समर्थक

Monday, May 28, 2012

नज़र बनाये रहिये (सोमवारीय चर्चामंच-893)

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ का नमस्कार! सोमवारीय चर्चामंच पर पेशे-ख़िदमत है आज की चर्चा का-
 लिंक 1- 
बदल जाते तो अच्छा था -डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'
उच्चारण
_______________
लिंक 2-
दीदी (कहानी) -ह्यूमन
My Photo
_______________
लिंक 3-
कैसा लगता? -निरंतर
मेरा फोटो
_______________
लिंक 4-
कालापि -अनुपमा त्रिपाठी
_______________
लिंक 5-
नजर बनाये रहिये... -डॉ. वेद व्यथित
_______________
लिंक 6-
मेरा फोटो
_______________
लिंक 7-
नेता जी -आई.एस.एच. मिश्र
My Photo
_______________
लिंक 8-
भारतीय काव्यशास्त्र–114 -आचार्य परशुराम राय
मेरा फोटो
_______________
लिंक 9-
हँसी बहुत अनमोल है -महेन्द्र वर्मा
My Photo
_______________
लिंक 10-
_______________
लिंक 11-
_______________
लिंक 12-
_______________
लिंक 13-
निरामिष
_______________
लिंक 14-
भव खंडना तेरी आरती -राजीव कुलश्रेष्ठ
मेरा फोटो
_______________
लिंक 15-
प्रतिदान -उदयवीर सिंह
मेरा फोटो
_______________
लिंक 16-
_______________
लिंक 17-
कालान्तर -पुरुषोत्तम पाण्डेय
मेरा फोटो
_______________
लिंक 18-
एक नदी थी -वाणी गीत
_______________
लिंक 19-
आज भी कबीर जनमानस में रचे बसे हैं -प्रेम सागर सिंह (प्रेम सरोवर)
_______________
लिंक 20-
_______________
लिंक 21-
जाने कैसी बात हुई -आशा जोगळेकर
मेरा फोटो
_______________
लिंक 22-
जीवन एक लकीर सा -आशा सक्सेना
मेरा फोटो
_______________
लिंक 23-
________________
लिंक 24-
फिर चल देना -अनुपमा पाठक
मेरा फोटो
________________
और अन्त में
लिंक 25-
ग़ाफ़िल की अमानत
________________
आज के लिए इतना ही, फिर मिलने तक नमस्कार!

16 comments:

  1. शुभप्रभात ..!!
    बढ़िया लिंक्स ....अच्छी चर्चा ....चंद्र भूषण जी !!
    आभार मेरी रचना को स्थान दिया ....!!

    ReplyDelete
  2. बेहतरीन लिंक्स के साथ बेहतरीन चर्चा !

    ReplyDelete
  3. चर्चा पच्चीसी के क्या कहने!
    अच्छे लिंकों के साथ बढ़िया चर्चा!

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर सूत्रों से सुसज्जित चर्चा के लिए बधाई गाफिल जी

    ReplyDelete
  5. सभी लिंक्स एक से बढकर एक..
    सुंदर चर्चा

    ReplyDelete
  6. सुन्दर सूत्रों से सुसज्जित चर्चा

    ReplyDelete
  7. बहुत ही बेहतरीन लिंक्स है

    नजर बनाये रहिये... -डॉ. वेद व्यथित....को स्थान दिया ..आभार

    ReplyDelete
  8. कमाल कर दिए आप गाफ़िल साहब कबीर से लेकर आज के नीरू से मिलवा दिए ,गुर्दा चोरी का किस्सा सुना दिए ,आंसू तो ऐसे में ज्यादा आयेंगे ही भज राधा रमण ...बढ़िया चर्चा .
    और यहाँ भी दखल देंवें -
    ram ram bhai
    सोमवार, 28 मई 2012
    क्रोनिक फटीग सिंड्रोम का नतीजा है ये ब्रेन फोगीनेस
    http://veerubhai1947.blogspot.in/

    ReplyDelete
  9. अच्छे लिंक्स दिए हैं आपने।
    बहुत-बहुत आभार !

    ReplyDelete
  10. आभार मेरी रचना को स्थान दिया
    बेहतरीन लिंक्स के साथ बेहतरीन चर्चा !

    ReplyDelete
  11. अपने दिल में थोड़ी सी जगह चर्चा मंच के रूप में देने के लिए मिश्र जी आपका आभार ।

    ReplyDelete
  12. आपके ध्यानाकर्षण से ही कुछेक छूटे लिंकों पर जाना संभव हुआ।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin