समर्थक

Thursday, June 18, 2015

नंगी क्या नहाएगी और क्या निचोड़ेगी { चर्चा - 2010 }

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 
कुछ दिन पहले डिग्री का मुद्दा उछल रहा था तो अब मानवीयता के चर्चे हैं । वैसे इन दो मामलों में दो दल आ गए हैं, तीसरे दल के बाहर रहने से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला क्योंकि उसका दामन पहले ही काला है । अब कोई अंध भक्त हो तो कहना ही क्या वरना सबको समझ आ जाना चाहिए कि राजनीति के हमाम में सब नंगे हैं और राजनेताओं से ज्यादा उम्मीद ठीक नहीं क्योंकि नंगी क्या नहाएगी और क्या निचोड़ेगी ?
धन्यवाद 

No comments:

Post a Comment

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin