समर्थक

Thursday, April 18, 2013

दुआ करो किसानों के लिए ( चर्चा - 1218 )

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 
पीला सोना पककर तैयार है लेकिन गरजते बादल किसानों को डरा रहे हैं , ये कैसी किस्मत है । उम्मीदों पर पानी फिरना मुहावरे को किसान से ज्यादा कौन जान सकता है , लेकिन किया भी क्या जा सकता है , सिर्फ दुआ के सिवा । दुआ करो किसान के उम्मीदों पे पानी न फायर और और उसकी मेहनत का फल घर आ जाए । 
चलते हैं चर्चा की ओर 

मूर्ख या धूर्त - क्या बनना चाहेंगे आप ? 

ब्लॉग साहित्य प्रसून पर नग्नता पर प्रहार करते दोहे 

कीजिए ज्ञान को अपडेट 

आज के राम हनुमान 

अथाह है प्रेम पराकाष्ठा - संध्या शर्मा जी की कविता का संदेश 

निजाम भिश्ती का मकबरा - ब्लॉग जाले 

ताजमहल मन्नू प्रकाश त्यागी जी की नजर से 

उच्चारण पर है शोक गीत 

गुनगुनी दोपहर ब्लॉग न दैन्यं न पलायनम 

भावाभिव्यक्ति ब्लॉग पर हैं कुछ पल

ब्लॉग रूप अरूप पर है किताबों में दबा फूल 

मोनिका जी बता रही है आदमी की संवेदनहीनता का किस्सा 

व्यापारी ही नहीं वीर भी हैं बणिया - ज्ञान दर्पण 
"कुछ कहना है"
रविकर जी का कुंडलिया 

सुधिनामा ब्लॉग पर हैं मन की बातें कहते हाइकु 

कुछ हाइगा ऋता शेखर मधु जी द्वारा निर्मित 
Sahitya Surbhi
आज के लिए बस इतना ही 
धन्यवाद 
सबका कल्याण करें...!

28 comments:

  1. बहुत सुन्दर चर्चा प्रस्तुति!
    भाई दिलबाग विर्क जी दुआ करो किसानों के लिए ( चर्चा - 1218 ) में आपने बहुत उपयोगी लिंक दिये हैं।
    नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ!
    माँ कालरात्रि आप सबका कल्याण करें!
    आभार!

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर सूत्र ...पढ़ते है बारी बारी !

    ReplyDelete
  3. जगह जगह से चुनकर आपने बहुत अच्छे लिंक्स इकठ्ठा किये हैं.
    'ब्लॉग की खबरें' पर '...क्या पूंजीपति ...' शीर्षक वाली पोस्ट को स्थान देने के लिये शुक्रिया.

    ReplyDelete
  4. निखर रही है चर्चा आज दिलबाग की
    हो रहा है मेरा भी दिल बाग बाग
    देख छपी उल्लूक की आवाज भी !

    आभार दिलबाग !

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया चर्चा ...आभार

    ReplyDelete
  6. बेहतरीन सूत्रों का संकलन ,,,,आभार,दिलबाग जी,,

    RECENT POST : क्यूँ चुप हो कुछ बोलो श्वेता.

    ReplyDelete
  7. बढ़िया सूत्र खोजे हैं आपने |
    आशा

    ReplyDelete
  8. रोचक सूत्र सुन्दर चर्चा हेतु बधाई दिलबाग जी |

    ReplyDelete
  9. सुन्दर चर्चा -
    बधाई भाई-

    ReplyDelete
  10. दिलबाग भाई ,हर बार की तरह आपका चर्चा का अंदाज निराला रहता है। कोई ना कोई तकनिकी पोस्ट हर चर्चा में होनी ही चाहिए,जो मैंने अक्सर आपकी चर्चाओं में देखी है। थैंक्स।

    ReplyDelete
  11. पठनीय सूत्र सुन्दर चर्चा दिलबाग जी हार्दिक बधाई

    ReplyDelete
  12. बहुमूल्य सूत्रों से सजा बेहद आकर्षक चर्चामंच है आज का दिलबाग जी ! मेरे मन की बातों को भी आपने इसमें शामिल किया आभारी हूँ !

    ReplyDelete
  13. अरे वाह! बहुत सुन्दर विर्क जी!

    ReplyDelete
  14. मेरी रचना को स्थान देने के लिए बहुत-बहुत आभार

    ReplyDelete
  15. बहुत सुन्दर चर्चा रही ,माँ कालरात्रि सबका कल्याण करें ,हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  16. सधी हुई सुन्दर चर्चा ...सार्थक लिंक्स ...
    आभार दिलबाग जी ...मेरे हाइकु यहाँ लिए .....!!

    ReplyDelete
  17. bahut sundar prastuti , sabhi links ache hai , badhai dilbag ji

    ReplyDelete
  18. बहुत सुन्दर चर्चा मंच सजाया है काफ़ी लिंक्स पढ लिये ।

    ReplyDelete
  19. bahut sundar links ...thanks nd aabhar ....

    ReplyDelete
  20. अच्छे लिंक्स...सुंदर प्रस्तुति...आभार !!

    ReplyDelete
  21. बहुत सुन्दर लिंक संयोजन | आभार |

    ReplyDelete
  22. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ...आभार!

    ReplyDelete
  23. सुंदर एवं उपयोगी links
    दिलबाग sir बधाई

    ReplyDelete
  24. देवी महा गौरी-दिवस के लिये सब को,वधाई !
    आज का चर्चा मंच श्रेष्ठ है क्यों कि इस में सभी प्रकार के विषयों का चयन किया गया है |
    चर्चा मंच के बा में , रंग रंग के फूल |
    ऐसे फूल कि इन्हें तो , हर ऋतु करे कबूल ||

    ReplyDelete
  25. बहुत खूबसूरत लिंक्‍स....मेरी रचना शामि‍ल करने के लि‍ए धन्‍यवाद...

    ReplyDelete
  26. बहुत अच्छे लिंक्स ,आभार

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin