समर्थक

Thursday, July 02, 2015

चर्चा - 2024

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है 
एक तरफ आज साहित्यिक पुस्तकों को प्रकाशक अपने रिस्क पर प्रकाशित नहीं कर रहे ( जो प्रकाशित होती हैं वो रचनाकार के खर्चे पर, जिसमें प्रकाशक की कमाई भी शामिल होती है ) वहीं अनेक संस्थाएं ऐसी भी हैं जो साहित्यकारों को पुरस्कृत करके उनको प्रोत्साहित कर रही हैं | इस दिशा में हरियाणा साहित्य अकादमी के पूर्व निदेशक श्याम सखा श्याम जी का योगदान बेहद अहम है | मसी कागद की तरफ़ से युवा कहानीकारों को पहचान देने का एक प्रयास है युवा सम्मान  |

 मसि कागद युवा सम्मान नियमावली 
चलते हैं चर्चा की ओर 

सच होता बलवान 

जगूड़ी की काव्य-यात्रा 
मेरा फोटो
My Photo
मेरा फोटो
मैं ऐसा दिखता हूं...
धन्यवाद  

No comments:

Post a Comment

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin