समर्थक

Monday, June 11, 2012

शंखनाद (सोमवारीय चर्चामंच-907)

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ का नमस्कार! सोमवारीय चर्चामंच पर पेशे-ख़िदमत है आज की चर्चा का-
 लिंक 1- 
शंखनाद -नवीन मणि त्रिपाठी
_______________
लिंक 2-
ठण्डे रस का भरा माल था (सहारा समय उ.प्र. उत्तराखण्ड पर) -डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'
______________
लिंक 3-
गरजो बादल, बरसो बादल -बबन पाण्डेय
मेरा फोटो
_______________
लिंक 4-
My Photo
_______________
लिंक 5-
प्रेम गीत -अवन्ती सिंह
My Photo
_______________
लिंक 6-
मेरा फोटो
_______________
लिंक 7-
प्रेम और प्यार -आशा सक्सेना
मेरा फोटो
_______________
लिंक 8-
भारतीय काव्यशास्त्र–115 -आचार्य परशुराम राय
_______________
लिंक 9-
उठो सवेर हुई -उदयवीर सिंह
मेरा फोटो
_______________
लिंक 10-
मेरा फोटो
_______________
लिंक 11-
मेघ घटाएं छायीं गगन में -अनुपमा त्रिपाठी
_______________
लिंक 12-
_______________
लिंक 13-
कर ले सही चुनाव -श्यामल सुमन
My Photo
_______________
लिंक 14-
गंगावतरण (भाग-१) -मनोज कुमार
_______________
लिंक 15-
गोद भराई -पुरुषोत्तम पाण्डेय
मेरा फोटो
_______________
लिंक 16-
जल जीवन का मूल -दिलबाग विर्क
बेसुरम्‌
_______________
लिंक 17-
मैंने तो सुना था -अशोक सलूजा
My Photo
_______________
लिंक 18-
_______________
लिंक 19-
अमावस का चाँद -निवेदिता श्रीवास्तव
मेरा फोटो
_______________
और अन्त में
लिंक 20-
ग़ाफ़िल की अमानत
________________
आज के लिए इतना ही, फिर मिलने तक नमस्कार!

22 comments:

  1. बहुत सुंदर चर्चा !

    ReplyDelete
  2. बहुआयामी चचा के लिए बधाई गाफिल जी |
    मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |
    आशा

    ReplyDelete
  3. बड़े गहन और शिक्षाप्रद लिंक्स हैं ....
    ऐसी सार्थक चर्चा मे आपने मेरी कविता को स्थान दिया ...बहुत बहुत अभार ...गाफिल जी ...!!

    ReplyDelete
  4. लगता है बहुत ही मेहनत से आपने उम्दा लिंक्स का चयन किया है साथ ही चर्चा की पोस्ट बहुत ही करीने से सजी हुई है।
    मेरे ब्लॉग को शामिल करने के लिए आभार।

    ReplyDelete
  5. आपका प्रयास सार्थक और सराहनीय है गाफिल साहब

    ReplyDelete
  6. आपका संकलन हमेशा की ही तरह विविध और सराहनीय है.

    ReplyDelete
  7. विविधता से ओत-प्रोत चर्चा के लिए आभार!

    ReplyDelete
  8. समय व श्रम का बहुमूल्य उपयोग चर्चा को सार्थकता प्रदान कर रहा है .....बहुत-२ शुभकामनाएं मिश्र जी /

    ReplyDelete
  9. धन्यवाद- हमारी बात दूसरों तक और दूसरों की हम तक पहुंचाने के लिए।

    ReplyDelete
  10. सार्थक सुंदर चर्चा

    ReplyDelete
  11. साफ सुथरा सज है चर्चा मंच
    बहुत बढिया

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर लिंक संयोजन

    ReplyDelete
  13. बहुत ही बढ़िया लिंक्स है..
    बेहतरीन चर्चामंच...

    ReplyDelete
  14. वाह भई ग़ाफ़ि‍ल जी बल्‍ले बल्‍ले

    ReplyDelete
  15. बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स चयनित किये हैं आपने ...आभार

    ReplyDelete
  16. बढ़िया चर्चा... सुन्दर लिंक्स...
    सादर आभार.

    ReplyDelete
  17. बाल गीत ,फलों का मीत
    शास्त्री जी हैं ,सबके मीत
    इनकी भैया सबसे प्रीत .
    कोई सके न इनसे जीत .
    गाफ़िल आये सबको भाये ,
    बढिया चर्चा लिंक सजाये .
    बधाई स्वीकार करें .

    ReplyDelete
  18. आपके लिनक्स सजाने का अंदाज़ बड़ा सुन्दर है.

    मोहब्बत नामा
    मास्टर्स टेक टिप्स

    ReplyDelete
  19. मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार ...बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स चयनित किये हैं आपने ...सादर आभार.

    ReplyDelete
  20. पढ़ते है शेष सूत्र..

    ReplyDelete
  21. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ...

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin