समर्थक

Tuesday, June 11, 2013

मंगलवारीय चर्चा( part 2) ---1272 आँखों ने आँखों से बाते कर ली....

     आज की मंगलवारीय  चर्चा में आप सब का स्वागत है राजेश कुमारी की आप सब को नमस्ते , आप सब का दिन मंगल मय हो अब चलते हैं आपके प्यारे ब्लॉग्स पर 

                                       

                                                            रूबी की डायरी ..

                                   chandra kanta at फरगुदिया - 

ऐसी की तैसी ....

Amrita Tanmay at Amrita Tanmay
*********************************************************************

एक रिश्ता प्यारा सा...

Archana at अपना घर -

ठौर कहाँ ...

shikha varshney at स्पंदन SPANDAN
*****************************************************************

श्रीमद्भगवद्गीता-भाव पद्यानुवाद (५२वीं कड़ी)

Kailash Sharma at Kashish - My Poetry -  

एक आशु गीत जो फेसबुक पर उपजा मेरे और आदरणीय सतीश सक्सेना जी के संवादों के बीच

Rajesh Kumari at HINDI KAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR -
************************************************************************

आँखों ने आँखों से बाते कर ली................

Shekhar Kumawat at काव्य वाणी

पर्यावरण दिवस

सरिता भाटिया at गुज़ारिश 

मैनें अपने कल को देखा,

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया at काव्यान्जलि

नारी व् सशक्तिकरण :छतीस का आंकड़ा

Shalini Kaushik at ! कौशल

माँ का दर्द


डायरी के पन्ने

स्वयम्बरा at मैं और मेरी दुनिया 
************************************************************************

मुझे मेरी पहचना चाहिए -

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति at अमृतरस - 

बृज भाषा काव्य संग्रह......ब्रज बांसुरी" की रचनाएँ .......डा श्याम गुप्त ...

प्रेम का पाखंड-जिया बनी शिकार

shikha kaushik at भारतीय नारी

गंगा बहती ही जाती है

************************************************************************

दिल्ली का लालकिला हिन्दू लालकोट है

प्रवीण कुमार गुप्ता-PRAVEEN KUMAR GUPTA at हिन्दू - हिंदी - हिन्दुस्थान - HINDU-HINDI-HINDUSTHAN -

इसमें भी छिपी होती है उनकी महानता

***********************************************************************

कुछ नहीं हुआ !

सुशील at उल्लूक टाईम्स -
************************************************************************

ऐसी की तैसी ....

Amrita Tanmay at Amrita Tanmay
***********************************************************************

दस्तरख़्वान सजा है...

Suresh Swapnil at साझा आसमान
***********************************************************************

"नेताओं की तफरी" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) at उच्चारण - 
ओ बी ओ पर पढ़िए डॉ .नूतन जी की एक खूबसूरत कहानी http://www.openbooksonline.com/profiles/blog/list?user=3t5r6erq96iiw

                            दि फाइनल डेस्टीनेशन/ अंतिम पड़ाव - डॉ नूतन गैरोला

*******************************************************************************************************
आज की चर्चा यहीं समाप्त करती हूँ  फिर चर्चामंच पर हाजिर होऊँगी  कुछ नए सूत्रों के साथ तब तक के लिए शुभ विदा बाय बाय ||


14 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    ऐसा बहुत कम होता है कि एक दिन में दो-दो चर्चाएँ लगती है।
    --
    सुखद आभास है यह।
    आभार बहन राजेश कुमारी जी...!

    ReplyDelete
  2. आज चर्चा मंच पर अनोखा देखने को मिला एक दिन में दो दो रंग बिरंगी सुन्दर चर्चाएँ पढने को मिली, हार्दिक आभार आदरणीय गुरुदेव श्री एवं आदरणीया राजेश कुमारी जी.

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छे लिंक्स समेटे हैं आपने .हार्दिक आभार .
    हम हिंदी चिट्ठाकार हैं

    ReplyDelete
  4. सार्थक,सुंदर पठनीय लिंक्स,,मंच में मेरी पोस्ट शामिल करने आभार राजेश जी...

    ReplyDelete
  5. बहुत ही सुन्दर चर्चा..

    ReplyDelete
  6. आभार उल्लूक टाईम्स का , कुछ बदले बदले अंदाज और मिजाज में दिख रही है आज मुस्कुराती सुंदर चर्चा !

    ReplyDelete
  7. बहुत अच्छे लिंक्स समेटे हैं आपने

    ReplyDelete
  8. सुन्दर लिंक्स सजोये बहुत रोचक चर्चा....

    ReplyDelete
  9. aadarniy didi aur guru ji ko pranaam
    meri rachna ko sthan dene ke liye shukriya

    ReplyDelete
  10. .सराहनीय प्रस्तुति बधाई .सार्थक व् सराहनीय लिंक्स संयोजन .मेरी पोस्ट को स्थान देने के लिए आभार जो बोया वही काट रहे आडवानी आप भी दें अपना मत सूरज पंचोली दंड के भागी .नारी ब्लोगर्स के लिए एक नयी शुरुआत आप भी जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

    ReplyDelete
  11. Waaah... अच्छी चर्चा!!!

    ReplyDelete
  12. आप सभी का आभार

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin