चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Wednesday, November 05, 2014

आज आपके पढ़ने के लिये नहीं लिखा है ; चर्चा मंच 1788


Bhagat Singh Panthi 



Kailash Sharma 



प्रवीण पाण्डेय 


प्रवीण पाण्डेय 


akanksha-asha.blog spot.com 


Anita


Rewa tibrewal 


विजय राज बली माथुर 


Yashwant Yash 


Priti Surana 


shyam Gupta 


Shalini Kaushik 


Asha Joglekar



Tushar Raj Rastogi 


Prem Prakash


सुशील कुमार जोशी 


बलखाती-लहराती उमड़ीपर्वत से जल धारा।
मैदानों पर आकर, अपना चंचल रूप” सँवारा।।

14 comments:

  1. बहुत सुन्दर चर्चा प्रस्तुति।
    सभी लिंक पठनीय है।
    आपका आभार रविकर जी।

    ReplyDelete
  2. सुप्रभात
    सुन्दर सूत्रों से सजा आज का चर्चा मंच
    पढ़ने को है बहुत कुछ मन में उठी तरंग
    मेरी रचना शामिल इसमें खुश हूँ इसे देख
    और एग्रीगेटर न कोई इस जैसा परफेक्ट |
    आशा

    ReplyDelete
  3. सुंदर बुधवारीय संकलन सुंदर चर्चा रविकर जी और आभार भी 'उलूक' के सूत्र 'आज आपके पढ़ने के लिये नहीं लिखा है कुछ भी नहीं है पहले ही बता दिया है' को जगह देने के लिये ।

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ...आभार!

    ReplyDelete
  5. sundar chaarcha....meri kavita ko sthan dene kay liye shukriya

    ReplyDelete
  6. चर्चा में बहुत अच्छे लिंक्स लगाये है ......


    ReplyDelete
  7. पठनीय सूत्र...आभार...

    ReplyDelete
  8. सार्थक सूत्र सुन्दर चर्चा !

    ReplyDelete
  9. सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर सूत्र...रोचक चर्चा...आभार

    ReplyDelete
  11. Sabhi links lajawaab.... Behad umda prastuti charchamanch ki !!

    ReplyDelete
  12. पिता जी और मेरी पोस्ट्स के लिंक्स यहाँ साझा करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद सर!

    सादर

    ReplyDelete
  13. सार्थक चर्चा.....

    ReplyDelete
  14. Sorry for coming late.Mere post ko Shamil karne ke like bahut abhar.

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin