साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Tuesday, January 02, 2018

नववर्ष "भारतमाता का अभिनन्दन"; चर्चा मंच 2836




1 जनवरी 2018 

१ जनवरी,2018 
आओ,आओ,आओ, 
यहाँ रखी हैं शुभकामनाएं सबके लिए,  
ढेरों आशीष, और अनंत स्नेह...  
उठा लो अपने हिस्से का सब आकर ..  
अर्चना चावजी Archana Chaoji  



नूतन वर्ष !!! 

नूतन वर्ष दस्तक़ देता द्वार स्वागत करो ! .. 
अभिनन्दन नववर्ष का हुआ हुई रौशनी !.. 
SADA 



किताबों की दुनिया -158 

नीरज गोस्वामी 




नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन--- 

डॉ.जगदीश व्योम   

आमों पर खूब बौर आए 
भँवरों की टोली बौराए 
बगिया की अमराई में 
फिर कोकिल पंचम स्वर में गाए। 
फिर उठें गंध के गुब्बारे 
फिर महके अपना चंदन वन 
नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन ... 
कविता मंच पर kuldeep thakur  




8 comments:

  1. शुभ प्रभात
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
  2. आदरणीय शास्त्री जी को सपरिवार, चर्चा - मंच परिवार सहित वर्ष 2018 शुभ व मंगलमय हो। क्रांतिस्वर की पोस्ट को इस अंक में स्थान देने हेतु आभार एवं धन्यवाद।

    ReplyDelete
  3. अनुपम प्रस्तुति ....
    नववर्ष की अनंत मंगलकामनाएं ... सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. JEEWANTIPS की पोस्ट को चर्चामंच मे शामिल करने के लिए आपका धन्यवाद ।
      नववर्ष की मगंलकामनाएँ।

      Delete
  4. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति
    नववर्ष की सभी को हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  5. सभी अनदेखे अपनों को नव-वर्ष की शुभकामनाएं, आने वाला समय मंगलमय हो

    ReplyDelete
  6. सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  7. सुन्दर संयोजन ,हार्दिक बधाई !

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"जीवित हुआ बसन्त" (चर्चा अंक-2857)

मित्रों! मंगलवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- &...