समर्थक

Wednesday, October 05, 2016

खुला पत्र सलमान को / चर्चा मंच : 2486

खुला पत्र सलमान को 

Kumar Shiva 

सेवा कृतज्ञता और क्षमा 

सुज्ञ 

"पटाक्षेप" 

Priti Surana 

"जय-विजय पत्रिका अक्टूबर-2016 में 

मेरी ग़ज़ल प्रकाशित" 

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 

ओशो सही थे ? 

Dr.pratibha sowaty 

कर कुछ उतारने की कोशिश तू भी कभी 

'उलूक' 

सुशील कुमार जोशी 

पाकिस्तान तेरे टुकड़े होंगे 

इंशाअल्लाह इंशाअल्लाह 

haresh Kumar 

राष्ट्र वाद 

shyama arora 

स्तुति -  

माँ के नौ रूपों की 

माँ अम्बे गौरी 
शैलराज दुलारी
शक्ति दायिनी 

माता हमारी
वृषभ की सवारी
गहो प्रणाम

माँ जगदम्बे
लगा दे नैया पार
गहूँ चरण

हे शैलपुत्री
आई शरण तेरी
माता पार्वती

करो स्वीकार
माता भक्ति अपार
मैं कृपाकांक्षी

माँ आदिशक्ति
तू जगत जननी
बालक तेरे... 
Sudhinama पर 
sadhana vaid  

पाकिस्तान क्यों नहीं मानता? 

pramod joshi 

पाकिस्तानी खटमल 

Kirtish bhatt  

क्षणिकाएँ (हास्य-व्यंग्य).. वि

शाल शुक्ल 

yashoda Agrawal 

कार्टून :-  

जबरा मारे और रोने भी न दे ... 

4 comments:

  1. सार्थक चर्चा।
    रविकर जी आपका आभार।

    ReplyDelete
  2. सुन्दर बुधवारीय रविकर चर्चा । आभार 'कर कुछ उतारने की कोशिश तू भी कभी
    'उलूक' को स्थान देने के लिये ।

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार!

    ReplyDelete
  4. उम्दा लिंक्स व् संयोजन रविकर जी |

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin