Followers

Thursday, October 20, 2016

चर्चा - 2501

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है
सबसे पहले कुछ लिंक सुहागिनों के पवित्र त्योहार से संबंधित 

दाम्पत्य प्रेम का उत्सव है करवा चौथ

देख लेना तुम गगन का चाँद

चौथ क्या दोगे ?
मेरी फ़ोटो
करवा चौथ
My photo
उपवास..

चाँद देखता चाँद 
अब चलते हैं कुछ अन्य लिंक की ओर
Image result for चैटिंग
हँसी बहुत आया करती है

वृहद, विविध, वैचारिक विवेचना का मंच तैयार है

क्या मैं 'जिंदा' हूँ

सीरज सक्सेना के साथ पीयूष दईया की बातचीत

देश-निकाला दिया वन-देश से.

साहब ने की बागबानी
मेरा फोटो
मैं संग्रहित करता रहा 

क्या सच में प्यार जिंदा है ??

करवाचौथ के बहाने
My photo
अनवरत चलने वाली कहानी 
Presentation2 KAISE  KAISE .jpg
मित्र ये कैसे-कैसे 

तुम और मैं 
मेरे बारे में
किस्से प्यार के

8 comments:

  1. शुभ प्रभात
    दिल बाग-बाग हो गया
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर करवाचौथमयी चर्चा।
    आपका आभार आदरणीय दिलबाग विर्क जी।

    ReplyDelete
  3. 2500 का अंक पार कर चुका आज चर्चा । बधाई और शुभकामनाएं ।

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार!

    ReplyDelete
  5. सुन्दर चर्चा ! बेहतरीन लिंक्स ! मेरी हास्य कथा 'साहब ने की बागवानी' को आज के मंच पर स्थान देने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आभार दिलबाग जी !

    ReplyDelete
  6. भाई विर्क जी आपका हृदय से आभार |सुन्दर लिंक्स

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

जानवर पैदा कर ; चर्चामंच 2815

गीत  "वो निष्ठुर उपवन देखे हैं"  (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')     उच्चारण किताबों की दुनिया -15...