Followers

Thursday, May 02, 2019

"ब्लॉग पर एक साल " (चर्चा अंक-3323)

मित्रों!
गुरुवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।
--
--

बर्ग-ए-चिनार 

बावरा मन परसु-मन  
(Suman Kapoor)  
--
--
--

हुज़ूर आप क्यूँ इस क़दर देखते हैं 

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’  
--
--
--
--
--

9 comments:

  1. बहुत सुंदर चर्चा। मेरी रचना शामिल करने के लिए विशेष आभार।

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  3. व्वाहहहहह...
    शुभकामनाएँ..
    आभार..
    सादर..

    ReplyDelete
  4. धन्यवाद चर्चा मंच पर शामिल करने को

    ReplyDelete
  5. हमेशा की तरह सुंदर और निष्पक्ष मंच।
    प्रणाम शास्त्री सर ।
    आपके मंच पर हम जैसे नये लोगों को भी आपका स्नेह और सम्मान मिलता है।

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  7. अच्छी चर्चा प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  8. ब्‍लॉगिंग पर लौटना अच्‍छा है, प्रयास करेंगें..

    ReplyDelete
  9. आदरणीया अनीता जी के ब्लॉग के एक वर्ष बीतने पर उन्हे हार्दिक बधाई । उनकी रचना का एक अंश ....
    प्रीत पद से बांध, होठों पर सजा मुस्कान
    वर्दी सुर्ख लाल पहन लेना
    भारत माँ से किया जो वादा
    मेरी प्रीत भुला देना
    अनेकों शुभकामनाएं ।
    अन्य रचनाकारों को भी, उनके सुन्दर रचनाओं हेतु बधाई ।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।