Followers

Monday, March 11, 2013

“हे शिव ! जागो !!” (चर्चा मंच-1180)

मित्रों!
सोमवार के चर्चाकार आदरणीय “ग़ाफ़िल” जी शिव की आराधना में व्यस्त हैं। इसलिए आज “मयंक” की पसन्द के कुछ लिंक देखिए!
दूसरी सूचना यह है कि मंगलवार की चर्चाकार आदरणीया राजेश कुमारी जी 21 मार्च तक बाहर गयी हुईं हैं। अतः आगामी 2 मंगलवार के लिए भाई “रविकर जी चर्चा करेंगे।
हे शिव !  जागो !!
"हृदय के उदगार” की समीक्षा
राजेश कुमारी का रचना संसार!
"हृदय के उद्गार"


हैरत होती है हमें, करते कड़वी बात-
"लिंक-लिक्खाड़" पर रविकर
तेरा अहसास....
मेरा मन पंछी सा पर Reena Maurya
 
कुछ मेरी कलम से और रंजू......
अपनी बात... पर वन्दना अवस्थी दुबे
पुरूष दिवस की हार्दिक बधाई ताऊ...
ताऊ डाट इन पर ताऊ रामपुरिया
शिवरात्रि के अवसर पर
मीठा भी गप्प,कड़वा भी गप्प
हाजियों की एक बड़ी जमात दीन की समझ से दूर है
Blog News पर DR. ANWER JAMAL
कर भरोसा अपने पर
Akanksha पर Asha Saxena
'ये कैदे बामशक्कत जो तूने की अता है '

दास्ताँने - दिल (ये दुनिया है दिलवालों की)
तो प्रश्न उठता है फिर पैदा ही क्यों किया वो बीज ????????
एक प्रयास
जग नियंता नियंत्रित किये है सारी सृष्टि मगर "मैं" अनियंत्रित है अस्फुट है बेचैन है खानाबदोश ज़िन्दगी आखिर कब तक जी सकता है हाँ
बस 1 तोप की सलामी
Kajal Kumar's Cartoons काजल कुमार के कार्टून
इस्लाम हमें अपने निर्माता और मालक से मिलाता है
प्रेमवाणी
दरगाह दीवान भी भारत सरकार से तो अच्छे हैं !!
शंखनाद पर पूरण खण्डेलवाल
मैं शिव ...
nayee udaan पर उपासना सियाग
“रविकर का कोना”

(1)

"दुनिया में आने दो!" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण)  उच्चारण -
(2)

Kedarnath (12 Jyotirlinga) Temple केदारनाथ 12 ज्योतिर्लिंग में सर्वाधिक ऊँचाई वाला ज्योतिर्लिंग

Jatdevta Sandeep 

23 comments:

  1. बढ़िया लिंक्स | मज़ा आया पढ़कर |

    ReplyDelete
  2. कार्टून को भी सम्मिलित करने के लिए आभार.

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा लिंक !!
    आभार !!

    ReplyDelete
  4. बढ़िया लिंक्स, आभार शास्त्री जी !

    ReplyDelete
  5. ये हैं शहादत के सौदागर, मीडिया भी मौन !
    महेन्द्र श्रीवास्तव at TV स्टेशन ...

    शोकाकुल परिवार से गहरी सहानुभूति-
    किन्तु क्या-

    हो सकता है क्या नहीं, रिश्ते अब असहाय |
    खर्चा पूरा नहिं पड़े, नाम लिस्ट में आय |
    नाम लिस्ट में आय, सभी का हक़ पर हक़ है -
    जीजा देवर बहन, खफा इन से नाहक है |
    शायद पहली मौत, देश में इतनी चर्चा |
    उठा रही सरकार, सभी नातों का खर्चा ||

    ReplyDelete
  6. उम्दा ब्लॉग शेयर करने के लिए बहुत आभार !

    ReplyDelete
  7. बहुत बढ़िया लिनक्स मिले..... आभार

    ReplyDelete
  8. बढ़िया चर्चा गुरु जी बधाई

    ReplyDelete
  9. आदरणीय गुरुजनों, मित्रों एवं पाठकों सादर प्रणाम स्वीकारें. वाह आदरणीय गुरुदेव श्री बेहद सुन्दरता से सजा चर्चा मंच पठनीय सूत्रों से सुसज्जित है. हार्दिक आभार

    ReplyDelete
  10. चर्चा में शामिल करने के लिए आपका शुक्रिया.

    सबको पर्व की शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  11. अच्छे लिंक्स, बढिया चर्चा
    मुझे स्थान के लिए आभार

    ReplyDelete
  12. बहुत बढिया लिंक्स संजोये हैं ………बहुत सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  13. बहुत ही सुन्दर शिव भक्ति से ओत-प्रोत लिंकों की चर्चा.कुछ मार्मिक भावपूर्ण लिंकों की भी चर्चा,सादर नमन.

    ReplyDelete
  14. हमारी ब्लॉग पोस्ट शामिल करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद सर!


    सादर

    ReplyDelete
  15. चर्चा मंच पर स्थान देने के लिए आपका शुक्रिया.///
    :-)

    ReplyDelete
  16. बढ़िया सजा चर्चा मंच |मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |
    आशा

    ReplyDelete
  17. सुसज्जित मंच,उत्कृष्ट लिंक्स...आभार !!

    ReplyDelete
  18. बढ़िया लिंक्स के साथ सुन्दर चर्चा प्रस्तुति ...

    ReplyDelete
  19. बहुत ही सुन्दर सूत्र सजाये हैं।

    ReplyDelete
  20. मेरे लेख को 'चर्चा' लायक मानने और स्थान देने हेतु आदरणीय शास्त्री जी का बहुत-बहुत आभार।

    ReplyDelete
  21. मेरा विचार है... चर्चा मंच पर किसी एक दिन किसी ख़ास विषय पर आधरित लिंक दिए जाए... ताकि एक ही विषय पर अनेक लेखकों के विचारों से अवगत हुआ जा सके

    ReplyDelete
  22. सार्थक लिंक
    सुंदर संयोजन /सभी रचनाकारों को बधाई
    संयोजन का आभार

    ReplyDelete
  23. दुःख-सुख दोनों में रहे,अविचल,अडिग, सामान |
    सच्चा शिव का भक्त वस,उस को कहें सुजान ||
    शिव जागरण की रचनाएँ सचमुच सराहनीय हैं !

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"राम तुम बन जाओगे" (चर्चा अंक-2821)

मित्रों! सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...