चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Saturday, January 26, 2013

जीवन जीने की पाठशाला


गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं के साथ आज की चर्चा में प्रवेश कीजिये और अपनी पसन्द का आनन्द लीजिये 
वैसे जैसे हालात हैं और जिस माहौल में हम जी रहे हैं
उसमें कोई शुभकामना या कोई पर्व तब तक 
कोई मायने नहीं रखता जब तक हमारे अन्दर
एक ईमानदार जज़्बा ना जागृत हो जाये
अन्याय से लडने का 
ज़ुल्म को मिटाने का
देश को एक स्वस्थ समाज देने का 

एक स्वर होने का आह्वान ... (4)

ये वक्त की आवाज़ है 


मैं लगा देती हूँ निर्वस्त्रता के सम्पुट जब भी

फिर तो जरूर कुछ ना कुछ होगा


कृष्ण की बातों को समझने का एक सुगम माध्यम

जीवन जीने की पाठशाला 



कटुसत्य - २

सत्य तो सत्य है 

यह है एक ऐसी जगह, जहां एक महिला के होते हैं कई पति

आश्चर्य कैसा ………यहाँ सब संभव है


जिंदगी फिर भी चलती जा रही है।

जीवन चलने का नाम जो है 

ये हमसे नहीं होगा...खुशदीप

तो फिर क्या होगा ?


मैं कह नहीं पायी

अब पछताये होत क्या 


खादी के सफ़ेद कुरते में ----------

फ़ितरत नहीं बदला करती 


बेटाडीन मांगता अश्वत्थामा...संध्या शर्मा

फिर भी ना भरा ज़ख्म


स्वामी विवेकानंद -गतांक से आगे - २४/१/'१३

 एक दिव्य ज्योति जो आलोकित कर गयी विश्व को

संवाद

अब कहाँ संभव हो पाता है 


निम्न चित्र में देखें कि क्या कुछ कापी हुआ ?

देखते हैं 

ओ मीत

आ जा इक बार 


सुभाष की खोज मिष्‍टी बनेगी कांची

जानिये इसे भी 


कुछ लोग

कभी नहीं बदलते

'आपत्तिजनक' निर्णय!

बस यही कर सकते हैं 


भारत हमारा

क्या सच में हमारा है?


माँ

नतमस्तक होने के सिवा और क्या कहूँ ?

पश्चिमी दर्शन और भौतिकवाद

कहाँ से कहाँ ले गया 


आओ मिलकर हम मनाएं गणतंत्र का दिन

ये औपचारिकता भी जरूरी है



गणतंत्र …… संध्या शर्मा

क्या सच में



क्या यही है गणतंत्र भारत का ?

पता नहीं


तंत्र ......... जनतंत्र ....... गणतंत्र ....... >>> संजय कुमार

अब तो फ़ैले हैं ना जाने कौन कौन से तंत्र

आश्वासन के घेरे

इसी मे तो घिरा जाता है


जन गण मन अधिनायक गाओ

और शाम को भूल जाओ ……एक दिन का फ़लसफ़ा



"सिसक रहा गणतन्त्र" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

सत्य वचन



आप सभी का दिन शुभ हो …………अब आज्ञा चाहूँगी उम्मीद है लिंक्स पसन्द आये होंगे……

23 comments:

  1. गणतंत्र अमर रहे हमारा |इस अवसर पर हार्दिक शुभ कामनाएं |
    आशा

    ReplyDelete
  2. वन्देमातरम् ! गणतन्त्र दिवस की शुभकामनाएँ!

    बहुत सुन्दर चर्चा!

    ReplyDelete
  3. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें वन्दना जी ! 'उन्मना' से मेरी माँ की रचना के चयन हेतु आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आभार !

    ReplyDelete
  4. शुभप्रभात वन्दना जी :))
    सामयिक सार्थक प्रस्तुती (y)
    शुभकामनायें !!

    ReplyDelete
  5. अच्छी लिनक्स लिए समसामयिक चर्चा के लिए आभार ...... गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें

    ReplyDelete
  6. Happy Republic Day
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ
    एवम् बधाई।
    Happy Republic Day!
    आप सभी को वरुण की तरफ से गणतंत्र
    दिवस की शुभकामनाऐँ
    ऐँ वीरोँ दिल मेँ एक मशाल जलायेँ रखना
    खोया हैँ जो तुमने उसकी याद संजोये रखना
    तुम ही हो वतन के सिपाही
    वतन के लाज बचायेँ रखना ।।
    इस खास मौके पर पर मैँ एक बार भारत
    की आँत्मा कहे जानेँ वाले गाँव एवं गाँव के
    किसानोँ को नमन
    हैँ नमन तुम्हे जवानोँ
    हैँ नमन तुम्हे किसानोँ
    हैँ नमन तुम्हे तुम ही भारत की सिरमोर
    हो
    तुम जो चाहो तो खुशियाँ सारी ओर हो ।।

    ReplyDelete
  7. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें वन्दना जी.

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर चर्चा बेहतरीन सूत्र और उनपर अपने विचार क्या खूब गणतंत्र दिवस की सभी को बधाइयां ये औपचारिकता तो निभानी पड़ेगी

    ReplyDelete
  9. बहुत बढ़िया -
    उम्दा चर्चा -
    शुभकामनायें-
    गणतंत्र दिवस की -

    ReplyDelete
  10. बढ़िया लिंक्स से सुसज्जित पोस्ट

    ReplyDelete
  11. हमारा ब्लॉग लिंक शामिल करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!
    गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

    सादर

    ReplyDelete
  12. शामिल करने के लिये बहुत-बहुत शुक्रिया वंदना जी।

    ReplyDelete
  13. समुचित सामग्री

    ReplyDelete
  14. लिंक्स हमेशा बहुत अच्छे होते हैं .... खुद को देखना गौरवान्वित करता है

    ReplyDelete
  15. अच्छा लगा खुद को यहाँ 'चर्चा मंच' पर देखना .. इस तरह अन्य रचनाकारों से भी मुलाक़ात हो गई ..
    आभार दोस्त ..

    ReplyDelete
  16. sabhi mitro ko 64we gantantr divas ki badhaii

    ReplyDelete
  17. सुन्दर सूत्रों का चयन..

    ReplyDelete
  18. SUNDAR LINKS... MERI RACHNA KO STHAN DENE HETU SAADAR ABHAR VANDANA JI..
    64we gantantra ki aap sbhi ko dheron shubhkamnaayen...

    ReplyDelete
  19. आभार दोस्त 'चर्चा मंच' में शामिल करने के लिए ..
    सुखद अनुभूति है ..

    ReplyDelete
  20. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ..
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं सहित ..

    ReplyDelete
  21. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,
    recent post: गुलामी का असर,,,

    ReplyDelete
  22. गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !वैवाहिक व्यवस्थाओं में उलझे होने के कारण उपस्थिति नियमित ण होने के लिये खेद |

    ReplyDelete
  23. बढ़िया चर्चा | छुट्टी के दिन बहुत लिंक्स उपलब्ध करा दिये आपने | आभार |

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin