चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, January 13, 2011

एक्सप्रेस चर्चा्……………चर्चा मंच

दोस्तों आज सिर्फ लिंक्स ही लिंक्स ...........बहुत बिजी चल रही हूँ सिर्फ इतने से कम चला लेना………और हाँ, लोहडी की सभी को हार्दिक शुभकामनायें और बधाई

आलंबन

 ख्यालो के तबादलों के बीच कम्प्यूटरी हस्तक्षेप ....... जारी है !!!!!

कुछ अच्छी यादें , मित्रों से मिलने की-सतीश सक्सेना

अभिव्यक्ति की आजादी

"धन्यवाद करता हूँ सबका" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

कर्मनाशा के सिद्धेश्‍वर ने ब्‍लॉगर सम्‍मेलन के बारे में कहा है कि .....

 तोरी सावरी सुरत - मीरा बाई के पद

 एक प्रकरण

ऑटोग्राफ भाग दो

जीने की शर्तये हैं

मोहब्बत के बीज

सामाजिकता का फैलाव

इसे पढ़कर शायद ही आप भूल पाएं...खुशदीप

खटीमा ब्‍लागर मीट की दूसरी किश्‍त

चोर शीशे [कुछ नन्ही नज़्में]

पुरूषार्थ"विवेक सूत्र " 

अनुशासन की बलिवेदी पर....


ये हैं हमारे भारत दुर्भाग्य विधाता !

THE GHOST (भूत) 

अश्क

विवाह के बारे मं इस्लाम का द्रिष्टिकोण 

 

कसक सीने की ... 

 

वह लडकी 

 

ठंड के मारे सब सुन्न 

 

कविता:-वही मेरा गाँव है 

 

11.1.11....कुछ तो खास है 

 

 फिनिक्स 

 

ज़माना लुटेरा है आंसू ख़ज़ाना 

 

'आवारगी की कैद' 

 

ब्लाग-जगत की ये विकास-यात्रा... 

 

प्रदूषण और टेंशन हैं फर्टिलिटी के दुश्मन 

 

एक कहानी......

 

पांचाली

 

जीने की शर्त 

 

वह लडकी 

 

कसक सीने की ... 

 

ठूँठ .... (लघुकथा) 

 

पाप का गणित 

 

आंसू , प्रकृति का एक उपहार. 

 

सर्दी वादियों में सुलगते सवाल 

 

युगद्रष्टा "स्वामी विवेकानंद"---------- मिथिलेश

 

 

 

 

बस दोस्तों अब विदा .........अगले वीरवार तक के लिए.

23 comments:

  1. charcha me shamil karne k liye shukriyaa ....:)

    ReplyDelete
  2. जल्दी जल्दी में भी काफी कुछ समेटा !

    ReplyDelete
  3. वन्दना जी!
    आज की इस एक्सप्रेस चर्चा में सभी लिंक्स
    बहुत बढ़िया लगाए हैं आपने!

    ReplyDelete
  4. सराहनीय प्रस्तुति. आभार .

    ReplyDelete
  5. सीधे लिंक्स ही देख लिये हैं।

    ReplyDelete
  6. वाकई एक्सप्रेस चर्चा ....अच्छे लिंक्स मिले

    ReplyDelete
  7. सारे लिंक्स बहुत जल्दी पकड़ में आ गये , धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  8. काफी सामग्री है ...अभी एक लिंक ही खोल पाया हूँ ! धन्यवाद आपका

    ReplyDelete
  9. itni thand ke ungliyan jam jayen aapne to phir bhi kam kar liya bahut sarthak charcha bahut achchhe links..badhai..

    ReplyDelete
  10. जल्‍दबाजी में भी काम के लिंक्स परोस ही दिया आपने !!

    ReplyDelete
  11. व्यस्तता में भी काफी कुछ समेट लिया.
    बढ़िया चर्चा.

    ReplyDelete
  12. बहुत बढ़िया !

    ReplyDelete
  13. जल्दी में ही सही उद्देश्य पूरा हो रहा है । मेरे बलाग की भी लिंक 'ब्लाग-जगत की ये विकास यात्रा' को शामिल करने के लिये आपका धन्यवाद और लोहडी पर्व की बधाईयां...

    ReplyDelete
  14. धन्यवाद ,वन्दना जी!सभी लिंक्स बहुत बढ़िया लगाए हैं.

    ReplyDelete
  15. मेरी रचना को शामिल करने के लिए आभार मै तो समझा था की आप मुझे भूल ही गयीं , धन्यवाद

    ReplyDelete
  16. अग्रीगेटर की तरह सारे टटोल डाले। आभार।

    ReplyDelete
  17. अग्रीगेटर की तरह सारे टटोल डाले। आभार।

    ReplyDelete
  18. वन्दना जी आपने तो जल्दी मे भी अच्छे लिंक्स हमे पढने को दे दिये । हमारे अश्क को चर्चा मे शामिल करने के लिये धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  19. एक्सप्रेस चर्चा ..... बढ़िया लिंक्स

    ReplyDelete
  20. स्वास्थ्य-सबके लिए ब्लॉग की पोस्ट लेने के लिए आभार।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin