समर्थक

Tuesday, February 24, 2015

"इस आजादी से तो गुलामी ही अच्छी थी" (चर्चा अंक-1899)

मित्रों।
मंगलवार की चर्चा में आपका स्वागत है।
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।
--
--
--
--
--
--

अधूरे लम्हें ... 

पता नही प्रेम है के नही ... 
पर कुछ करने का मन करना 
वो भी किसी एक की ख़ातिर ...  
जो भी नाम देना चाहो दे देना ... 
स्वप्न मेरे... पर Digamber Naswa 
--
--

तारबाबू 

हमारे पूरे अंचल में ‘तारबाबू’के नाम से प्रसिद्ध हीरावल्लभ भट्ट अब अपनी उम्र के 95 बसंत देख चुके हैं. बुढ़ापा सबसे बड़ी बीमारी है, और उसमें भी अकेलापन बड़ी त्रासदी है. कभी कभी तो तारबाबू उन तमाम लोगों को गालियाँ देने लगते हैं, जो अब भी उनकी और लम्बी उम्र की दुआ करते हैं... 
जाले पर पुरुषोत्तम पाण्डेय 
--
--

झिनपिन - झिनपिन 

 झिनपिन - झिनपिन बूँदा - बाँदी , 
गल -गल टपक रही है चाँदी ; 
लगता बूढ़ी बरखा माई , 
बेहद आज थकी औ ' मांदी... 
--

अब कहाँ जाएँ। 

बाहरकी आवाजोंका शोर, 
सड़क रौंदती गाड़ियों की चीख 
जैसे मन कीपटरी पर 
धड़धड़ाती हुई रेलगाड़ी... 
sapne(सपने) पर shashi purwar 
--
--
--
--
--

*** तुम्हें जाना है *** 

अमिय प्रसून मल्लिक 
--
--
--

राजदार 

खामोशियों का राजदार कौन है 
मेरी तरह ही बेकरार कौन है 
हो जाए रौशन ये मेरी दास्ताँ 
वो खूबसूरत किरदार कौन है... 
कविता-एक कोशिश पर नीलांश 

10 comments:

  1. आप की रचना दिल की गहराइयों में जगह करती है आप को नमन -वंदन !
    -मेरे ठाँव आते वह पाषाण हो गया | मुखड़े पर उसके ठहराव आगया | मंगल मकाँ ऐसा बनाएं ज़नाब | कि छपर में पहले से रिसाव आगया ||

    ReplyDelete
  2. सुप्रभात
    उम्दा लिंक्स |बाल कथा मजेदार |

    ReplyDelete
  3. सार्थक चर्चा ,उपयोगी लिंक्स ,आभार शास्त्री जी मेरी क्षणिकाओं को स्थान दिया !!

    ReplyDelete
  4. SAADAR VANDAN SHASTRI JI ! CHARCHAA KE SABHI LINK GYAANVARDHAK HAIN JO BADI HI MEHNAT SE LIKHE GAYE HAIN !

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार!

    ReplyDelete
  6. बहुत ही मस्त हलचल ...

    ReplyDelete
  7. सुन्दर लिंक्स, सार्थक चर्चा शास्त्री जी ! मंच पर मेरी प्रस्तुति को भी स्थान दिया आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आभार !

    ReplyDelete
  8. आप बहुत उपयोगी लिँको का सयोजन करते हैँ।
    बहुत सुन्दर चर्चा मंच सजाया ।
    मेरे द्वारा क्लिक कुछ फोटोज् देखिये

    ReplyDelete
  9. Nice Article sir, Keep Going on... I am really impressed by read this. Thanks for sharing with us.. Happy Independence Day 2015, Latest Government Jobs.

    ReplyDelete
  10. Nice Article sir, Keep Going on... I am really impressed by read this. Thanks for sharing with us.. Happy Independence Day 2015, Latest Government Jobs.

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin