समर्थक

Sunday, May 12, 2013

मातृ दिवस विशेष चर्चा : चर्चा मंच १२४२

"जय माता दी" रु की ओर से आप सबको सादर प्रणाम. चलते हैं आप सभी के चुने हुए प्यारे लिंक्स पर.
उपासना सियाग
रजनी मल्होत्रा नैय्यर
प्रतिभा सक्सेना
Dr. Sandhya Tiwari
Sushil Bakliwal
Jyoti KhareDeepika Dwivedi
ऋता शेखर मधु
Amit Srivastava
Rachana
त्रिवेणी
Suresh Agarwal Adhir
Anju (Anu) Chaudhary
आनंद कुमार द्विवेदी
Rekha Joshi
vibha Rani Shrivastava
Ravishankar Shrivastava
प्रतीक माहेश्वरी
इसी के साथ आप सबको शुभविदा मिलते हैं रविवार को. आप सब चर्चामंच पर गुरुजनों एवं मित्रों के साथ बने रहें. आपका दिन मंगलमय हो
जारी है ..... "मयंक का कोना"
(1)
माँ! तुम्हें तो पता भी नही होगा 

आज माँ-दिवस हैं
(2)
एक पाती माँ के नाम !


(3)
सभी प्यारी-प्यारी माँओं को प्यार

बहुत सारा प्यार माँ के लिए...
(4)
अंतर्राष्ट्रीय ब्लागर सम्मेलन में अत्यंत दुर्लभ पुस्तकों का विमोचन

(5)
झरीं नीम की पत्तियाँ (नारी उत्पीडन के कारण)

दरिद्रता-दुःख-दीनता,  निर्धनता  की मार |
कितना पीड़ित विश्व में, है ‘आधा संसार’...
(6)
"प्रतिदिन मातादिवस है"

प्रतिदिन मातादिवस है, रोज़ करो गुणगान।
प्रतिदिन होना चाहिए, माता का सम्मान।।

21 comments:

  1. माँ मय होता पूरा चर्चामंच |माँ की महिमा से सभी परिचित हैं
    माँ तुझे शत शत प्रणाम |
    आशा

    ReplyDelete
  2. माँ शब्द में संसार छिपा है ..... सुंदर लिनक्स की चर्चा

    ReplyDelete
  3. अरुण जी!
    आज रविवार को (12-05-2013) मातृ दिवस विशेष चर्चा : चर्चा मंच १२४२ में " आपने बहुत सार्थक और सामयिक लिंकों का समावेश किया है!
    मातृदिवस की शुभकामनाओं के साथ...
    सादर...आभार..!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  4. बढ़िया लिंक्स लेकर सार्थक चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार .
    सबको मातृदिवस की शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  5. सृष्टि में माँ के महत्व और महानता को समर्पित आज की इस विशेष प्रविष्टि पर धन्यवाद व आभार...

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर माँ को समर्पित links आज के ,अरुण बधाई के पत्र हो

    ReplyDelete
  7. गुरु जी को प्रणाम
    आपने बिलकुल ठीक कहा माँ बाप का सम्मान हर रोज होना चाहिए

    ReplyDelete
  8. मातृत्व की अनंत महिमा बखानता सुन्दर चर्चा मंच .... बहुत बहुत बधाई अरुण जी !

    ReplyDelete
  9. माँ तो माँ है...शब्दों में नहीं बाँधी जा सकती..सुंदर लिंक्स...सुसज्जित चर्चामंच...आभार !!

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर चर्चा रही ,मेरी रचना शामिल करने पर हार्दिक धन्यवाद

    ReplyDelete
  11. माँ को समर्पित बहुत ही सार्थक लिंकों का समायोजन,आभार.

    ReplyDelete
  12. चर्चामंच को माटी-दिवस की वधाई !
    थपकी, चुम्बन, मीठी लोरी , ऐसे प्यार जताती है ( माँरजनी मल्होत्रा नैय्यर कृत),"प्रतिदिन मातादिवस है'डॉ रूपचन्द्र शास्त्री कृत ,एक पाती माँ के नाम !आदि |

    ReplyDelete
  13. चर्चामंच को माटी-दिवस की वधाई !
    इस मंच की सभी रचनाएँ आज की सामयिक परिस्थिति के अनुकूल हैं विशेषकर-
    थपकी, चुम्बन, मीठी लोरी , ऐसे प्यार जताती है ( माँरजनी मल्होत्रा नैय्यर कृत),"प्रतिदिन मातादिवस है'डॉ रूपचन्द्र शास्त्री कृत ,एक पाती माँ के नाम !आदि |

    ReplyDelete
  14. भावों से भरी चर्चा..

    ReplyDelete
  15. सार्थक चर्चा.............मातृदिवस की शुभकामना

    ReplyDelete
  16. sorry arun ji ravivaar ko mai net par nahi thi, apni maa se milne gayi thi, bahut baut aabhar matri divas par mujhe shamil karne ke liye .

    ReplyDelete
  17. बेहतरीन लिंक्‍स संयोजन एवं प्रस्‍तुति

    आभार

    ReplyDelete
  18. माँ पर कुछ भी लिखना सूरज को दिये दिखलाने जैसा होता है
    लेकिन यहाँ सबकी कोशिश सफल है
    माँ के साये से ही रौशन होता है बच्चे का जहां
    धन्यवाद और आभार मेरे लिखे को चयन करने के लिए
    हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  19. माँ तो हर पल रहती है दिल में,मन में समूचे जीवन में
    चर्चामंच का आभार कि माँ को समर्पित किया है यह अंक
    भावपूर्ण लिंक्स सहेजे हैं
    सभी रचनाकारों को बधाई
    सादर
    मुझे सम्मलित करने का आभार

    ReplyDelete
  20. ma pr itna kuchh padh kar man prasann ho gaya .bahut sunder link lagayen hai mere blog ka link dene ke liye bahut bahut abhar
    dhnyavad
    rachana

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin