समर्थक

Saturday, January 29, 2011

आपका नया चर्चाकार:- Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)‍‍‍-----स्वागतम्----



                                      ॐ साई राम
                 "सुरज की पहली किरणों के साथ मै आया आज यहाँ,
                 आप सबों से मिल कर जाना कुछ भी तो है नहीं नया।
                          मै वही हूँ,साथ आपके,आप मेरे साथ रहे,
      नयी चर्चा के प्रथम दिवस पर,काव्य छन्दों की हरदम बरसात रहे।"
                               ------(सत्यम शिवम)------

आज चर्चा मंच पर मेरा पहला प्रयास....कोशिश यही रही है कि आप सबों को इक अनुठी चर्चा से अवगत कराऊँ...पर फिर भी कोई भी त्रुटी हो तो जरुर आगाह करे............मुझे अपने विचारों से जरुर अवगत कराये,जिससे मेरा उत्साह बढ़ेगा......धन्यवाद.............


हे माधव!नैन मेरे तुमको देख नहीं पाते,
किन नैनों से देखु तुमको,
जो तुम मुझको दिख जाते।


"गणतंत्रता के क्या है मायने आज हमारे देश में।हमें अपनी 62वीं गणतंत्र दिवस के मौके पर यह जानने का पूरा हक है……."

"चर्चा मंच एक ऐसा साप्ताहिक इंद्रधनुषी मंच है,जो साहित्य की विविध शैलियों का संकलन है।यहाँ कविता,कहानी,लेख,हास्य रस,अध्यात्म रस,भक्ति रस तथा बहुत सी विशेष काव्य रसों का वर्णन होता है।"
                          "साहित्य की रंगोली है चर्चा मंच"

अब शुरु करता हूँ आज की चर्चा,
सर्वप्रथम कुछ सुंदर कविताएँ
        "काव्य-रस"

1.)साधना जी "वटवृक्ष" की छावँ में कहती है:-                  
कहीं यह तुम्हारे आने की आहट तो नहीं                                                                                                                                                                                
2.)संजु जी के "मेरे जज्बात" से निकलती आवाज 
                                






            3.)वन्दना गुप्ता जी का "एक प्रयास" लाया रंग
                                 मधु हो तुम   

4.)डा, श्याम गुप्त जी की कविता "Lucknow Bloggers' Association" पर 
             5.)पी.सी. गोदियाल "परचेत” जी कर रहे है "अंधड़" से 
                                      पलायन

 6.)डॉ. नागेश पांडेय "संजय" की "अभिनव सृजन" से तमन्ना
                                पास यदि रोबोट होता 
                                     (बालगीत)    

7.) क्षितिजा जी की भावपूर्ण "बातें...."







                                                                                                         

8.)मनोज कुमार जी "राजभाषा हिन्दी" में श्यामनारायण मिश्र जी की कविता कहते है

               9.)सुमन "मीत" जी की "अर्पित"सुमन"" में क्यूँ  हुए.....
                                         तन्हा हम
     
                                                                                


10.)विजय कुमार सप्पति जी की "THE SOUL OF MY POEMS कविताओं के मन से" लगती है अब 
11.)राजीव जी "अतीत से वर्तमान तक" मनन करते है 
12.)अनीता जी के "श्रद्धा सुमन" के पुष्प गाये
                                ज्ञान का सूरज बने तुम
                                                                                                                                                                      
       13.)निवेदीता जी के "संकलन" से मीना कुमारी की एक प्यारी गजल
                               आगाज़ तो होता है.......
                                                                                                                                                                                    
             14.)केवल राम जी "चलते -चलते" .... समझ गये अब 
                              जिन्दगी है एक दिन

                  15.)अख्तर खान"अकेला" जी कह रहे है
                                उदास ना हो....
16.)अना जी की "कविता" से छलकती 
17.) अब मेरा एक प्रश्न शालिनी कौशिक जी के "शब्दकार" से 
                          
 मुझे लगता है इतनी सारी प्यारी कविताएँ पढ़ आप भी खो गये होंगे
 इन गम्भीर चिंतन,मनन की बातों में....तो क्यूँ न अब थोड़ा हँसना हो जाएँ
                                 हास्य रस

                         18.)"हास्य फुहार" लाया है 
                                उदास खदेरन!
19.) कीर्तिष भट्ट ने बताया "बामुलाहिजा" पर
20.)सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट) जी "कार्टूनिस्ट सुरेश की पेशकश पर" हँसना जरुर

अब है बारी कुछ उम्दा लेखों की ........
    गद्य रस
21.)खुशदीप की जादुई ब्लाग "देशनामा" से 
22.)मनोज कुमार जी "मनोज" पर लेकर आये है आचार्य परशुराम राय जी की एक ज्ञानवर्धक लेख
23.)सुशील बाकलीवाल जी के "नजरिया" में कैसा है
24.)देव जी का "Just be who you are" पर उपदेश
25.)पूजा उपाध्याय जी की "लहरें" कर रही है
26.) राज भाटिया जी "पराया देश" में जान गएँ आखिर
27.)अनिल कान्त जी ने "मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति" से सुझाया
28.)रीतिका रस्तोगी जी "फुर्सत के पल में" गढ़ती है अपनी सुंदर 

अब जरा अपनी नन्ही गुड़िया पाखी से भी तो मिल लीजिए
29.)अक्षिता पाखी की "पाखी की दुनिया" में देखे

अवसान की ओर चलते हुए अब कुछ अध्यात्म रस का पान हो जाये.....
"अध्यात्म रस" 
30.)स्‍वामी आनंद प्रसाद 'मानस' द्वारा "ओशो गंगा" में गोते लगा कर 
31.)सदा जी की "सद्विचार" पर विदूर नीति
32.)संगीता पुरी जी लायी है "आज का राशि फल"

कुछ तकनीकी ज्ञान भी पा ले चलते चलते.....
33.)रवि रत्लामी जी के "छींटें और बौछारें" में भींगते हुए 
34.)शालिनी कौशिक जी लेकर आयी है
(मेरे लिए खुशखबरी लगातार तीसरी बार मै बना विजेता)
अगले रविवार से आप भी आईये ना....

और अंत में आदरणीय शास्त्री जी को बधाई.....
35.)"उच्चारण पर.........".

                          “लगता है बसन्त आया है!” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”)

           (पिछले वर्ष आज ही के दिन यह रचना लिखी थी!!)
"आवाज" पर...

बातों बातों में कब समय बीत गया पता ही ना चला.....
आ गयी अब हमारे जाने की बारी,
पर इस वादे के साथ की अगले शनिवार को फिर मिलूँगा....

आप अपने विचारों से मुझे जरुर अवगत कराए,कैसी लगी मेरी आज की चर्चा...

-------सत्यम शिवम--------  

37 comments:

  1. लो जी हम भी सुरज की अंतिम किरण के संग अपनी टिपण्णी देने पहुच गये, बहुत सुंदर चर्चा, ओर बहुत से नये लिंक धन्यवाद
    हम चले सोने राम राम

    ReplyDelete
  2. यहाँ आपका पहला प्रयास बहुत सुन्दर और प्रशंसनीय
    रहा |बहुत बहुत बधाई अच्छी लिंक्स के लिए भी |
    आशा

    ReplyDelete
  3. सत्यम जी ! सबसे पहले बधाई स्वीकार करें ... मैंने परसों शाम को ही आपकी पोस्ट देखी थी जान गयी थी की आप भी हमारे साथ जुड गए हैं... बहुत खुशी हुवी.. स्वागत है आपका...

    और आपने चर्चा भी शानदार की ... बधाई..

    ReplyDelete
  4. आपकी इस नई भूमिका में आपका स्वागत...

    सिलसिलेवार महत्वपूर्ण लिंक्स के प्रस्तुतिकरण के साथ ही मेरी एक दिन की बादशाहत को भी विस्तार देने के लिये आपका विशेष आभार...

    ReplyDelete
  5. चर्चाकार के रूप में हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. यह पहली चर्चा पाठकों के लिए उपयोगी है !!

    ReplyDelete
  6. aapka swagat ........bahut badhiya links ..shubhakamnaaye

    ReplyDelete
  7. आपका यह अनोखा प्रयास और श्रम सबके लिए बहुत सार्थक है,एक साथ इतने सारे रसों का आस्वादन आपने करा दिया आभार एवं हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  8. satyam -pahli bar me hi baji mar li hai aapne .sarthak charcha ke liye badhai .meri rachna ko bhi charcha me sthan dene ke liye hardik dhanywad .

    ReplyDelete
  9. mitra
    namskar ,
    shubh kamana apke pahle prayas aur
    sundar sankalan ke liye .achhe links
    deyen hain ,tatha dayara ko thoda
    badhane ki aavshyakta hai .shubh kamn
    -nayen apke sath hain .abhar.

    ReplyDelete
  10. pahli charcha itni sateek v suvyasthit prastut karne ke liye hardik shubhkamnaye .aabhar

    ReplyDelete
  11. सत्यम जी, सार्थक चर्चा के लिये बधाई व अनेकों शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  12. sir ji , aapki mehnat ko salaam , aapne itna accha prastutikaran kiya hai ki , kya kahun... waah waah waah ..

    meri kavita ko sthaan dene ke liye shukriya .

    aapka
    vijay

    ReplyDelete
  13. सत्यम जी ... बहुत अच्छी चर्च रही ... कोशिश होगी सब लिंक्स पर जाने की ...मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ... शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  14. satyam ji sabse pahle to congrats itne bade manch se judne ke liye aur uske baad tippani, bahut hi achchi tarah se aapne charcha pesh ki bahut acha laga

    ReplyDelete
  15. चर्चा मंच के शनिवार के चर्चाकार
    इं. सत्यम् शिवम जी का हार्दिक स्वागत करता हूँ!
    --
    आपने तो पहले ही दिन धाक जमा दी!
    --
    बहुत उम्दा लिंकों की चर्चा की है आपने!

    ReplyDelete
  16. सबसे पहले तो सत्यम जी आपका चर्चा मंच पर स्वागत है ………………आपने तो पहली ही बाल पर छक्का लगा दिया…………अब तो सेंचुरी पक्की है…………बहुत ही उम्दा लिंक्स के साथ बेहतरीन चर्चा……………आपका अन्दाज़ पसन्द आया।

    ReplyDelete
  17. वाह इंजीनियर साहब,
    पहली चर्चा में ही डबल सेंचुरी जड़ने जैसा कारनामा कर दिया...बधाई...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  18. आपका स्वागत है... आपकी पहली चर्चा बहुत बेहतरीन रही...

    ReplyDelete
  19. सत्यम शिवम जी ,
    चर्चा मंच पर आपका स्वागत है ..बेहतरीन चर्चा ...अच्छा प्रयास ..अच्छे लिंक्स का संकलन शानदार रहा ..बधाई

    ReplyDelete
  20. sarthak charcha.achhe links dene ke liye abhaar.......

    ReplyDelete
  21. सत्‍यम जी आपका प्रथम प्रयास तो सभी को भा गया बहुत ही बेहतरीन लिंक आपने उपलब्‍ध कराये ...बहुत-बहुत बधाई ।

    ReplyDelete
  22. सुंदर चर्चा| बधाई भाई सत्यम शिवम जी|

    ReplyDelete
  23. सर्वप्रथम आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद...जो आप अपने विचारों से अवगत करा के मेरा उत्साह बढ़ा रहे है...आशा है आप यूँही हमेशा मेरा मार्गदर्शन करेंगे....
    सभी श्रेष्ठजनों को मेरा प्रणाम,मेरे सहउम्र वाले मेरे सभी दोस्तों को प्यार,
    साथ ही चर्चा मंच के सारे सहयोगीयों को मेरा आभार....
    मेरा प्रयास हमेशा कुछ बेहतर करने का,आप बस हरदम आशीर्वाद बनाये रखे.....।

    ReplyDelete
  24. @Er.सत्यम शिवम् जी , बहुत खूब, एक मंझे हुए चर्चाकार/ ब्लोगर की भांति आपने चर्चा को प्रस्तुत किया ! मेरी रचना सम्मिलित करने हेतु आपका आभार एवं शुभकामनाये!

    ReplyDelete
  25. बहुत बढ़िया लिनक्स मिले। कुछ नए ब्लोगर्स से भी परिचय हुआ।
    उम्दा चर्चा।

    ReplyDelete
  26. बहुत सुन्दर चर्चा है सत्यम शिवम जी ! आपका प्रथम प्रयास ही अत्यंत प्रशंसनीय एवं वन्दनीय है ! सभी लिंक्स बहुत शानदार हैं ! मेरी रचना को आपने इसमें स्थान दिया ! आपकी आभारी हूँ ! बहुत-बहुत धन्यवाद एवं शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  27. sabse pahle swagatam!!

    ek baar me itne link..kahan kahan jaun:)

    ReplyDelete
  28. " संकलन" को सराह कर आप सबने एक नई ऊर्जा दे दी । आप सभी का धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  29. सत्यम शिवम जी आप का ये प्रयास बहुत ही संतुलित और सराहनीय है । बधाई !!

    ReplyDelete
  30. @निवेदीता जी.....मेरा हमेशा यही प्रयास रहेगा,कि नये ब्लाग जिनके बारे में कोई नहीं जानता,उसे इस मंच के माध्यम से सबके बीच ले आऊँ।तभी मै सही मायने में सफल होऊँगा......आपका "संकलन" तो बहुत ही सुंदर है.....बस हमेशा ऐसे ही मेरा उत्साहवर्धन करे...........धन्यवाद।

    ReplyDelete
  31. बहुत सुन्दर लिंक्स..आपका पहला प्रयास बहुत सफल और सराहनीय है..

    ReplyDelete
  32. शिवम् जी आपका प्रयास बहुत अच्छा लगा ....मेरी पोस्ट को लेने के लिए शुक्रिया ....

    ReplyDelete
  33. बेहतरीन लिंक्स सुव्यवस्थित चर्चा.

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin