चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Friday, November 05, 2010

दीपावली पर शुभकामनायें और चर्चा- डॉ नूतन गैरोला

deewali दिवाली फ़िर से आई – शुभकामनाएँ
“आओ दीवाली मनाएँ प्यार से!” आज दीपावली के इस पावन अवसर पर मैं आपके सम्मुख चर्चा के लिए कुछ लिंक्स ले कर आई हूँ | यूं तो आप सभी मेरी तरह आज त्यौहार की खुशी में घर को विशेष ढंग से फूल मालाओं, रंगोलियो से सजाने में लगे होंगे , रसोई से लजीज पकवानों की  खुशबू आ रही होगी  | रात की पूजा की तैयारी के लिए दीपमाला तैयार किये जा रहे होंगे और बच्चे लोग आतिशबाजी के लिए हर्षोल्लास से खरीदारी के लिए तैयार होंगे | मै भी कुछ दिवाली की रौनक यहाँ ले कर आई हूँ |
सर्वप्रथम लक्ष्मी गणेश जी की पूजा के साथ चर्चा होगी

laxmi-ganesh
माँ लक्ष्मी देवी की स्तुति - आपका घर धनधान्य से परिपूर्ण हो, खुशियों का वास हो  
जय माँ लक्ष्मी


महालक्ष्मी स्त्रोतम
प्रभु गणेश को नमन - हमारा सभी कार्य निर्विघ्न परिपूर्ण हो | विश्व का कल्याण हो
जय गणपति बाप्पा

गणेश स्तुति - ऑडियो वीडियो 

अब बारी है दिवाली पर मुशायरा और कविताओ की -
नवीन जी ने बताया की यहाँ पर दिवाली का मुशायरा चल रहा है
आप भी शरीक होंवें
शस्वरम में नन्हे दीपों से क्या कहा जा रहा है नन्हे दीप - न डरना
दिवाली पर एक संक्षिप्त सुन्दर कविता दिवाली पर शुभकामनायें शन्नो जी मानव की तुलना दीये से करती है और कहती हैं
मानव-दीप
एक प्रेम ऐसा भी जब दीया और अँधेरा कहे हम जीते है एक दूसरे के वास्ते एक प्रेम ऐसा भी - दीया और अँधेरा दीपावली और इंसान पर अनुपमा जी क्या कहती हैं दीप और इंसान 
आज महान कवयित्री महादेवी वर्मा जी की एक कविता यहाँ पर कबाडखाना ब्लॉग से शेयर कर रही हूँ   दीप रे तू जल अकम्पित

अब नंबर है मिठाई का |

लेकिन सावधान - आजकल दूध का ही भरोसा नहीं तो मावे का क्या तो मिठाई भी स्वास्थ के लिए हानिकारक  - सो मिठाई ऐसी लें जो मावे से न बनी हो - बेहतर हो घर की बनी मिठाई ले ..
मिलावट के खेल में अधिकारी हुए फेल  और  पास आयी दिवाली
अब मै आपको दो - तीन  जगह की दिवाली के बारे में बताउंगी
उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रो में दीपावली का त्यौहार किस तरह से मनाया जाता है.. और वहाँ की परम्पराएँ देखिये -उत्तराखंड गढवाल की एक दीपावली

  गुजरात में दिवाली कैसे मनाई जाती है .. वहाँ के रीति रिवाज कैसे है देखिये -गुजरात की दिवाली राजस्थान में दीपदान की अपनी ही एक सुन्दर परंपरा है देखिये हर आंगन बिखरे आलोक
और जयपुर की दिवाली
यशवन्त कोठारी का आलेख - गुलाबी नगरी की गुलाबी दीपावली
                        

अब हसियेगा, नहीं तो कैसे खुश होइएगा -
             खुलकर मुस्‍कुराना    जीभ चिढ़ाते हुए मुस्‍कुराना    अभी वापस  उत्साह भरी मुस्‍कान  पलक झपकाकर मुस्‍कुराना  फ़र्श पर लोटते हुए हँसना 
हँसी फुहार के साथ
बे-ईमान लोग    डरिये नहीं आपको नहीं कहा जा रहा |
काजल कुमार जी का कहना है
चलो किसी रोते हुए बच्चे को हंसाया जाए ...
काका हाथरसी क्या कहते है ?
काका हाथरसी
जरा गंभीर मुद्दों पे आजकल चलती चर्चाओं पे एक निगाह डालें | दो पोस्ट अरुंधती जी पर
एक जिद्दी धुन में धीरेश शैनी जी मिडिया के रवैये पर अरुंधती जी के विचार रखते हैं | डॉ दिव्या क्या कहती है अपनी पोस्ट पर काश्मीर को आज़ाद होना चाहिए -- भूखे नंगे हिंदुस्तान से -- अरुंधती रॉय
दिवाली क्यों मनाई जाती है - क्या आप इस के बारे में पूर्ण जानकारी रखते है
लक्ष्मी जी को बचाने वामन रूप
क्या कहते है पंकज त्रिवेदी जी
राम के त्याग का स्मरण - अजित गुप्‍ता जी का कहना है


अब आप दिवाली में फोटो भी खींचना चाहेंगे तो जाहिर है  कि आप आतिशबाजी और रौशनाई के साथ खींचना चाहेंगे - तो फोटोग्राफी के टिप जानिए - खास दिवाली के लिए
पटको की तस्वीर कैसे खीचे 
अब आतिशबाजियों की फोटो खींचनी भी सीख ली होगी चलें दिवाली मनाने
 चलो मनाएं दीवाली रे
और अब पुनः ईश्वर की वंदना करती हूँ
“वीणापाणि का आराधन करते विरले हैं।” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”)

अभी वापसआप सभी को एक सुरक्षित और खुशियों से भरी दीपावली की शुभकामनायें करती हूँ
खास - मिलावटी मिठाइयो से बचे |
मुस्‍कानरंगोली बनायें पूजा करे, दीप प्रज्वलित करे |
गुस्‍से भरी मुस्‍कान बारूद से हवा, आवाज का और माहोल का प्रदुषण न करें |
हताश मुस्‍कानआग से बचे | दिवाली की आतिशबाजी में कपडे अनुकूल पहने | पानी की भी व्यवस्था रखे | आतिशबाजि करते समय बच्चो के साथ एक समझदार व्यस्क का होना भी आवश्यक है |
खुलकर मुस्‍कुरानादीपोत्सव को खूब हर्षोल्लास से मनाइए पर मन में निहित अंधियारे को भी मिटाइए |

पुनः दीपावली पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं  - डॉ नूतन गैरोला 
11t6ctx

28 comments:

  1. सभी को दिवाली मंगलमय हो..

    ReplyDelete
  2. सुन्दर चर्चा!
    दीपावली आपने बहुत करीने से सजाई है!
    --

    प्रेम से करना "गजानन-लक्ष्मी" आराधना।
    आज होनी चाहिए "माँ शारदे" की साधना।।

    अपने मन में इक दिया नन्हा जलाना ज्ञान का।
    उर से सारा तम हटाना, आज सब अज्ञान का।।

    आप खुशियों से धरा को जगमगाएँ!
    दीप-उत्सव पर बहुत शुभ-कामनाएँ!!

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर चर्चा प्रस्तुत की आपने ........ मेरी पोस्ट को इस सुंदर चर्चा में जगह देने के लिए..... धन्यवाद
    दिवाली की शुभकामनायें ......

    ReplyDelete
  4. दीप पर्व की हार्दिक शु्भकामनाएं

    ReplyDelete
  5. नूतन जी जिस तरह दीपावली पर तरह तरह के दिये, पटाखे मिलते है और दीपावाली को एक मनमोहक रंग देते है उसी प्रकार आपने इस चर्चामंच के इस घर को जगमगा दिया है। सभी जुडी लडिया और दीप एक से बढ कर एक। अति सुंदर ..जय हो
    दीपावली पर मेरी और परिवार की ओर से आप सभी मित्रो और परिवार को बहुत बहुत शुभकामनाये

    ReplyDelete
  6. दीवाली के पावन अवसर पर आपने ये मंच सजाया बहुत अच्छा है.
    मेरी कविता मंच पर लगाने के लिए धन्यवाद.

    कुँवर कुसुमेश

    ReplyDelete
  7. डॉ. नूतन गैरोला ने बहुत अच्छी "चर्चा" प्रस्तुत की है... बहुत सारी विधाओं और रचनाकारों को संजोकर "चर्चा मंच" को गरिमा प्रदान की है.... दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाओं सहित....

    आपका,

    पंकज त्रिवेदी

    ReplyDelete
  8. शुभ दीपावली.... दीपावली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं.....

    ReplyDelete
  9. नूतन जी !
    अच्छी चर्चा दी आपने ! दीवाली की शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  10. आपको और आपके परिवार के सभी सदस्यों को दीपावली पर्व की ढेरों मंगलकामनाएँ!

    ReplyDelete
  11. प्रदूषण मुक्त दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  12. प्रदूषण मुक्त दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  13. सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  14. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई

    ReplyDelete
  15. सभी ब्लोगर मित्रों को दीपावली के शुभ अवसर पर बधाई और शुभ कामनाएं |चर्चा अच्छी रही |बधाई
    आशा

    ReplyDelete
  16. बहुत अच्छी चर्चा ...अच्छे लिंक्स संजोये हैं ..प्रस्तुतिकरण शानदार ...

    दीपावली की शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  17. दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें!!!
    सुन्दर चर्चा!

    ReplyDelete
  18. बहुत ही खूबसूरत अन्दाज़ रहा चर्चा का………………हर तरह की पोस्ट समा गयीं………………शानदार लिंक्स के साथ शानदार चर्चा।
    दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  19. नूतन जी पहली बार आया हूँ आपके आँगन में| चर्चा का यह मंच बहुत ही लुभावना लगा| अच्छा लगता है जब आज के स्व-केंद्रित समय में लोग साहित्यिक बातों में रूचि लेते हैं| मुझे अपने चौबारे पर बैठने की अनुमति देने के लिए मैं आपका बहुत बहुत अभारी हूँ| सभी मित्रों को दीपावली की ढेरों शुभकामनायें| आप सभी का जीवन ज्योतिर्मय हो|

    ReplyDelete
  20. बहोत ही प्यारी चर्चा रही .....................सभी को दिपोत्सव की ढेरों शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  21. दिवाली पर्व है खुशियों का, उजालो का, लक्ष्मी का! यह दिवाली आपकी ज़िन्दगी खुशियों से भरी हो, दुनिया उजालो से रोशन हो, घर पर माँ लक्ष्मी का आगमन हो! शुभ दीपावली!

    ReplyDelete
  22. दिवाली पर्व है खुशियों का, उजालो का, लक्ष्मी का! यह दिवाली आपकी ज़िन्दगी खुशियों से भरी हो, दुनिया उजालो से रोशन हो, घर पर माँ लक्ष्मी का आगमन हो! शुभ दीपावली!

    ReplyDelete
  23. चिरागों से चिरागों में रोशनी भर दो,
    हरेक के जीवन में हंसी-ख़ुशी भर दो।
    अबके दीवाली पर हो रौशन जहां सारा
    प्रेम-सद्भाव से सबकी ज़िन्दगी भर दो॥
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई!
    सादर,
    मनोज कुमार

    ReplyDelete
  24. आपको सपरिवार दीपोत्सव की शुभकामनाएँ।
    सभी पाठकों को भी दीपावली शुभकामनाए

    ReplyDelete
  25. सभी मित्रों को चर्चा पसंद आई | मुझे बहुत खुशी है| और आज दीप पर्व है | तो हर्षोल्लास तो बहुत है.. आप सभी को पुनः मंगल कामनाएं

    ReplyDelete
  26. दिपावली के शुभ अवसर पर हार्दिक शुभकामनायें जी।

    ReplyDelete
  27. दीपावली का ये पावन त्‍यौहार,
    जीवन में लाए खुशियां अपार।
    लक्ष्‍मी जी विराजें आपके द्वार,
    शुभकामनाएं हमारी करें स्‍वीकार।।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin