चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, June 07, 2012

भाग लीजिए प्रतियोगता में( चर्चा - 903 )

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है
Catch My Post पर काव्य प्रतियोगता का आयोजन चल रहा है आप भी अपनी रचना के साथ हिस्सेदारी कर  सकते हैं , और अगर आपके पास फेसबुक  खाता है तो अन्य प्रतियोगियों की रचना को लाइक करके अपना कीमती वोट दे सकते हैं , मेरी रचना भी यहाँ दी गई है, जो आपके वोट का इन्तजार कर रही है
चलते हैं चर्चा की और
 
My Photo
जुबां निगाह जब बने तो बोलना छोड़ दो 

शेखर सुमन का नाबाद शतक 

मन की किताब के पन्ने पर महक रहा तुम्हारा नाम 

आँगन की तुलसी 
My Photo 
भीख दोगे तो बनोगे भिखारी

जीवन जीने की कहानी 

आकार - 2012
विजय कुमार  : VIJAY  KUMAR
दोस्ती और प्यार का रंग 

वोडाफोन का वो

लव, सेक्स, धोखा 

देश या दुकान 

तेरी यादों का गट्ठर 

ख्वाहिश छोड़ दूं 
My Photo
दोहरी न्याय व्यवस्था और दोहरे लोग 

कलम की चाहत तुम्हारा अंतर्मन हिलाने की 

जीने का भी कोई तो मकसद दे देते 

मन में हो विश्वास तो राह मिल जाएगी 
मेरा फोटो
पंच के आसन पर आसीन शब्द 
DSC01078
ब्लोगिंग क्यों ?
My Photo
पदचिह्न 

हम मनाते हैं पर्यावरण दिवस मगर.....

हरियाली का हरण हो रहा बाबा जी 

जग हरियाली युक्त बनाएं 

सचेत करती माँ 
मेरा फोटो
बिना शब्दों का खत 

थोडा हँस लीजिए 

images (13)
अंत में हंए इस व्यंग्य के साथ 
आज के लिए बस इतना ही
धन्यवाद

20 comments:

  1. विविधता और रोचकता लिए हुए सुन्दर चर्चा!
    आभार!

    ReplyDelete
  2. साथक सफल प्रयास ......शुभकामनायें जी

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर लिंक्स के साथ अलग अंदाज में दिलबाग की चर्चा बेहतरीन !!!

    ReplyDelete
  4. शुभकामनायें .

    ReplyDelete
  5. सुन्दर विर्स्त्रत चर्चा के लिए बहुत बहुत बधाई आपकी कविता पर लाईक पहले ही कर दिया था

    ReplyDelete
  6. badhiya charcha....

    vistrut links...
    aapka ek vote pakka
    shubhkaamnaayen.............

    anu

    ReplyDelete
  7. आज के चर्चा मंच मे युनिक ब्‍लाग के लेख को सामिल करने के लिये आपका धन्‍यवाद

    युनिक तकनीकी ब्‍लाग

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर चर्चा दिलबाग जी,
    मेरी पोस्ट सम्मिलित करने के लिए शुक्रिया
    आपका १ बोट सुनिश्चित !!!

    ReplyDelete
  9. बहुत विविधता लिए चर्चा |मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |
    आशा

    ReplyDelete
  10. बहुत खूबसूरत लिंक संयोजन्।

    ReplyDelete
  11. बेहतरीन चयनित सूत्र...

    ReplyDelete
  12. सुंदर चर्चा,,,,

    ReplyDelete
  13. बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स संयोजित किये हैं आपने ... आभार

    ReplyDelete
  14. विशिष्ट साजसज्जा से सुशोभित इस सुन्दर चर्चामंच में अन्य महत्वपूर्ण लिंक्स के साथ आपने मेरी रचना को भी सम्मिलित किया इसके आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आभार !

    ReplyDelete
  15. बहुत सुन्दर लिंकस...आभार

    ReplyDelete
  16. Great links...great charcha.... Dil garden-garden ho gaya Sir...

    ReplyDelete
  17. उम्दा लिंक चयन.

    ReplyDelete
  18. रोचक चर्चा...आभार !!!

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin