समर्थक

Monday, April 15, 2013

'दूसरी गुज़ारिश ' : चर्चा मंच 1215

शुभम दोस्तों ...
 मैं 
हाजिर हूँ 
अपनी दूसरी गुज़ारिश 
एवं 
इस उम्मीद के साथ 
कि  
आपको 
पसंद आई होगी 
आप सब से 
पुनः 
करती हूँ गुज़ारिश 
सभी सूत्रों तक पहुँच कर अपना स्नेह दें 

 आइए बढ़ते हैं 
सोमवारीय चर्चा की तरफ 
करते हुए 
एवं 
नवरात्र के शुभावसर पर 
सुनते सुनते 
चर्चा का आनंद लीजिए 



मेरा फोटो

My Photo

मेरा फोटो






मेरा फोटो









My Photo


नवसंवत्सर,नववर्ष,नवरात्र,
अंबेडकरजयंती,गुडीपडवा,बैशाखी,विशु,पिहू की 
हार्दिक मंगलकामनाओं
के साथ 
को दीजिए इजाज़त.. 
और 
'मयंक का कोना' 
(1)
स्त्री देह, ज़ेब से झाँकते हुए नोट की तरह है....!

(2)
smartphone-android
हिंदी ब्लॉगर बी एस पाबला द्वारा अपने एंड्रायड आधारित मोबाईल पर उपयोग किये जा रहे एप्प्स की जानकारी देता लेख The post एंड्रायड आधारित मोबाईल क्यों लिया… 
(3)
नायक नहीं खलनायक हैं नीतीश !

(4)
''भारतीय नारी '' ब्लॉग प्रतियोगिता -2

(5)
कार्टून:-अर्ज़ी लिखाई, इधर गड्ढा उधर खाई
देखते देखते
 लीजिए आनंद 

  शुभविदा...

32 comments:

  1. दूसरी चर्चा भी लाजवाब रही सरिता जी ...
    शास्त्री जी आपका आभार !

    ReplyDelete
  2. दूसरी चर्चा भी लाजवाब रही सरिता जी!
    आप तो चर्चा में पारंगत हो गयी हैं!
    नवरात्रों की बधाई स्वीकार कीजिए।
    आभार!

    ReplyDelete
  3. सरिता जी कार्टून को भी सम्मिलित करने के लिए आभार

    ReplyDelete
  4. बहुत रोचक सूत्रों से सजी चर्चा..

    ReplyDelete
  5. प्रिय सरिता जी बहुत सुन्दर शानदार चर्चा लगाईं सभी उम्दा लिंक्स लिए हैं शुरू में ही विडियो देखकर मन अभिभूत हो गया आपको बहुत- बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  6. सुन्दर चर्चा-
    शुभकामनायें-

    ReplyDelete
  7. संचालन है मंच का , बहुत निराला आज
    कवितामय वातावरण , अलग लगा अंदाज
    अलग लगा अंदाज , आदरणीया बधाई
    सुंदर चर्चा आज , सभी के मन को भाई
    रोचक औ' पठनीय सूत्र का श्रेष्ठ संकलन
    बहुत निराला आज , मंच का है संचालन ||

    ReplyDelete
    Replies
    1. मंच संचालन भाया ,शुक्रिया है जनाब
      चर्चा मंच सजान में ,आपका ना जवाब

      Delete
  8. बहुत सुंदर चर्चा सरिता जी,
    सभी लिंक्स एक से बढ़कर एक

    अब की बारिश में शरारत ये मेरे साथ हुई
    मेरा घर छोड़ दिया, शहर में बरसात हुई।

    हाहाहहा, अब क्या कहूं, मुझे यहां शामिल तो किया गया है, पर मैं ही नहीं तलाश पा रहा हूं कि मैं कहां हूं। मुझे लगता है कि इससे छोटा प्वाइंट साइज शायद कम्प्यूटर में नहीं है। ब्लाग या मेरा नाम ना सही, पर सर शीर्षक का साइज तो इतना जरूर कर दें कि लोग बाग पढ़ सकें।

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत आभार, अब मेरा भी लिंक चमकने लगा है...

      Delete
    2. अब की बारिश में शरारत ये मेरे साथ हुई
      मेरा घर छोड़ दिया, शहर में बरसात हुई।
      वाह वाह!!! जरूर कोई हवा का झोंका होगा
      बदली का रुख बदल दिया होगा

      Delete
    3. शरारत नहीं जनाब यह तो एक बहाना था
      चर्चा मंच पर आपको बार बार बुलाना था

      अपना लिंक ढूंडने आए ,आने का शुक्रिया
      चर्चामंच को प्यार से सजाने का शुक्रिया

      Delete
  9. खूबसूरती से सजाया है लिंक
    अपने आप को ढूँढने सभी लिंको पर जाना
    अनिवार्य सा कर दिया आपने
    हम भी अभिमन्यु हैं
    आपका व्यूह भेद ही लेंगे
    सादर

    ReplyDelete
  10. बड़ा अच्छा लिंक संयोजन किया है , चर्चा मंच पर आजकल खूब मेहनत हो रही है।

    ReplyDelete
  11. बहुत रोचक सूत्रों से सजी चर्चा सरिता जी,नवरात्रों की बधाई स्वीकार कीजिए।

    ReplyDelete
  12. निराले अंदाज़ से सजाई है आपने यहाँ ब्लॉगर के पोस्टो की लिंक
    एक ऐसा अंदाज़ जो एक नवीनतम कहा जाए
    आपका बहुत बहुत शुक्रिया की आपने मेरी पोस्ट को यहाँ स्थान दिया

    ReplyDelete
  13. बहुरंगी है आज चर्चा मंच की साज सज्जा |
    आशा

    ReplyDelete
  14. बहुरंगी है आज की चर्चा |
    आशा

    ReplyDelete
  15. सरिता भाटिया जी बहुत ही बढ़िया लिंक्स से सजी आज की चर्चा ... मेरी भी रचना को शामिल करने के लिए आपका हार्दिक आभार ...

    ReplyDelete
  16. बहुत अच्छे लिंक्स संजोए सरिता जी!
    ~सादर!!!

    ReplyDelete
  17. सुन्दर चर्चा.

    ReplyDelete
  18. माफ़ करना मित्रों पर मुझे अभी तक चर्चा मंच समझ नहीं आया ,यंहा हमारी पोस्ट के लिंक देने हैं या सप्ताह भर में पढ़े ब्लॉग के बारे मैं बताना हैं ,थोड़ी सहायता कीजिये .


    हिंदी ब्लॉग को सुन्दर बनायें

    ReplyDelete
    Replies
    1. दिलीप जी नमस्कार ,
      चर्चामंच एक साँझा ब्लॉग है
      यहाँ हररोज ऊपर बताये गए मंच संचालक चर्चा लगाते हैं
      जिसमें कुछ latest links जो चर्चा बनाते वक्त आ चुके होते हैं वो लगाए जाते हैं
      जैसे आपका कोई लिंक यहाँ शामिल किया जाएगा तो आपको सूचित किया जाएगा

      Delete
  19. सुन्दर चर्चा ...
    मेरी रचना को शामिल करने के लिए आपका हार्दिक आभार सरिता जी!

    ReplyDelete
  20. बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ...

    ReplyDelete
  21. बैसाखी की लाख लाख वधाइयों के साथ -
    रचनाओं का बहुत ही अच्छा चयन तथा प्रस्तुतीकरण भे तो सराहनीय ! सुन्दर !!

    ReplyDelete
  22. नमस्कार दोस्तों,

    रोहिताश घोड़ेला की मेहनत के परिणाम स्वरूप ब्लॉग जगत में आये मुझे लगभग 2 दिन हो चुके है और चर्चा मंच ने मुझे सबसे ज्यादा प्रभावित किया है। ब्लॉग जगत में ये मेरी पहली कमेंट है जो मैं इस ब्लॉग को समर्पित कर रहा हूँ। हम जैसे नोसिखिये ब्लॉगर और हमारी रचनाएँ 'चर्चा मंच' की सहायता से और अधिक प्रसिद्धि प्राप्त करती हैं।

    मेरी पहली पोस्ट : : माँ
    (आपकी सहायता की महती आवश्यकता है)

    ReplyDelete
    Replies
    1. अनिल dayama जी आपका चर्चा मंच पर स्वागत है

      Delete
    2. आप का कोटि-कोटि आभार :)

      Delete
  23. गुरुजनों का शुक्रिया मेरी चर्चा पसंद कर आशीर्वाद देने के लिए
    सभी दोस्तों का हार्दिक धन्यवाद करती हूँ ,जिन्होंने चर्चामंच पर हाजिरी देकर मेरा सम्मान बढाया है
    नए दोस्तों का हार्दिक स्वागत है
    शुभरात्रि शब्बा खैर ....
    http://youtu.be/OiggiiL_4do

    ReplyDelete
  24. बहुत बढ़िया चर्चा,,,सुंदर लिंक्स,,,आभार

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin