साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Tuesday, December 12, 2017

जानवर पैदा कर ; चर्चामंच 2815

किताबों की दुनिया -155 

नीरज गोस्वामी 

या फिर हमें भी इक चराग़ लेने दो ... 

Digamber Naswa 

हाथो में पहली बार जब उसका हाथ आया था 

Deepak Saini 

बुनकर थी सांसे !!! 

सदा 
 SADA 

इक रास्ता है ज़िन्दगी जो थम गए तो कुछ नहीं... 

गौतम राजऋषि 

आदमी ऐसा क्यों होता है ? 

प्रतिभा सक्सेना 

दर्द का भाष्य 

अनुपमा पाठक 

Depression and its symptoms (HINDI-l ) 

Virendra Kumar Sharma 

सुप्रभातम्! जय भास्करः! ६९ ::  

सत्यनारायण पाण्डेय 

अनुपमा पाठक 

लोकपर्व :  

मालवा निमाड़ का संजा उत्सव 

ब्लॉ.ललित शर्मा 

सर्द हवा की थाप....कुसुम कोठरी 

yashoda Agrawal 

''तभी लेंगे शपथ ........'' 

Shalini Kaushik 

जानवर पैदा कर खुद के अन्दर 

आदमी मारना गुनाह नहीं होता है 

सुशील कुमार जोशी 

कार्टून :- राम भली करेंगे 

Kajal Kumar 

10 comments:

  1. विस्तृत चर्चा मंच द्वारा आज ...
    आभार मुझे भी शामिल करने का ...

    ReplyDelete
  2. विस्तृत चर्चा मंच द्वारा आज ...
    आभार मुझे भी शामिल करने का ...

    Good mix of a spectrum of all inclusive blogs ,Dohavali ,Gazals and all that .

    ReplyDelete
  3. शुभ प्रभात
    बहुत सुन्दर
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
  4. सार्थक चर्चा।
    आभार रविकर जी।

    ReplyDelete
  5. सुन्दर मंगलवारीय रविकर चर्चा में 'उलूक' के सूत्र का भी जिक्र करने के लिये आभार रविकर जी।

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  7. sundar charcha .meri post ko sthan dene hetu hardik dhanyawad

    ReplyDelete
  8. बेहतरीन सूत्र अनुपम चर्चा ...

    ReplyDelete
  9. बेहतरीन सूत्र अनुपम चर्चा ...

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"जीवित हुआ बसन्त" (चर्चा अंक-2857)

मित्रों! मंगलवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- &...