Followers

Friday, February 25, 2011

चलो आज सूरज ले आयें–चर्चा 438-द्वारा -डॉ नूतन गैरोला

                              
            आह्वान करती हूँ आप सबका इस मंच पर --
                      प्रभात की इस सुन्दर बेला में  
           और कहतीं हूँ क्यों न हम साथ साथ कुछ चर्चाएँ करें      
    support
               

दूर हो, सब बिखरे हो, साथी तुम कहाँ
                आओ सब मिल कर बसायें फिर जहां
                जिन राह  से चलते हुवे बिछडे थे कभी
               रास्ते सब मिलते जिधर आओ चलें वहाँ ....

…………

अंधेरों सा आलम होता तुम बिन सूना जहां
ओझल हो नजरों से तुम मशगूल हो वहाँ 
सूरज की रौशनी से हम-तुम चमकें थे जहाँ
आओ हम तुम, हम सब फिर से मिलें वहाँ ......


****************डॉ नूतन गैरोला*****************


              आप सबको मेरा सादर अभिवादन

       
                    सुबह से रात तक के कुछ रंग


                            image 
                        चलो  आज  सूरज  ले  आयें  
                        
अन्धकार को दूर भगाएं | 
                      Kailash C Sharma जी की पोस्ट  
                     
                      बच्चों का कोना ब्लॉग से  
   


                              "धूप के दोहे"
                image
                           
                      धूप के दोहे” – उच्चारण ब्लॉग से 
                           रूपचन्द्र शास्त्री जी की पोस्ट 
                
                  तेज घटा जब सूर्य का, हुवी लुप्त तब धूप 
                  वृधावस्था  में   कहाँ     यौवन  जैसा  रूप | 
  

                               सिन्दुरी शाम
                 image
                                 सिंदूरी शाम
                                उस निस्तब्ध..
                                अन्धकार में ..
                                 पलास वृक्षों तले ..
                                 फुसफुसाते हुवे
                                 अपनी जादुई आवाज में 
                                 तुमने मुझसे पूछा था 
                                
मैं कौन हूँ ? 
           अनुभूति ब्लॉग से श्रीप्रकाश डिमरी जी की पोस्ट

 
                            आशा की किरण 
  
                image      
                    आशा की किरणअमृतरस ब्लॉग से

                       रात के गहन अन्धकार में
                       आसमान के असीम विस्तार में ..
                           

               

                       मेघ  दूत : पाब्लो नेरुदा
                 पाब्लो नेरुदा की हिंदी में अनुवादित कविताएँ
                       image

                  समालोचन ब्लॉग से अरुण देव जी की पोस्ट

                                 अनुवाद किया है
                         अपर्णा मनोज भटनागर जी ने
                                image 


                                   
                                  ब्लॉग संवादी से  
   
                         image 
                               अरुण देव जी  

                                  तुम अब    
  
    तुम्हारे साथ  कोई   तुम सा याद आता है 
    तुम्हारी हँसी में वही कोई परिचित से फूल                         

                     उजला आसमां - संगीता स्वरुप
    
                                पुस्तक समीक्षा
                          रूपचन्द्र शास्त्री जी द्वारा 

          image 
  
                  संगीता स्वरुप “गीत” जी की हाल ही में
                                 प्रकाशित पुस्तक   
                              
                           संगीता स्वरुप "गीत" जी
          


           भजगोविन्दम

      भगवान श्री शंकराचार्य विरचित 
  भजगोविन्दम का हिंदी भाव पद्यनुवाद  
    image
         प्रभा तिवारी जी


 "बा के बिना जीवन की मैं कल्पना नहीं कर सकता"

 कस्तूरबा गाँधी जी की पुण्य तिथि पर
मनोज जी की एक पोस्ट
    image
           मनोज जी
         ब्लॉग विचार से
   
      योगमार्ग ब्लॉग से

जिस प्रार्थना में मांग है,क्या वह प्रार्थना है?
      image
          Rajey Sha ji
  
  कोई धुंवा फिर दिल चीर के निकला
    image

       Arvind Jangid
  
     नया ब्लॉग- इनका
      उत्साहवर्धन करें |
    mun ke –manke
          ब्लॉग से

        बिखरें हैं स्वर्ग
        चारों ….तरफ
 

     Bikhre Hai Swarg
 
 
           अपेक्षाएं 
      श्रद्धा सुमन ब्लॉग से
     image
        अनीता निहलानी जी
         

  छुईमुई मेरे आँगन में
ब्लॉग Main Aur Meri Kavitayen
     image
           सुमन जी
     दरकती मान्यताएं
        आलोकित जी
       image
   
         
      साहित्य और अंतरजाल - परिवर्तन की बयार ..भाग –१

                           उड़न तस्तरी ब्लॉग से

                       image
                             श्री समीर लाल जी


ये चाहे तो सर पे बिठा दें, चाहें फैंक दें
      image
     P S Bhakuni ji
         ताऊ डॉट इन
      image
    पी सी रामपुरिया जी
     ( ब्लॉग पर चित्र )
       ताऊ रामपुरिया
मिस समीरा टेडी को उनके स्लिम एवं जीरो साइज़ उपन्यासिका के लिए ताऊ की अंतिम चेतावनी
             मेरे गीत ! 

