साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Tuesday, March 17, 2015

दिन को रोज़ा रहत है ,रात हनत है गाय ; चर्चा मंच 1920

स्वागत है आपका -सादर 
आज से एक माह के लिए, रांची प्रवास पर हूँ -रविकर 
डा. मेराज अहमद 
प्रेम सरोवर 
नीरज जाट 
Priti Surana 

चलें?

संजय @ मो सम कौन... 

Virendra Kumar Sharma 



सुधाकल्प 


Madan Saxena 



chandan bhati 


491. युद्ध...डॉ. जेन्नी शबनम 

8 comments:

  1. आदरणीय रविकर जी आपका आभार।
    आपका राँची प्रवास मंगलमय हो।

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर प्रस्तुति रविकर जी ।

    ReplyDelete
  3. सुन्दर प्रस्तुति, हमेशा की तरह!! आभार रविकर जी

    ReplyDelete
  4. धन्यवाद रविकर जी।

    ReplyDelete
  5. सुन्दर चर्चा।
    हमारी चर्चा तो प्रधानमंत्री के चाय पर चर्चा से बहुत अच्छी है।
    बिना राजनीति...दिल की बात दिल से।

    ReplyDelete
  6. सुन्दर चर्चा ....
    कृपया मेरे चिट्ठे पर भी पधारे और अपने विचार व्यक्त करें.

    http://hindikavitamanch.blogspot.in/
    http://kahaniyadilse.blogspot.in/

    ReplyDelete
  7. आदरणीय रविकर जी सादर नमन | सुदर सूत्र सजाए इस चर्चा मंच में | मेरी रचना को स्थान देने के लिए साधुवाद और आभार | जय हो - मंगलमय हो

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

(चर्चा अंक-2853)

मित्रों! मेरा स्वास्थ्य आजकल खराब है इसलिए अपनी सुविधानुसार ही  यदा कदा लिंक लगाऊँगा। शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  ...