Followers

Wednesday, June 13, 2018

"कलम बना पतवार" (चर्चा अंक-3000)

सुधि पाठकों!
बुधवार की चर्चा में 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।
--

दोहे  

"कलम बना पतवार"  

(राधातिवारी "राधेगोपाल") 

RADHA TIWARI  

--

दोहे  "गले पड़े हैं लोग"  

(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

--

सीप में मोती...... 

रजनी भार्गव 

yashoda Agrawal  
--

मुक्त ग़ज़ल : 255 -  

वो मेरा है....... 

--

देखने का जादू (अखिलेश ) :  

अभिषेक कश्यप 

समालोचन पर arun dev  
--

--

जस्टिस जगमोहन लाल सिन्हा :  

भारतीय न्यायपालिका का एक जगमगाता सितारा   

रेहान फज़ल 

विजय राज बली माथुर 
--

तुम्हारी कविता 

एक दिन यूँ ही अलसायी सी दोपहर में  
तुम्हारी कविताओं की किताब हाथ में आ गयी 
जिसमे तुमने लिखी थी 
मेरी ये सबसे पसंदीदा कविता... 
प्यार पर Rewa tibrewal  
--

शबनमी ख्वाब 

सु-मन (Suman Kapoor) 
--

शराब जरुरी है क्या 

शराब पीना जरुरी है क्या? ये एक बेटी अपने पापा से पूछती हैघर की कलह से परेशान होती बेटीमाँ को सिसकता देख परेशान होती बेटीअपनी पढाई का हर्जा होते देख परेशान  होती बेटीपापा से पूछती हैआप की शराब जरुरी है क्या... 
aashaye पर garima - 
--

एटलस साईकिल पर योग- यात्रा  

भाग ७:  

औरंगाबाद- जालना 

Niranjan Welankar 
--

मोती अनमोल 

सागर में सीपी के लिए चित्र परिणाम
सागर की सीपी  में मोती
हैं अनमोल अद्भुद दिखाई देते
है भण्डार अपार  उनका
उनसे शब्द मोती से झरते
किये संचित शब्दों के मोती...  
Akanksha पर Asha Saxena 
--

कार्टून :-  

कहीं भी जाना हो तो बता के जाया कर 

4 comments:

  1. शुभ प्रभात सखी
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
  2. सुन्दर और सार्थक।
    आभार राधा बहन जी।

    ReplyDelete
  3. सुप्रभात
    मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद राधा जी |

    ReplyDelete
  4. अच्छी हलचल प्रस्तुति....

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"करना ऐसा प्यार" (चर्चा अंक-3010)

मित्रों!  शनिवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।  (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...