       image
        सतीश सक्सेना जी
 
           हताश अपेक्षाएं
       ललित डॉट इन

       image
        ललित शर्मा जी
       ( ब्लॉग पर चित्र ) 
कल्लू मल घी वाले की बेटी और चचा ग़ालिब -- ललित शर्मा

    अंधविश्वासों के खिलाफ
         TSLIM ब्लॉग 

डॉ यतीश अग्रवाल जी की पोस्ट
 
काले साए : आत्‍माएं, टोने-टोटके और काला जादू ... Kaale Saye, Aatmayen, Tone-Totke aur Kala Jadu
 
     विस्तार समेटती हूँ मैं
     anupama's sukrity
      blog se
       image 
      अनुपमा त्रिपाठी जी
   चंद सवाल जो चीखतें हैं |
      काव्यांजली ब्लॉग से

     image

         ज्योति सिंह जी 
 ए मेरे बच्चे, तुमने नहीं देखा
  ब्लॉग मेरे एहसास – भाव

      image

            स्वाति जी
   

                      जिंदगी.... एक खामोश सफर
                           ब्लॉग से वंदना जी
                           image
                           सीरतों पर भी नकाब है
    
                          सीरत पे फिदां होने वाले
                          ये तेज़ाब के खौलते नालों में 
                          अपना पता कहाँ पायेगा
                          खुद भी फ़ना हो जाएगा |                         
                                
  
                          बच्चों के लिए


      चैतन्य का कोना
   सुन्दर तस्वीरें- बरफ ही बरफ    
      image 
           चैतन्य शर्मा

    सुन्दर सफ़ेद चमकते पेड़
     पाखी की दुनियाँ 

   जंगल के बीच हाथी की सवारी 
    image
      अक्षिता / पाखी
      
          चल मेरे हाथी 
    

   मेरा बस्ता कितना भारी

     ब्लॉग बाल मन से         


     मेरा बस्ता कितना भारी
     बोझ उठाना है लाचारी 

 
   बच्चों के लिए बहुत सुन्दर ब्लॉग .. सच बताऊँ मन तो बड़ों का भी खूब लगेगा यहाँ ..
            कहानी
  दुष्टों का क्षणिक संग भी कष्टकारी होता है |

ब्लॉग - दादी माँ की काहानियाँ

     प्यारा लगता है हाथी
  image    

      उच्चारण ब्लॉग से
 
   क्या मैना ऐसी होती है

   image
  
        नन्हें सुमन से
Pankhuri's TOP TEN songs List...!
  image
   ब्लॉग पंखुरी Times ... !
           माधव

   जब माधव पापा मम्मी के साथ
    चिड़ियाघर देखने गया था
       image
   
    
                             तन का अवसान
                           ब्लॉग काव्य कल्पना से 
                           image
  
                               Er सत्यम शिवम
           
   चर्चा को अभी यहीं पर ब्रेक दे रही हूँ .. आप सभी चर्चा जारी रखियेगा और साथी चर्चाकार भी जारी रखेंगे … मैं फिर मिलूंगी अगले शुक्रवार को … तब तक के लिए सलाम, नमस्ते .. और हाँ प्रतिक्रिया दे कर हमारा मार्गदर्शन करना  ना भूलिएगा ..  जय हिंद !!
                         डॉ नूतन डिमरी गैरोला
                         

32 comments:

  1. प्रकृति के विभिन्न रंगों से सजी रचनाओं को लिए बेहतरीन संकलन नूतन जी......
    हर तरह के लिनक्स को समेटा है आपने आज की सतरंगी सार्थक चर्चा में.....
    इस मंच पर चैतन्य को जगह देने के लिए आभार ...........सधी सुसज्जित चर्चा हेतु बधाई स्वीकारें

    ReplyDelete
  2. सुन्दर रंगबिरंगी चर्चा !

    ReplyDelete
  3. डॉ.नूतन गैरोला जी!
    आज की चर्चा में
    प्रत्येक वर्ग के लिए पठन-पाठन हेतु
    सुन्दर लिंको का समावेश किया है आपने!

    ReplyDelete
  4. रंगों और तस्वीरों के साथ महत्वपूर्ण लिंक देने के लिए आपका आभार !

    ReplyDelete
  5. bahut sundar charcha hamesha ki tarah .aabhar .

    ReplyDelete
  6. sarthak charcha-sundar prastuti .aabhar

    ReplyDelete
  7. नूतन जी -विविध रंगों से सजा है आज का चर्चा मंच .
    मेरी कविता के चयन के लिए आभार .

    ReplyDelete
  8. रंगों और तस्वीरों के साथ महत्वपूर्ण लिंक देने और इस मंच पर जगह देने के लिए आभार......

    ReplyDelete
  9. आद. नूतन जी,
    आपने आज का चर्चा मंच बचपन की तुतलाहट ,वसंत की खुशबू, सागर की गहराई और आकाश की ऊंचाई जैसे खूबसूरत लिंकों से बहुत ही करीने से सजाया है !
    एक मंच पर इतनी सामग्री एक साथ उपलब्ध कराने के लिए आभार !

    ReplyDelete
  10. चर्चा बहुत सुन्दर और लुभावनी है ...बहुत से लिंक्स पर जाना हुआ ...आभार

    ReplyDelete
  11. namaste,
    naye blog lekhakon ka bhi haunsala badhaye.
    krati-fourthpillar.blogspot.com

    ReplyDelete
  12. namaste,
    naye blog lekhakon ka bhi haunsala badhaye.
    krati-fourthpillar.blogspot.com

    ReplyDelete
  13. Achchi aur sundar bhi lagi aaj ki charcha aur meri "darakti maanyatayen" ko dubara is manch par jagah dene ke liye dhanyawaad

    ReplyDelete
  14. आप सबको मेरा नमन...
    @ krati bajpai ..धन्यवाद .. आज आप मेरी चर्चा में चर्चामंच पर आयीं ... अच्छा लगा आपका आना... जरूर नए ब्लोगर्स को प्रोत्साहन देना भी हमारा लक्ष्य है.. और उनकी पहचान भी.. मंच इसी लिए है... किन्तु सर्फिंग के दौरान हमें जो नए ब्लोग्स मिलते हैं ..उन्हें जरूर शामिल करते हैं... सादर

    ReplyDelete
  15. बहुत ही सार्थक और सुंदर चर्चा....आज की चर्चा बिल्कुल सतरंगी है....मेरी कविता "तन का अवसान" को अवसान में रखने हेतु बहुत बहुत शुक्रिया....बहुत खुबसुरत चर्चा।

    ReplyDelete
  16. नूतन जी आपके आह्वान के साथ सुंदर रचनाओ, भावो और नये ब्लागो से परिचय हुआ। कुछ रंग बहुत ही भाये।

    ReplyDelete
  17. वाह काफ़ी बढिया लिंक्स लगाये है ……………बहुत से पढ लिये है और फ़ोलो भी किये हैं………………सच मे सूरज ही ले आई हैं आप्…………आभार्।

    ReplyDelete
  18. Dhanyavad Dr.Nutan ji.

    meri post ko charcha manch par sthan dene ke liye aapka abhar.

    ReplyDelete
  19. शानदार चित्रों से सजी पठनीय लिंक्स की सुन्दर चर्चा. आभार...

    ReplyDelete
  20. बहुत सुन्दर चर्चा..सुन्दर लिंक्स..मेरी रचना को चर्चा में शामिल करने के लिए धन्यवाद..

    ReplyDelete
  21. बहुत ही खूबसूरत एकदम सुबह की ताज़ी धूप सी चर्चा.

    ReplyDelete
  22. उत्त्म लिंक्स एवं चर्चा..आभार.

    ReplyDelete
  23. Wonderful charcha with cool links . Thanks Nootan ji .

    ReplyDelete
  24. बहुत अच्छे लिंक्स मिले आभार !एक
    शिकायत भी है, ब्लॉग पर बहुत सारे
    कार्टूनिस्ट भी रोज सक्रीय रहते हैं आप
    उनके साथ भेदभाव न करें , उनके भी
    लिंक्स दें तो हमें भी ख़ुशी होगी !

    ReplyDelete
  25. कई लिंक्स बहुत अच्छी लगीं |अच्छी चर्चा
    आशा

    ReplyDelete
  26. इस मंच के चर्चाकारों की मेहनत, लगन और चयन देखकर बहुत प्रसन्नता होती है।
    हमें भी बेहतरीन चयन में शामिल करने के लिए शुक्रिया।

    ReplyDelete
  27. बहुत ही सार्थक और सुंदर चर्चा....
    हार्दिक धन्यवाद!

    ReplyDelete
  28. रंगों और तस्वीरों के साथ महत्वपूर्ण लिंक देने और इस मंच पर जगह देने के लिए आभार|

    ReplyDelete
  29. नूतन जी एक बार फिर से सुंदर लिंक्स से सजी सम-सामयिक चर्चा प्रस्तुत करने के लिए बधाई|

    ReplyDelete
  30. main kal tippani kar gayi rahi shayad post nahi ho payi ,main aapki aabhari hoon dil se aur sabko ek saath dekh bahut khushi hui ,aapki mehnat rang lai hai ,ekta ki jhalak nazar aai .sundar

    ReplyDelete
  31. नूतन , बहुत अच्छे links होते हैं आपकी पोस्ट में . देर से आना हुआ .. पर साधुवाद ! इसी तरह आप पाठकों को लाभान्वित करती रहें .

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।