चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Tuesday, October 04, 2016

वन्दना "अपना शीश नवाता हूँ" चर्चा मंच ; 2484


वन्दना 

"अपना शीश नवाता हूँ" 

(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

वह मां है तेरी 

Asha Saxena 

गीतिका 

कालीपद "प्रसाद" 

तेरी बातें तेरी ख़ुशबू हैं .. 

नादिर खान 

yashoda Agrawal 

कालकाजी एवं इस्कान मंदिर दिल्ली 

Manu Tyagi 

ब्रह्म की आशिकी... 

डॉ. कौशलेन्द्रम 

हिन्दी का अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य 

(रूस के सन्दर्भ में ) :   

ल्युदमीला ख़ख़लोवा 

PAWAN VIJAY 

अधूरी सी रह गयी हूँ....! 

Sushma Verma 

आलू का कारखाना 

पहला कहाँ लगेगा भैया 

रायबरेली ,अमेठी या सुल्तानपुर ? 

Virendra Kumar Sharma 

3 comments:

  1. बहुत सुन्दर रंग-बिरंगी चर्चा।
    आपका आभार आदरणीय रविकर जी।

    ReplyDelete
  2. हमेशा की तरह लाजवाब रविकर चर्चा।

    ReplyDelete
  3. लाजवाब! http://hindivandana.com/end-of-pakistan-terror/

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin