Followers

Sunday, January 01, 2012

"नये साल का अभिनन्दन" (चर्चा मंच-745)

सार्थक चिंतन और प्रयास से भी हर वर्ष वो नहीं मिल पाता ,
जिसकी इच्‍छा या आकांक्षा के लिए हमारा चिंतन और प्रयास होता है।
भले ही 12 वर्षों बाद अपने घर में.....
धन प्राप्ति या ज्ञान के प्रचार प्रसार का ..
2012 का क्‍या है आपका सपना ??
अपने एक मित्र की सलाह पर मैंने
अपना तख़ल्लुस “मशरूफ़” रख ही लिया। …
और इस नए साल की पहली पेशकश उसी तख़ल्लुस से …
आ गया है साल नूतन
नूतन वर्ष के इन प्रारंभिक क्षणों में प्रस्तुत हैं
तीन छंद *नव वर्ष पर सबके लिए है शुभ सुमंगलकामना !
उम्मीद के दीपक सदा जलते रहें नव वर्ष में !
जब मुड़ के देखा .....ये मिला .........
लेखा-जोखा ..मेरे किये का...
जिसमें शामिल है मेरे साथ मेरा परिवार ......
क्या किया मैनें?.....
इस समय पूरे देश में 2012 आने के उत्सव मनाये जा रहे हैं और इन उत्सवों का स्वरूप भी 'विशुद्ध आधुनिक' है दूसरी तरफ इन्टरनेट पर...
मेरे प्यारे देश-वासियों ,देश-विदेशसे शुभचिंतकों, मित्रों,
नूतन वर्ष मंगलमय हो ,सुख और समृद्धि ,शांति और सद्दभाव ,
प्रेम और करुना लिए नव- वर्ष सर्वजन को ...
गमन-आगमन -अभिनन्दन
तुम,आखरी रात,गुज़ारोगी आज,मेरे सहन में---
जब,पहले दिन,ड्योढी पर,मेरे पडे थे,महावरी,तुम्हारे कदम ...
क्योंकि साल २०११,जाने को है----
साल छूटे तो भी यादें छूटा नहीं करतीं... - एक और साल गया, आखिरी दिन जाते जाते कैसी अजीब सी नास्टलेजिक फीलिंग दे जाता है। जैसे किसी के दूर चले जाने के, किसी के छूट जाने की।
साल २०११ का अंतिम दिन..
दिन भी कहाँ..
अब शाम रात होने की ओर अग्रसर है।
कल से नया साल..
नए साल का पहला दिन।
आएगा अच्छा समय विश्वास है
अन्त में देखिए!

23 comments:

  1. नमस्कार शास्त्री जी नूतन नवल वर्ष की ढेर सारी शुभकामनायें ....!!
    बहुत बढ़िया चर्चा ....
    आभार ....मुझे स्थान दिया ....!!

    ReplyDelete
  2. अनुपमा त्रिपाठी... द्वारा blogger.bounces.google.com
    ७:२२ पूर्वाह्न (10 मिनट पहले)

    मुझे
    अनुपमा त्रिपाठी... has left a new comment on your post ""नये साल का अभिनन्दन" (चर्चा मंच-745)":

    नमस्कार शास्त्री जी नूतन नवल वर्ष की ढेर सारी शुभकामनायें ....!!
    बहुत बढ़िया चर्चा ....
    आभार ....मुझे स्थान दिया ....!!

    Posted by अनुपमा त्रिपाठी... to चर्चामंच at January 1, 2012 7:22 AM

    ReplyDelete
  3. Nice post .
    Aapka takhallus achha laga .

    रब की मर्ज़ी यह है कि इंसान कोई जुर्म न करे, कोई पाप न करे, वह धरती में ख़ुद भी शांति के साथ रहे और दूसरों को भी शांति के साथ रहने दे। जिसका जो हक़ बनता है उसे अदा करे और किसी पर कोई ज़ुल्म ज़्यादती न करे बल्कि जहां भी ज़ुल्म ज़्यादती हो वहां हद भर उसे मिटाने की कोशिश करे। वह बोले तो अच्छी बात बोले वर्ना चुप रहे। रब की मर्ज़ी यह है कि इंसान अपने हरेक रूप में ख़ुद को अच्छा बनाए। पति-पत्नी, मां-बाप, औलाद, पड़ोसी, जज, हाकिम और सैनिक, जितने भी रूप हैं उन सबमें वह अच्छा हो। उसकी शरारत से लोग सुरक्षित हों। उसके पड़ोस में कोई भूखा न सोता हो। अपने माल को वह ग़रीब, अनाथ और ज़रूरतमंदों पर भी ख़र्च करता हो और बदले में उनसे कुछ न चाहता हो, शुक्रिया तक भी नहीं। रब यह चाहता है कि बंदा यह सब करे और मेरे कहने से करे और सिर्फ़ मेरे लिए ही करे।

