Followers

Search This Blog

Sunday, August 25, 2019

"मेक इन इंडिया " (चर्चा अंक- 3438)

स्नेहिल अभिवादन   
रविवार की चर्चा में आप का हार्दिक स्वागत है|  
देखिये मेरी पसन्द की कुछ रचनाओं के लिंक |  
 - अनीता सैनी 
-------

 "कृष्णचन्द्र गोपाल" 

 (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

 

उच्चारण  

-------

कृष्ण का प्रेम  

My Photo

 उम्मीद तो हरी है  

------

नँद नन्दन कित गये 


-----
--------



कविताएँ


--------


चुप मत रह एक लप्पड़ मार के तो देख 




11 comments:

  1. सुन्दर और सार्थक चर्चा।
    --
    आपका आभार अनीता सैनी जी।

    ReplyDelete
  2. अनीता जी
    बहुत ही बढ़िया काम कर रही हैं आप ,, सुंदर लिंक संजोये हैं आपने...आपके लगन के लिए आपजो बधाई


    आह ! कृष्णमयी हुआ पढ़ा है मंच। ..कृष्णरंग से सराबोर। ...


    खूबसूरत संयोजन।

    मेरी रचना को स्थान देने के लिए धन्यवाद। .युहीं साथ बनाएं रखें

    इन व्यस्तताओं से बचने के बहाने
    तलाशता आदमी
    हमेशा व्यस्त नजर आता है !!

    @संजय भास्कर जी। ..:) .......बहुत बढ़िया और सार्थक रचना। ...बधाई आपको


    आपका आभार अनीता सैनी जी

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा. मेरी कविता शामिल की. आभार.

    ReplyDelete
  4. बेहतरीन लिंक्स एवम प्रस्तुति

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति में मेरी पोस्ट शामिल करने हेतु आभार!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर चर्चा प्रस्तुति मेरी रचना को मंच पर स्थान देने के लिए आपका हार्दिक आभार सखी

    ReplyDelete
  7. देर से आने के लिए खेद है, कृष्ण रंग में रचा चर्चा मंच, मुझे शामिल करने के लिए आभार !

    ReplyDelete
  8. सुंदर चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  9. बहुत ही सुंदर अंक दी
    उम्दा रचनाएं
    मुझे यहाँ स्थान देने के लिए आभार आपका सादर
    🙏

    ReplyDelete
  10. बड़ी मेहनत से सजा -संवार कर तैयार बेहतरीन लिंक्स का ज्ञानवर्धक संकलन । आपको और सभी ब्लॉगर साथियों को बधाई ।आपने मुझे भी जगह दी । हार्दिक आभार ।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।