साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Monday, May 21, 2012

ये है बाम्बे मेरी जान (सोमवारीय चर्चामंच-886)

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ का नमस्कार! सोमवारीय चर्चामंच पर पेशे-ख़िदमत है आज की चर्चा का-
 लिंक 1- 
राम राम भाई! ये है बाम्बे मेरी जान -वीरू भाई
मेरा फोटो
_______________
लिंक 2-
मेरा फोटो
_______________
लिंक 3-
_______________
लिंक 4-
भारतीय काव्यशास्त्र–113 -आचार्य परशुराम राय
_______________
लिंक 5-
किताबें कुछ कहना चाहती हैं धीरेन्द्र जी की जुबानी
_______________
लिंक 6-
उदास लम्हों से राब्ता है प्रस्तुति- शाज़ रहमानी, प्रस्तोता- डॉ. अयाज़ अहमद
मेरा फोटो
_______________
लिंक 7-
My Photo
_______________
लिंक 8-
IMG_3722
_______________
लिंक 9-
फोटो फीचर-वनखण्डी महादेव -डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'
_______________
लिंक 10-
कविता रावत द्वारा सुनाया जा रहा प्यार का ककहरा!
_______________
लिंक 11-
clip_image001
पंत
_______________
लिंक 12-
ख़ुद की तलाश में रश्मि प्रभा जी
_______________
लिंक 13-
रसोई में सेहत -कुमार राधारमण
मेरा फोटो
_______________
लिंक 14-
लहलहाती फसल अफीम की -उदय वीर सिंह
मेरा फोटो
_______________
लिंक 15-
_______________
लिंक 16-
हत्या : एक दृष्टिकोण ये भी -निवेदिता श्रीवास्तव
_______________
लिंक 17-
_______________
लिंक 18-
जब भी -दीप फर्रूखाबादी
My Photo
_______________
लिंक 19-
क्षितिजा की समीक्षा -डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'
_______________
लिंक 20-
_______________
और अन्त में
लिंक 21-
ग़ाफ़िल की अमानत
________________
आज के लिए इतना ही, फिर मिलने तक नमस्कार!

25 comments:

  1. बेहतरीन प्रस्तुति आभार चन्द्र भूषण जी

    ReplyDelete
  2. अंदाजे गाफिल है ये कुछ अलग सा
    चर्चा मंच बनाया है आज कुछ दुल्हन सा।

    ReplyDelete
  3. सदैव की तरह उत्कृष्ट संयोजन, रोचक व भावपूर्ण सृजन का प्रतिनिधित्व करती चर्चा .....शुभकामनायें मिश्र जी /

    ReplyDelete
  4. गाफिल जी बहुत सुन्दर सूत्रों से सजा चर्चा मंच ..आभार

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर चर्चा गाफिल जी |
    बधाई स्वीकारें |

    ReplyDelete
  6. सुंदर चर्चा,,,,रचना शामिल करने के लिये आभार,,,,,,

    ReplyDelete
  7. सोमवार की स्तरीय चर्चा करने के लिए आभार!

    ReplyDelete
  8. अच्छी चर्ता
    बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  9. बहुत अच्छी और बहुत सी लिंक्स के लिए बधाई |
    आशा

    ReplyDelete
  10. बहुत बढ़िया लिंक्स प्रस्तुति के साथ मुझे शामिल करने के लिए आभार!

    ReplyDelete
  11. वाह ...बहुत ही बढिया लिंक्‍स चयनित किये हैं आपने ...आभार ।

    ReplyDelete
  12. बेहतरीन प्रस्तुति ...... आभार !

    ReplyDelete
  13. बढ़िया लिंक्स .

    ReplyDelete
  14. सुन्दर चर्चा... बढ़िया लिंक्स... सादर आभार.

    ReplyDelete
  15. चर्चा मंच का नया अंदाज बहुत अच्छा लगा। मनोज ब्लॉग से भारतीय काव्यशास्त्र-113 को इस मंच पर स्थान देने के लिए हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  16. behtarin links ka sanyojan
    badhiya charcha manch
    :-)

    ReplyDelete
  17. हमें सर चढाने शुक्रिया ,
    हमें आजमाने का शुक्रिया ,
    जिसे दिल दिया उसे भूल जा ,
    उसे याद आने का शुक्रिया .
    चर्चा मंच की सुन्दर सजधज के लिए बधाई भी आभार भी ,हमें आपने शरीक किया ,तहे दिल से आपका शुक्रिया .यार एक ग़ज़ल इसी शुक्रिया पे ,लिख ,
    करू आपका में आज से ही ,शुक्रिया .
    यह बोम्बे मेरी जान (चौथा भाग )
    http://veerubhai1947.blogspot.in/
    तेरी आँखों की रिचाओं को पढ़ा है -
    उसने ,
    यकीन कर ,न कर .

    ReplyDelete
  18. आपकी चर्चा साफ-सुथरी और मन मिहक होती है।
    लिंक्स बड़े काम के हैं।
    मंच पर अपने को पाकर बड़ी खुशी हुई।

    ReplyDelete
  19. वाह जी , चुने हुए इक्कीस नगीनों से सज़ा हुआ चर्चा मंच बेहद खूबसूरत और प्रभावी लगा । अपनी पोस्ट को पाकर प्रसन्नता हुई । बहुत बहुत आभार

    ReplyDelete
  20. सुन्दर चर्चा
    पधारें ..'गीत बोल उठे' पर

    ReplyDelete
  21. बहुत सुन्दर चर्चा।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

(चर्चा अंक-2853)

मित्रों! मेरा स्वास्थ्य आजकल खराब है इसलिए अपनी सुविधानुसार ही  यदा कदा लिंक लगाऊँगा। शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  ...