Followers

Thursday, September 24, 2015

चर्चा - 2108

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 
23 सितम्बर हरियाणा में शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है और यह राष्ट्रकवि रामधारीसिंह दिनकर जी का जन्म दिन भी है । दिनकर की कविताओ में ओज, विद्रोह, आक्रोश और क्रान्ति की पुकार है तो दूसरी ओर कोमल श्रृंगारिक भावनाओं की अभिव्यक्ति है । आओ ज्ञानपीठ विजेता इस कवि को नमन करें 
चलते हैं चर्चा की ओर
 
My Photo

Amrita Tanmay
मेरा फोटो
My Photo
My Photo
My Photo
facebook auto like image के लिए चित्र परिणाम
धन्यवाद 
******

No comments:

Post a Comment

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

विदेशी आक्रमणकारी बड़े निष्ठुर बड़े बर्बर; चर्चामंच 2816

जिन्हें थी जिंदगी प्यारी, बदल पुरखे जिए रविकर-   रविकर     "कुछ कहना है"   (1) विदेशी आक्रमणकारी बड़े निष्ठुर बड़े बर्...