समर्थक

Wednesday, January 16, 2013

तुम गा लेना...(बुधवार की चर्चा-1126)

आप सबको प्रदीप का नमस्कार |
शुरू करते हैं आज की चर्चा |
तुम गा लेना...
- Amrita Tanmay
बदलाव !
- संतोष त्रिवेदी
हाय मीडिया
- निर्दोष दीक्षित
मातृभूमि,,,
- धीरेन्द्र सिंह भदौरिया
pahchaan nahi hoti
- Kirti Vardhan
सह सको मुमकिन नहीं.
- कुसुम ठाकुर
खुदरा व्यापार में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश पर ?-सुनील दत्ता
- रणधीर सिंह सुमन

ये सब्र का बाँध किस कंक्रीट का बना है
- जयराम शुक्ल

सब तरफ है हाहाकार अपने में मस्त सरकार
- कौशल तिवारी 'मयूख'
ममता कैसे अलग करोगे?
- श्यामल सुमन
मधुशाला ... भाग - 15 / हरिवंश राय बच्चन
- संगीता स्वरुप ( गीत )
ब्लॉग की पोस्ट के बैकग्राउंड कलर या फोटो बदलने की ट्रिक..
- नवज्योत कुमार

अपना मोबाईल डेटा कंप्यूटर में ट्रांसफर करें ,बिना केबल ,बिना इंटरनेट
- AAMIR DUBAI

किसी भी टोरेंट फ़ाइल को Internet Download Manager के साथ कैसे डाउनलोड करें ?
-VANEET NAGPAL

"ऊसर ज़मीन" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

ऊसर जमीन में हमउपहार बो रहे हैं।
हम गीत और ग़ज़ल के उदगार ढो रहे हैं..

रोग विनाशक कारगर नुस्खे


गंजापन दूर करने के सरल उपचार. 

साथ मरें दस-बीस, रीस जिनपर है भारी


आज के लिए बस इतना ही | मिलते हैं अगले बुधवार को कुछ अन्य लिंक के साथ |
तब तक के लिए मुझे आज्ञा दीजिये |
अनंत शुभकामनाओं के साथ आभार |

21 comments:

  1. बहुत सुन्दर और व्यवस्थित चर्चा!
    इं.प्रदीप कुमार साहनी जी!
    आपका आभार!

    ReplyDelete
  2. सच में
    अभिभूत हुई मैं
    अपने आप को
    यहाँ पा कर
    आभार

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा पठनीय लिंक्स संकलन के लिए हार्दिक आभार

    ReplyDelete
  4. बहुरंगी लिंक्स से सजा है आज चर्चा मंच |
    आशा

    ReplyDelete
  5. सुंदर और रोच्क लिंक्स से सुसज्जित आज का चर्चा मंच..

    ReplyDelete
  6. सुन्दर चर्चा ||
    आभार प्रदीप जी--

    ReplyDelete
  7. सुंदर और सुसज्जित चर्चा है। फोटो साथ लगाते तो और जबर्दस्त लगती।

    ReplyDelete
  8. सुंदर और सार्थ्क चर्चा ..मुझे स्थान देने के लिए आभार..

    ReplyDelete
  9. बढिया चर्चा
    अच्छे लिंक्स

    ReplyDelete
  10. बहुत सुंदर उम्दा लिंक्स ,,
    मेरी रचना को शामिल करने के लिए आभार,,,,प्रदीप जी,,,

    recent post: मातृभूमि,

    ReplyDelete
  11. बहुत ही सुन्दर सूत्र..

    ReplyDelete
  12. अच्छे लिंक्स हैं.

    ReplyDelete
  13. सुन्दर चर्चा ...............

    ReplyDelete
  14. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति

    आभार

    ReplyDelete
  15. बहुत अच्छे चर्चा लिंक !!

    ReplyDelete
  16. बहुत सुंदर मेरी रचना को स्थान देने के लिए हार्दिक धन्यवाद आभार प्रदीप जी ---

    ReplyDelete
  17. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ...
    आभार!

    ReplyDelete
  18. सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  19. pradeep ji , nischay hi aap sabhi doston ke prayas se "charcha manch " nit nai unchai prapt karata jaa rahahai, badhai, shubhkamnaayen

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin