Followers

Tuesday, January 02, 2018

नववर्ष "भारतमाता का अभिनन्दन"; चर्चा मंच 2836




1 जनवरी 2018 

१ जनवरी,2018 
आओ,आओ,आओ, 
यहाँ रखी हैं शुभकामनाएं सबके लिए,  
ढेरों आशीष, और अनंत स्नेह...  
उठा लो अपने हिस्से का सब आकर ..  
अर्चना चावजी Archana Chaoji  



नूतन वर्ष !!! 

नूतन वर्ष दस्तक़ देता द्वार स्वागत करो ! .. 
अभिनन्दन नववर्ष का हुआ हुई रौशनी !.. 
SADA 



किताबों की दुनिया -158 

नीरज गोस्वामी 




नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन--- 

डॉ.जगदीश व्योम   

आमों पर खूब बौर आए 
भँवरों की टोली बौराए 
बगिया की अमराई में 
फिर कोकिल पंचम स्वर में गाए। 
फिर उठें गंध के गुब्बारे 
फिर महके अपना चंदन वन 
नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन ... 
कविता मंच पर kuldeep thakur  




8 comments:

  1. शुभ प्रभात
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
  2. आदरणीय शास्त्री जी को सपरिवार, चर्चा - मंच परिवार सहित वर्ष 2018 शुभ व मंगलमय हो। क्रांतिस्वर की पोस्ट को इस अंक में स्थान देने हेतु आभार एवं धन्यवाद।

    ReplyDelete
  3. अनुपम प्रस्तुति ....
    नववर्ष की अनंत मंगलकामनाएं ... सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. JEEWANTIPS की पोस्ट को चर्चामंच मे शामिल करने के लिए आपका धन्यवाद ।
      नववर्ष की मगंलकामनाएँ।

      Delete
  4. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति
    नववर्ष की सभी को हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  5. सभी अनदेखे अपनों को नव-वर्ष की शुभकामनाएं, आने वाला समय मंगलमय हो

    ReplyDelete
  6. सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  7. सुन्दर संयोजन ,हार्दिक बधाई !

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"चलना सीधी चाल।" (चर्चा अंक-2951)

सुधि पाठकों! बुधवार   की चर्चा में  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। राधा तिवारी (राधे गोपाल)  -- दोहे   "चलना सीधी चाल।&...