचाप नियंत्रण - उच्च रक्तचाप एक असामान्य शारीरिक स्थिति है। इस समस्या के लक्षण स्पष्ट नहीं होते हैं इसलिए इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है। उच्च रक्तचाप होने पर सिरदर्द, ...
********************************************************************************************
सूत्र (12)
जज्बात
भावनाओं में बहोगे तो पागलों सा लिखोगे.... - जब भी मुझे ठेस लगी, मय ने मुझे गले लगाया| आज इक दोस्त बोलता है इसे छोड मेरे साथ चलो, नए दोस्तो के लिए पुराने रिश्तो को तोड़ना कितना अच्छा है??????१५ जून ...
********************************************************************************************
सूत्र (13)
Knowledge Is Power

मां बनने के बाद तो ऐसा होता है............................. -ऐश्वर्या राय बच्चन के मोटापे को लेकर भारत सहित इंटरनेशनल मीडिया में काफी हाय-तौबा मची।बच्चन बहू आजकल कांस फिल्म फेस्टिवल में भाग लेने आजकल फ्रांस में हैं...
********************************************************************************************
कुरुक्षेत्र .... सप्तम सर्ग ...भाग - 2 / रामधारी सिंह दिनकर - प्रस्तुत भाग में जब युधिष्ठिर युद्ध के पश्चात विलाप करते हैं और उनके मन में वैराग्य का भाव जन्म लेता है तब शर शैया पर लेते भीष्म उन्हें नीति की बात बत...
********************************************************************************************
सूत्र (15) अमृतरस

तुमसे आखिरी विनती - डॉ नूतन गैरोला - देखो …..अभी मुझमे साँसों का आना जाना चल रहा है……जिंदगी के जैसे अभी कुछ लम्हें बचे हुवे है ….. आस का पंछी अभी तक पिंजरे में ठहरा है …....
************************************************************************************************************************


सूत्र (16) साहित्य प्रेमी संघ*ग़ज़लगंगा.dg: कौन किसकी पुकार पर आया -कौन किसकी पुकार पर आया. जो भी आया करार पर आया. तेज़ रफ़्तार कार पर आया. कौन गर्दो-गुबार पर आया? सबकी गर्दन को काटने वाला आज चाकू की धार पर आया. जो छपा था...
************************************************************************************************************************

डायलाग तो डायलाग ही था……कमाल तो होना ही था- डायलाग कार्यक्रम की एक झलक फ़ेसबुक पर मिले दोस्त कुछ ब्लोगजगत के तो कुछ नये मगर लगा ही नही पहली बार मिले हों ………एक मित्रवत माहौल यूँ लगा अपने ही घर मे ...
************************************************************************************************************************ 
सूत्र (18)

सोनोग्राफी मशीन पर लगे्गें एक्टिव ट्रेकर बॉक्स:पी. नरहरि कलेक्टर ग्वालियर -*पथ में पथिक विश्राम कैसा ..!!* * कलेक्टर ग्वालियर श्री पी. नरहरि के संकल्प लेते हैं * *तो उसे पूरा किये बिना रुकना मानो उनके शब्दकोश **में नहीं.. बेटी ...
************************************************************************************************************************
"एहसानमंद" - *एक बूढा़ और उसकी बुढि़या के एहसानो के तले मैंने जब अपने को गले गले तक दबा हुआ पाया कुछ तो करना ही चाहिये उनके लिये मेरे मन में विचार एक आया हालत उनकी देख ...
************************************************************************************************************************


 रजनीश तिवारी at रजनीश का ब्लॉग - 
*( अपनी एक पुरानी कविता पुनः पोस्ट कर रहा हूँ ....)* एक चेहरा जो सिर्फ एक चेहरा है मेरे लिए दिख जाता है अक्सर जब भी पहुंचता हूँ चौराहे पर, एक चेहरा हरदम सामने रहता है चाहे कहीं से भी गुज़रूँ ...
************************************************************************************************************

 रश्मि प्रभा... at वटवृक्ष - 44 minutes ago
सोचो , कुछ कदम बढ़ाओ देखो कितनी हरियाली है कितने लोग पास हैं .... *रश्मि प्रभा * *
************************************************************************************************************* सूत्र (22) "फल जीवन देने वाले हैं" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

* * *घर की वाटिकाओं में हमको**, **सब्जी-शाक उगाना है।* *शोषण और कुपोषण से**, **खुद बचना और बचाना है।।* * * * * *गैया-भैंसों का हमको लालन-पालन करना
होगा**, * *अण्डे-मांस छोड़कर**, **हमको दूध-दही अपनाना है। *...
*************************************************************************************************************सूत्र (23) साधना क्यों करें
https://blogger.googleusercontent.com/tracker/8731113679380035272-5069926135154010744?l=amrita-anita.blogspot.com
posted by Anita at डायरी के पन्नों से - 1 hour ago
हमारी संस्कृति में धर्म मात्र पढ़ने-पढ़ाने के लिये या विचारों तक ही सीमित रखने के लिए नहीं है. उसे जीवन में उतारने के हजारों ढंग हैं. धार्मिक होना एक संकीर्ण अर्थ में लोग जब लेते हैं तभी विवाद होता है. धा...
************************************************************************************************************* सूत्र (24) गुलमुहर के पेड़ नीचे

 नीरज गोस्वामी at नीरज -
देश में गर्मी अपने पूरे रंग में है लेकिन यहाँ खोपोली में बादलों ने हलके से आहट देनी शुरू कर दी है. गर्मियों का अपना आनंद होता है इसी विषय पर *पंकज जी *के ब्लॉग पर पिछले साल एक तरही मुशायरा हुआ जिसमें दिया ...
************************************************************************************************************* सूत्र (25) पड़ी जलानी आग, गणेशा ताप रहा है

 रविकर फैजाबादी at दिनेश की टिप्पणी - आपका लिंक - गणेश जी को ठंडी लगी ! संतोष त्रिवेदी at मैं चित्रकार हूँ ! हम जो हैं ...! मैं अभिसार त्रिवेदी- फिलहाल तीसरी कक्षा में पढ़ रहा हूँ। बच्चा हूँ तो शरारती भी हूँ, साथ में मुझे चित्रकारी का बड़ा शौक है। को... 
*************************************************************************************************************
posted by Er. सत्यम शिवम at *साहित्य प्रेमी संघ* - 3 days ago
सर्वप्रथम मै सत्यम शिवम आप सभी साहित्य प्रेमियों का तहे दिल से अभिनंदन करता हूँ.....आखिरकार वो घड़ी आ ही गयी जिसका हमसबों को कब से इंतजार था।आज यहाँ इस मंच पर हमसब मिल कर "साहित्य प्रेमी संघ" के त्तत्वावधा...
********************************************************************************************************************************************************************************
सूत्र (27)आए तुम याद मुझे --जिंदगी के ३६ साल बाद ---
posted by डॉ टी एस दराल at अंतर्मंथन - 1 hour ago
कहते हैं घर मनुष्यों से बनता है , चार दीवारों से नहीं । लेकिन चार दीवारों की भी अहमियत होती है । क्योंकि जहाँ मनुष्य पैदा होता है , पला बड़ा होता है , उसके साथ पुरानी यादें हमेशा जुडी रहती हैं । नए बने स...
********************************************************************************************************************************************************************************

और अब थोडा  हंस लीजिये मेरे ब्लॉग पर भी घूम आइये |
 Rajesh Kumari at HINDI KAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR - 
*हाइकु (सर मुंडाते ही,हास्य )* *(1) * *सिर मुंडाया * *दुकान से निकले * *ओले बरसे * *(२)* *पहली बार * *वो छतरी में आई * *बारिश थमी * *(३)* *इम्तहान था * *लिखना शुरू किया * *कलम टूटी * *(४)* *भागते हुए * *प्...
इसी के साथ आप सब से विदा लेती हूँ अगले मंगल वार फिर मुलाकात होगी शुभ विदा |
आपका दिन मंगल मय हो 


15 comments:

  1. Sundar charcha ... aur pehli baar aapke dwara kee gayi charcha me shamil hun ...Aapka aabhaar

    ReplyDelete
  2. विविध विषयों पर लिंक्स..सुंदर चर्चा !आभार मुझे भी शामिल करने के लिये.

    ReplyDelete
  3. अच्छे लिंक्स हैं,
    रंग बहुत ज्यादा हो गया, जिसमें लिंक्स दब गए।

    ReplyDelete
  4. सुंदर चर्चा,,,!शामिल करने के लिये आभार

    RECENT POST ,,,,, काव्यान्जलि ,,,,, ऐ हवा महक ले आ,,,,,

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया लिंक्स..
    सुन्दर चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार

    ReplyDelete
  6. बहुत मेहनत की है। आभार लिंक को जगह देने के लिये।

    ReplyDelete
  7. लिंक को जगह देने के लिये आभार

    ReplyDelete
  8. बहुत शनदार चर्चा आभार....

    ReplyDelete
  9. बढ़िया चर्चा.

    ReplyDelete
  10. waah waah..........bahut khoob

    sabhi link umda aur saaj sajja ke kya kahne

    ReplyDelete
  11. आपके गार्डेन के गुलाब ऐसे ही खिलते रहें और अपनी सुगंध बिखेरते रहें, जैसे आप चर्चा मंच को सुवासित करते रहते हैं।

    ReplyDelete
  12. आप सब का तहे दिल से शुक्रिया

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"लाचार हुआ सारा समाज" (चर्चा अंक-2820)

मित्रों! रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...