    लोग ऐसा करें तो समाज से ऊंचनीच, छूतछात, वेश्यावृत्ति, नशाख़ोरी, दहेज हत्या, कन्या भ्रूण हत्या आदि जरायम का मुकम्मल सफ़ाया हो जाएगा। भय, भूख, अन्याय और भ्रष्टाचार का ख़ात्मा ख़ुद ब ख़ुद हो जाएगा। उनके लिए अलग से कोई आंदोलन चलाने की ज़रूरत ही नहीं है। जब तक लोग ऐसा नहीं करेंगे तब तक वे कुछ भी कर लें, इनमें से कुछ भी ख़त्म होने वाला नहीं है और शांति आने वाली नहीं है।
    शांति हमारी आत्मा का स्वभाव और हमारा धर्म है।
    शांति ईश्वर-अल्लाह के आज्ञापालन से आती है।

    नया साल आ गया है,
    नए मौक़े लेकर आया है,

    सबको नव वर्ष की शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  4. Navavarsh agaman par hardik badhai or shubhakamanaye...abhaar

    ReplyDelete
  5. नमस्कार शास्त्री जी नूतन वर्ष की हार्दिक शूभकामनाएं....बहुत बहुत बधाईयाँ।

    ReplyDelete
  6. बढिया चर्चा ...

    नये साल की शुभकामनाएं........

    ReplyDelete
  7. Well done .

    सभी पाठकों और संरक्षकों को नववर्ष की मंगलकामनायें!

    भाषा और प्रेज़ेन्टेशन सभी कुछ दिलकश !!

    http://shekhchillykabaap.blogspot.com/

    ReplyDelete
  8. नव वर्ष के नव प्रभात का जिदादिली के साथ स्वागत, नयी उम्मीदों ,सफ़लता ,समृद्धि, शांति ,अमन का वाहक बने ,/ चर्चा मंच नयी उंचाईयों का प्रतिमान बने ..समस्त ब्लोगर मित्रों को शुभ कामनाएं ,आपके माद्ध्यम से ...सृजन का काफिला ,कहीं गाफिल न हो ....अनंत संभावनाओं ,शुभकामनाओं के साथ ......

    ReplyDelete
  9. आपको और आपके परिवार के सभी सदस्यों को नववर्ष की शुभकामनायें
    जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

    ReplyDelete
  10. बढ़िया चर्चा...नव वर्ष की शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  11. acche links ke sath rangbirangi charcha manch bahut acchi lagi...
    nav varsh ki shubha kamnaye....

    ReplyDelete
  12. नये वर्ष में सब मंगल हो।

    ReplyDelete
  13. सुंदर चर्चामंच "७४५" साल की प्रथम प्रस्तुति की बधाई ,.....
    नया साल "2012" सुखद एवं मंगलमय हो,....

    नई पोस्ट --"नये साल की खुशी मनाएं"--

    ReplyDelete
  14. naye varsh ki shubh kaamnaye

    ReplyDelete
  15. नूतन वर्ष अभिनन्दन .चर्चा मंच कानन वन सा सुन्दर सजीला रंगीला रहा .बधाई .

    ReplyDelete
  16. नव वर्ष की बहुत शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  17. आपको और आपके परिवार को नववर्ष की शुभकामनायें.........

    ReplyDelete
  18. सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  19. श्रीमान जी आपको हमारी ओर से साहित्यिक नमस्कार...
    नूतन वर्ष की शुभिच्छाओं के साथ...

    ReplyDelete
  20. नव वर्ष पर आपको और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनायें।

    -समीर लाल

    ReplyDelete
  21. आपको नव-वर्ष 2012 की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  22. नव वर्ष पर आपको और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

चर्चा - 2817

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है  चलते हैं चर्चा की ओर सबका हाड़ कँपाया है मौत का मंतर न फेंक सरसी छन्द आधारित गीत   ...