Followers

Monday, August 20, 2018

"आपस में मतभेद" (चर्चा अंक-3069)

मित्रों।
सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। 
--
--

देश भक्ति गीत  

" तीन रंग का प्यारा झंडा"  

राधा तिवारी "राधेगोपाल " 


देश हमारा भारत प्यारा हम इसकी संतान है
तीन रंग का प्यारा झंडा ही इसकी पहचान है... 
--
--
--

583.  

खिड़की स्तब्ध है... 

खिड़की, महज़ एक खिड़की नहीं   
वह एक एहसास है, संभावना है   
भीतर और बाहर के बीच का भेद   
वह बखूबी जानती है   
इसपार छुपा हुआ संसार है   
जहाँ की आवोहवा मौन है ... 
डॉ. जेन्नी शबनम 
--
--
पहरेदार 
उनकी नयनों की गलियों से हम क्या गुजरे
इश्क़ उनकी रूह से हम कर बैठे
पर बेखबर थे हम इस राज से
की लूट गये थे दिल के बाजार में
फ़रमाया गौर जरा जब उनकी पलकों ने
पर्दा सरकता गया हौले हौले इस राज से... 
RAAGDEVRAN पर 
MANOJ KAYAL  
--

क्या लिखूं तुमसे परिचय मेरा ?--   

तुम पावन स्नेह प्रश्रय मेरा !!  
कब स्वर में मुखरित हो पाते हो  
शब्दों में कहाँ समाते हो ?...  
क्षितिज पर Renu 
--
--
--

Sunday, August 19, 2018

"सिमट गया संसार" (चर्चा अंक-3068)

मित्रों।
रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। 
--
--

यह सावन के मस्त नज़ारे  

राधा तिवारी " राधेगोपाल ' 

Image result for सावन के झूले
यह सावन के मस्त नज़ारे
 मन्द कभी तो तेज फुहारें
 नभ ऐसे वर्षा करता है
 जैसे चलते हैं फव्वारे... 
--
--

अधूरे अल्फ़ाज़ 

कुछ अल्फ़ाज़ अधूरे से हैं  
कुछ गीत अधूरे से हैं  
वो अगर मिल जाये तो भी  
कुछ खाब्ब अधूरे से हैं... 
RAAGDEVRAN पर 
MANOJ KAYAL 
--
--

शेरो-सुख़न तक ले चलो... 

अदम गोंडवी 

भूख के एहसास को शेरो-सुख़न तक ले चलो  
या अदब को मुफ़लिसों की अंजुमन तक ले चलो... 
yashoda Agrawal 
--
--
--
--
--
--

मन्नत 

दादी रोज मंदिर जाती और अपने परिवार की खुशियाँ , सुख-समृद्धि के लिए प्रार्थना कर आती। और सोचती कि प्रभु से माँगना क्या ! उसको तो सब पता ही है। लेकिन कल से सोच में डूबी है। कल जब वे रोज़ की तरह दोपहर में धार्मिक चैनल पर प्रसारित होती भागवत कथा सुन रही थी तो उसमें , कथा वाचक बोल रहे थे , " एक गृहस्थ को ईश्वर की पूजा सकाम भाव से करनी चाहिए। जैसे , आपको मालूम भी होता है क्या कि आपके बच्चे को कब क्या चाहिए... 
नयी दुनिया+ पर Upasna Siag  

Saturday, August 18, 2018

"उजड़ गया है नीड़" श्रद्धांजलि अटलबिहारी वाजपेई (चर्चा अंक-3067)

मित्रों! 
शनिवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। 
--
--

अटल जी को श्रद्धांजलि  

राधा तिवारी " राधेगोपाल " 

अटल हमारे बीच सेचले गए सुखधाम।
 पर धरती पर रह गएउनके सारे काम... 
--

कोटि-कोटि नमन तुम को..... 

हे जन-नायक अटल जी,  
तुम्हारी शक्सियत अनुपम थी।  
तुम स्तंभ बनकर खड़े रहे,  
सत्य-पथ पर अड़े रहे,  
भारत को विश्व-शक्ति बनाया... 
kuldeep thakur 
--
--
--

एक संक्षिप्त 'अटल' संस्मरण ! 

पी.सी.गोदियाल "परचेत" 
--
--

और तुम जीत गए 

*पक्का निश्चय कर 
साध कर अपना लक्ष्यचले थे  
इस बार ये कदममंजिल की ओर*  
*मन में विश्वास लिए 
मान ईश्वर को पालनहार 
कर दिया था अर्पित खुद को 
उस दाता के द्वार 
मेहनत का ध्येय लिए 
कर दिए दिन रात एक... 
सु-मन (Suman Kapoor) 
--
--
--
--
--

मेरी पहचान 

Akanksha पर Asha Saxena  
--
--

अमर अटल 

देवेन्द्र पाण्डेय  
--
--
--

अटल तुम बहुत याद आओगे 

आप क्या गए सारा जग सूना हो गया  
ऐसा लगा सर से साया चला गया,  
आप हमको बताते थे नयी राह 
सारा जहा सूना सा हो गया... 

"आपस में मतभेद" (चर्चा अंक-3069)

मित्रों। सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।  (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   ...