Saturday, April 13, 2019

"बैशाखी की धूम" (चर्चा अंक-3304)

स्नेहिल  अभिवादन  
शनिवारीय चर्चा में आप का हार्दिक स्वागत है|
देखिये मेरी पसन्द की कुछ रचनाओं के लिंक |
 - अनीता सैनी 

--

गीत  

"बैशाखी की धूम"   

(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')  

roopchandrashastri at 
उच्चारण 
 
--
पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा at 
 कविता "जीवन कलश"  
--

पलातक  

SHANTANU SANYAL  at 
 अग्निशिखा : 
-- 

स्वच्छ भारत 

--

१० अप्रैल को मनाया जाता है -  

विश्व होम्योपैथी दिवस 

शिवम् मिश्रा at 
बुरा भला 
--

धर्म 

Asha Lata Saxena  at  
Asha Lata Saxena 

 

11 comments:

  1. सर्व प्रथम रामनवमी पर्व की सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ। यह पर्व हम सभी के आदर्श पुरुषोत्तम श्री राम के जन्मोत्सव का है।
    प्रयास हम सभी का होना चाहिए कि हम उनके उस संस्कार को स्वयं में धारण करें, जिसके माध्यम से समाज में समरसता लाने का प्रयास उन्होंने किया। दबे कुचले एवं निम्न जाति के लोगों को गले लगा, उनका जूठन खा सम्मान दिया। अहिल्या का स्पर्श कर समाज को बताया कि किसी के छल के कारण नारी अपवित्र नहीं हो जाती है। यह सबसे बड़ा संदेश उस युग में उन्होंने दिया। आज भी इसकी प्रासंगिकता है।
    हर जीवों से प्रेम करें। व्रत उपासना के नाम पर जब आप मांसाहारी से शाकाहारी होते हैं, तब आपके मन में भी कहीं यह भाव होगा ही कि पशु वध उचित नहीं है। क्षुधा शांत करने के लिये हम मनुष्यों के पास और भी भोज्य पदार्थ हैं।
    अनिता बहन को इस सुंदर संकलन के लिये और मेरी रचना को प्रमुखता देने के लिये हृदय से प्रणाम।

    ReplyDelete
  2. अद्यतन लिंकों के साथ
    बहुत सुन्दर और जीवन्त चर्चा।
    आपका आभार अनीता सैनी जी।

    ReplyDelete
  3. उम्दा चर्चा।
    मेरी रचना को "चर्चा मंच" में स्थान देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद, अनिता दी।

    ReplyDelete
  4. मेरी इस सांकेतिक रचना को इस अंक में शामिल करने हेतु आभार। रामनवमी के इस अवसर पर समस्त जनों को शुभकामनाएं । किसी भी कामना को अनुकूल स्वरूप देने हेतु ईश्वरीय संकेत समान प्रयास किया जाना आवश्यक है। ईश्वर की कृपा सभी पर बनी रहे ।

    ReplyDelete
  5. सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  6. सुंदर प्रस्तुति शानदार रचनाएं

    ReplyDelete
  7. बेहतरीन प्रस्तुति, राम नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  8. राम नवमी एंव नवरात्रा समापन दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
    शानदार प्रस्तुति सुंदर चर्चा अंक सभी रचनाकारों को बधाई मेरी रचना को शामिल करने हेतु तहेदिल से शुक्रिया।

    ReplyDelete
  9. बहुत ही उन्दा प्रस्तुति अनीता जी ,सभी को रामनवमी की हार्दिक बधाई

    ReplyDelete
  10. आप सभी का तहे दिल से आभार
    आप चर्चा में पधारे और रचनाकारों का उत्साहवर्धन किया
    सहयोग बनाये रखे
    आभार
    सादर

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।