Sunday, June 16, 2019

"पिता विधातारूप" (चर्चा अंक- 3368)

स्नेहिल अभिवादन   
रविवासरीय चर्चा में आप का हार्दिक स्वागत है|  
देखिये मेरी पसन्द की कुछ रचनाओं के लिंक |  
My Photo
अनुपमा पाठक at अनुशील 

डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी 

------

घनघोर अशुद्धियां हैं  तेरी कविताओं में -  

यशु जान 

------

बचपन 

------

Garib Rath में  यात्रा का अनुभव। 


iwillrocknow:nitish tiwary's blog. पर 
Nitish Tiwary 
------

आलेख :  

प्राचीन इतिहास पर नयी रौशनी ! 

उसकी कहानी ! 

जन्मी कल थी, उतर गोद से माँ की,  
नन्हें नन्हें कदमों से अभी अभी चलना सीखा ।  
अँगुली माँ की छोड़ अभी तक न चलना आया था... 
hindigen पर रेखा श्रीवास्तव 
------
मेहँदी हसन  शहंशाह-ए-गजल 

शरारती बचपन पर sunil kumar  

10 comments:

  1. उपयोगी और पठनीय लिंक।
    सभी पाठकों को पितृदिवस की शुभकामनाएँ।
    --
    आपका आभार अनीता सैनी जी।

    ReplyDelete
  2. सुंदर संकलन है अनु। सभी रचनाएँ अति उत्तम हैं।
    मेरी रचना को स्थान देने के लिए सस्नेह आभार।

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  4. सुप्रभात, पितृ दिवस पर शुभकामनायें ! उपयोगी सूत्रों से सजा सुंदर चर्चामंच..आभार !

    ReplyDelete
  5. उपयोगी और ज्ञानवर्धक लिंक्स का बेहतरीन संकलन । बहुत ;बहुत धन्यवाद । मुझे भी आपने इसमें स्थान दिया । इसके लिए भी हार्दिक आभार ।

    ReplyDelete
  6. उपयोगी और ज्ञानवर्धक लिंक्स का बेहतरीन संकलन । बहुत -बहुत धन्यवाद । आपने मुझे भी स्थान दिया । हार्दिक आभार ।

    ReplyDelete
  7. सुन्दर संयोजन हेतु धन्यवाद

    ReplyDelete
  8. बेहतरीन प्रस्तुति अनीता जी ,मेरी रचना को स्थान देने के लिए आभार आप का ,स्नेह

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।