साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Wednesday, October 26, 2016

पिता मुलायम हाथ से, आज खुजाता माथ- चर्चा मंच 2507


कुछ अच्छा ही होगा कल,.. 

Priti Surana 

इसलिए कीजिए चीनी सामान का बहिष्कार 

lokendra singh 

गागर में सागर पुस्तक मेले का शुभ समापन –  

डा रंगनाथ मिश्र को मेला संयोजक 

श्री देवराज अरोरा ने अपना गुरु घोषित किया-  

डा श्याम गुप्त

माया महा ठगनी हम जानी।। 

Virendra Kumar Sharma 

"प्राचीन स्वास्थ्य दोहावली"-2 

yashoda Agrawal 

गाँव नहीं रहा अब गाँव जैसा...3 

केवल राम 

दोहे  

"नहीं जेब में दाम" 

(डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

Image result for दिवाली पर सजे बाजार
मनमोहक सबको लगें, झालर-बन्दनवार।
जगमग करती रौशनी, सजे हुए बाजार।।

मन सबका ललचा रहे, काजू औ’ बादाम।
लेकिन श्रमिक-किसान की, नहीं जेब में दाम।।

5 comments:

  1. बहुत सुन्दर सतरंगी चर्चा।
    आपका आभार आदरणीय रविकर जी।

    ReplyDelete
  2. शुभप्रभात
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
  3. बढ़िया प्रस्तुति रविकर जी ।

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति
    आभार!

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर चर्चा।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

(चर्चा अंक-2853)

मित्रों! मेरा स्वास्थ्य आजकल खराब है इसलिए अपनी सुविधानुसार ही  यदा कदा लिंक लगाऊँगा। शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  ...