समर्थक

Friday, September 15, 2017

"शब्द से ख़ामोशी तक" (चर्चा अंक 2728)

मित्रों!
शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।

(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

--
--
--

हिंदी दिवस 

Lovely life पर Sriram Roy 
--

कविता  

"मेरी कार का आठवाँ जन्मदिवस"  

कदम-कदम पर साथ निभाती।
कार हमारी हमको भाती।।

हिन्दीदिन पर इसको लाये।
हम सब मन में थे हर्षाये... 
--
--
--
--
--
--
--
--
--
--

चिड़िया: 

पाषाण 

पाषाण सुना है कभी बोलते, पाषाणों को ? 
देखा है कभी रोते , पाषाणों को ? 
कठोरता का अभिशाप, झेलते देखा है... 
आपका ब्लॉग पर Meena Sharma 
--

मिर्जा!! 

Parul Kanani 
--

ख्वाबों में तेरे सो गई आंखें 

ख्वाबों में तेरे सो गई आँखे 
तुझको सोचा तो खो गई आँखे... 
Ocean of Bliss पर Rekha Joshi  
--
--
--

5 comments:

  1. शुभ प्रभात मयंक भैय्या
    आभारी हूँ
    सादर

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर चर्चा। आभार 'उलूक'के 1250वें सूत्र को भी स्थान देने के लिये।

    ReplyDelete
  3. सुंदर चर्चा...मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  5. मेरी रचना को चर्चा मंच स्थान देने के लिए आभार।।।।जय हिंदी

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin