Followers

Thursday, October 03, 2013

पावन माटी से प्यार ( चर्चा - 1387 )

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 
गाँधी जयंती और लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर देश दोनों महापुरुषों को नमन करता है , हालांकि सोशल मीडिया पर गाँधी जी लोगों के निशाने पर हैं । मतभेद संभव हैं लेकिन गाँधी जी को गाली देना कृतघ्नता है ।
चलते हैं चर्चा की ओर 
आपका ब्लॉग
मेरा फोटो
मेरा फोटो
My Photo

धन्यवाद 
--
"मयंक का कोना"
--
कार्टून :- बालहठ

काजल कुमार के कार्टून
--
कुछ वाँ की.. तो कुछ याँ की...

कब परिंदो को पता था, 
आंगनों में भेद का एक दाना वाँ चुगा था, 
एक दाना याँ चुगा... सरहदों से जा के पूछो, 
कौन किसका खून है एक कतरा वाँ गिरा था....
उड़न तश्तरी ....पर Udan Tashtari
--
कण कण में बसी है माँ

sapne(सपने) पर shashi purwar 

--
लालू की भैंसिया की लालू को काव्‍यमयी 
चिट्ठी पहली बार एक चिट्ठे पर

तेताला पर नुक्‍कड़

--
भारत का लाल -
श्री लाल बहादुर शास्त्री की याद में

Ocean of Bliss पर Rekha Joshi 

--
"खेतों में शहतूत लगाओ"
बालकृति 
"हँसता गाता बचपन" से
 
बालकविता
"खेतों में शहतूत लगाओ"
कितना सुन्दर और सजीला।
खट्टा-मीठा और रसीला।।

हरे-सफेद, बैंगनी-काले।
छोटे-लम्बे और निराले।।

शीतलता को देने वाले।
हैं शहतूत बहुत गुण वाले।।
हँसता गाता बचपन
--
ब्लॉग से कमाने में सहायक हो सकती है ये वेबसाइट !!
अधिकांश ब्लॉगर (चिठ्ठाकार) मित्र ब्लॉग से कमाने के बारे में सोचते हैं, ओर तो ओर कई ब्लॉगर तो इसी वजह से ब्लॉग्गिंग (चिठ्ठाकारी) में भी आते हैं। लेकिन जब उन्हें अहसास होता है कि वो अब इससे नहीं कमा सकते हैं तो वो ब्लॉग्गिंग को छोड़ देते हैं। लेकिन मैं आपको ऐसी वेबसाइट बताने जा रहा जिससे आप अपने ब्लॉग से कमाने में समर्थ हो जायेंगे और जो जिन लोगों ने ब्लॉग से कमाने के बारे में कभी सोचा नहीं होगा, वो भी इसके बारे में सोचने लगेंगे। ये वेबसाइट है....
प्रचार पर HARSHVARDHAN 

--
बच्चों के जीवन निर्माण मे माता पिता की भूमिका
My Photo
नूतन ( उद्गार) पर Annapurna Bajpai 

--
♥चर्चा मंच की दिनचर्या♥
मैं (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') स्थानापन्न चर्चाकार के रूप में 
चर्चा मंच की सेवा करता ही रहूँगा।
चर्चा मंच के शुक्रवार के चर्चाकार 
मेरा फोटो
चर्चा मंच परिवार आपका स्वागत करता है।

25 comments:

  1. बहुत सुन्दर और उपयोगी चर्चा।
    भाई दिलबाग विर्क जी आपका आभार।

    ReplyDelete
  2. पठनीय लिंक्स...सुंदर चर्चा...आभार दिलबाग विर्क जी।

    ReplyDelete
  3. कार्टून को सम्‍मि‍लि‍ल करने के लि‍ए आपका आभार जी

    ReplyDelete
  4. कार्टून :- बालहठ

    काजल कुमार के कार्टून

    प्रणव नाद से मुखर जी, रोके अनुचित चाह |
    वाह वाह युवराज की, देता कुटिल सलाह |

    देता कुटिल सलाह, मानती किचन कैबिनट |
    हो जाते सब चित्त, करा दे बबलू नटखट |

    झेल रही सरकार, रोज ही विकट हादसे |
    रविकर करता ध्यान, हमेशा प्रणव नाद से ||

    ReplyDelete
  5. बड़े ही रोचक व पठनीय सूत्र..

    ReplyDelete
  6. शानदार रहा चर्चा मंच हमारे सेतु को खपाने के लिए विशेष आभार आपका।

    ReplyDelete

  7. चिंता न कर लालू
    जेल में चिंतित मत होना...
    तूने मेरा चारा खाया है
    मैं तेरा राजद अध्‍यक्ष पद
    खाकर जुगाली नहीं करूंगी
    बखूबी संभालूगी
    इतना तो भरोसा कर
    जिस चारे के बल पर
    17 साल बच गया
    उसी के बल पर
    तेरा दल भी बचेगा
    इन चुनावों में
    मुझे ही सीएम
    बना देख हर्षित होगा
    चुटकुले सुनायेगा
    चुटकियां लेगा
    हंस हंस कर
    जेल की जमीन पर
    पटकनियां लेगा और
    पहनकर हेलमेट
    अपना सिर पटकेगा।
    3 comments:

    --
    लालू की भैंसिया की लालू को काव्‍यमयी
    चिट्ठी पहली बार एक चिट्ठे पर

    तेताला पर नुक्‍कड़

    ReplyDelete
  8. बहुत खूब भाईसाहब !

    लालू की भैंसिया की लालू को काव्‍यमयी
    चिट्ठी पहली बार एक चिट्ठे पर

    तेताला पर नुक्‍कड़

    ReplyDelete
  9. तुम तो हो सरदार नाम के असरदार ये पप्पू जी।

    कार्टून :- बालहठ

    काजल कुमार के कार्टून

    ReplyDelete
  10. रोचक कड़ियाँ और मेरे लेख को शामिल करने के लिए आपका सहर्ष धन्यवाद।।

    नई कड़ियाँ : ब्लॉग से कमाने में सहायक हो सकती है ये वेबसाइट !!

    ज्ञान - तथ्य ( भाग - 1 )

    ReplyDelete

  11. बहुत खूब भाईसाहब !मार्मिक सन्देश।

    तकलीफ : लघु कथा

    ReplyDelete

  12. बहुत खूब भाईसाहब !मार्मिक सन्देश। प्रासंगिक आंच लिए है यह रचना।

    सभी मेनका बन बैठीं

    ReplyDelete
  13. शीतलता को देने वाले।
    हैं शहतूत बहुत गुण वाले।।

    दर्द गले का हर लेता -

    इसका "शरबत शहतूत"

    ReplyDelete
  14. चुनिंदा लिंक्स से सुसज्जित सुंदर चर्चा. मेरी लघु कथा को सम्मिलित करने हेतु आभार आदरणीय..........

    ReplyDelete
  15. बहुत ही सुंदर लिंक्स , आभार

    ReplyDelete
  16. बहुत ही सुंदर लिंक्स ,मेरे लेख को शामिल करने के लिए आपका धन्यवाद।

    ReplyDelete
  17. बहुत ही सुन्दर चर्चा रही ,मास्टर्स टैक पोस्ट को शामिल करने के लिए शुक्रिया दिलबाग भाई।
    हमारे राजेन्द्र भाई ,कहाँ से कहाँ पहुँच गये। चर्चा मंच से जुड़ने के लिए बधाई ,और ढेरों मुबारक बाद। आज आप सम्पूर्ण हिंदी ब्लोगर बन गये हैं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रोत्साहन के लिए धन्यबाद आमिर भाई,हमारे मार्गदर्शक तो आप ही है।

      Delete
  18. सुन्दर प्रस्तुति-
    आभार आदरणीय-

    ReplyDelete
  19. ati sundar charcha...rajendr kumar ji kee charcha sunne ko milegi .. badhaiyaan

    ReplyDelete
  20. सुंदर चर्चा !
    राजेंद्र जी के चर्चामंच से जुड़ने पर स्वागत एवम शुभकामनाऐं !

    ReplyDelete
  21. बढ़िया लिनक्स ...चैतन्य को शामिल किया आभार

    ReplyDelete
  22. बहुत ही पठनीय सामग्री से ओत प्रोत, मेरी रचना भी इसमें शामिल, आपका हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  23. मैं आपका दास, मोहनदास करमचंद गांधी - शीर्षक वाला मेरा पत्र आपने 'चर्चा मंच' के लायक समझकर स्थान दिया वो मेरा सौभाग्य है | मैं आप सभी का आभारी हूँ | मैं अपने व्यक्तिगत ब्लॉग को 'गांधी जयंती' के दिन ही शुरू किया है | पुन: आभार - पंकज त्रिवेदी

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"स्मृति उपवन का अभिमत" (चर्चा अंक-2814)

मित्रों! सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...