Followers

Friday, July 23, 2010

पहिचान कौन ....(चर्चा मंच -223) अनामिका

आज कल फोटो सैशन का जमाना है और देखिये मैंने भी बहुत से फोटो खींचे हैं ! ज़रा देखिये मेरी फोटोग्राफी और फोटो पर क्लिक करके पहचानियेगा और बताइयेगा ...किसका फोटो (लेख) कैसा लगा....

कुछ नाज़ुक लम्हों की नज्में....




श्री बृजभूषण लाल जी सक्सेना-मेरे बाबूजी

My Photo




चिट्ठाकार


logo-light1

मेरा फोटो









मेरा फोटो






मेरा फोटो



अब आई लेखों की बारी ....


My Photo












My Photo


My Photo


Prabodh Kumar Govil


चिट्ठा



चिट्ठाकार





चिट्ठा

जन्मकुंडली

और पता है....अभी बहुत से फोटो खींचने बाकी हैं...तो...आप सभी अभी कतार में हैं.....कृप्या थोड़ी देर प्रतीक्षा करें..(हा.हा.हा.)
आपका दिन मंगलमय हो !
नमस्कार
अनामिका

41 comments:

  1. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  2. फोटो सेशन का ही जमाना है ,सही कहा आपने |
    कुछ फोटो तो बहुत सुन्दर हैं ,अंदर क्या है ,इसके लिए पेज बुक मार्क करलिया है |आपकी चर्चा का तरीका बहुत अच्छा लगा |बधाई |
    आशा

    ReplyDelete
  3. Bahut Badhiya idea hai Madam ji...!!

    ReplyDelete
  4. bahut bahut dhanyavaad Anamika ji ..meri ghazal ko charchamanch tak laane k liye .....yahan par pehli baar aana hua ...vaise main to dar rahi thi pata nahi charcha kisbaat par hoti hai ::D...par yahan aakar bahut accha laga ..thanks again :)

    ReplyDelete
  5. अनामिका जी, सबसे पहले तो लेख शामिल करने के लिए आभार !
    चर्चा और चर्चे का अंदाज़ दोनों खूबसूरत हैं ... एक एक करके सारे लिंक खोलकर देखूंगा ..

    ReplyDelete
  6. चर्चा करने का यह बहुत ही बेहतरीन आइडिया है... मेरी ग़ज़ल को चर्चा में शामिल करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
  7. आज की चर्चा भी बहुत अच्छी लगी और उसे प्रस्तुत करने का अंदाज़ भी बहुत पसंद आया ! बहुत बहुत धन्यवाद एवं बधाई !

    ReplyDelete
  8. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  9. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  10. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  11. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  12. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  13. Anaamika jee, yah agar fashion hai to bahut achchha hai. akarshak tareeka hai posts tak pahunchaane ka. saakhee ko bhee aap ne navajaa, iskaa shukriya.

    ReplyDelete
  14. .
    Anamika ji ,

    बहुत सुन्दर चर्चा। अच्छे links मिले। आपकी इस मेहनत के लिए आपको नमन ।
    .

    ReplyDelete
  15. bahut bahut shukriya anamika ji meri rachna ko link pe lene ke liye!
    koti koti aabhar!

    ReplyDelete
  16. आभार,अनामिका जी
    इस रचना को चर्चा में स्थान देने के लिये।

    ReplyDelete
  17. चिटठाचर्चा का यह अंदाज काबिले तारीफ और अनुकरणीय है।
    बधाई एवं आभार।

    ReplyDelete
  18. लेख शामिल करने के लिए आभार ...!
    अच्छे लिंक्स ...बहुत मेहनत से होती है ऐसी चर्चा ...
    आभार ..!

    ReplyDelete
  19. हमें तो चर्चा का ये अन्दाज बेहद पसन्द आया....रोचक एवं सुन्दर सुरूचिपूर्ण..साथ ही रहस्य से भरपूर..
    आभार्!

    ReplyDelete
  20. चर्चा का ये अन्दाज़ भी बहुत भाया……………आभार्।

    ReplyDelete
  21. इसे कहते हैं हींग लगे ना फिटकरी , रंग चोखा ....बहुत बढ़िया चर्चा.....

    एक बात और याद आ रही है..बात नहीं कहावत....

    गुरु गुड़ ही रह गए चेले शक्कर हो गए :):)

    और यह मैंने गुड़ रहने की बात स्वयं के लिए कही है...कृपया कोई अन्यथा ना लें ....:):)

    बहुत .................मेहनत से की गयी चर्चा . :):)

    ReplyDelete
  22. बढ़िया जी बढ़िया.

    ReplyDelete
  23. ये अंदाज तो खूब है ....

    ReplyDelete
  24. चर्चा करने का यह बहुत ही अच्छा तरीका है...
    मेरी कोशश को चर्चा में शामिल करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
  25. चर्चा का यह आइडिया बहुत बढ़िया रहा!

    ReplyDelete
  26. अनामिका जी
    बहुत-बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
  27. चित्रमयी चर्चा देखकर मज़ा आ गया । आभार ।

    ReplyDelete
  28. बहुत ही शानदार आइडिया ।

    ReplyDelete
  29. वाह बहुत सुंदर. नूतन आईडिया.

    रामराम.

    ReplyDelete
  30. चर्चा का ये अनोखा और नया तरीका पसंद आया।

    ReplyDelete
  31. बहुत बढ़िया आइडिया है |बधाई |

    ReplyDelete
  32. अनामिका जी!
    आपने जितनी मेहनत इस चर्चा के लिए की है, उसके लिए आपको बहुत-बहुत साधुवाद!
    काव्यांचल से मेरी रचना को शामिल करने के लिए बहुत-बहुत आभार! :)

    ReplyDelete
  33. charchaa manch ko banaaye rahiye
    jaan pahchaan banaaye rahiye
    auron ki suni apni sunaate rahiye
    veerubhaai
    09350986685
    C-4 ,anuraadhaa ,nepiar rd ,kulaabaa ,mumbai

    ReplyDelete
  34. तो बात तस्वीर तक वाह मज़ेदार प्रयोग

    ReplyDelete
  35. सुन्दर चित्रों के साथ बेहतरीन चर्चा..............

    ReplyDelete
  36. आपका ब्लाग अच्छा लगा . ग्राम चौपाल से '' भामाशाह जिन्दा है '' वाला पोस्ट चर्चा मंच में लेने के लिए आभार .यह लिंक खुल नहीं रहा है कृपया चिंता कर लेवे .धन्यवाद .अशोक बजाज

    ReplyDelete
  37. बहुत खूब...जुदा अंदाज पसंद आया. हमने तो अपना मोबाईल वाला SMS भी पहचान लिया....ग्रेट !!

    ReplyDelete
  38. वाह क्या आइडिया है ......धनवाद

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"लाचार हुआ सारा समाज" (चर्चा अंक-2820)

मित्रों! रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...