समर्थक

Saturday, July 01, 2017

विशेष चर्चा "चिट्टाकारी दिवस बनाम ब्लॉगिंग-डे" (चर्चा अंक-2652)

मित्रों!
शनिवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।

(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

--

अंतरराष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉगर्स दिवस: 

जहाज को पंछी 

--

ब्लॉगों में बहार है... 

खुशदीप 

कल चमन था आज इक सहरा हुआ, 
देखते ही देखते ये क्या हुआ... 
हिंदी ब्लॉग जगत की जो हालत है, उसे देखकर ये गाना खुद-ब-खुद लबों पर आ जाता है...16 अगस्त, 2009 को जब मैंने अपने ब्लॉग 'देशनामा' पर पहली पोस्ट डाली थी, उस वक्त हिंदी ब्लॉगिंग अपने पूरे उरूज पर थी... *वो जो हममें तुममें जुनून था* दिग्गज हिंदी ब्लॉगरों को जैसे जैसे पढ़ने का मौका मिला, मुझ पर भी ब्लॉगिंग का नशा छाता चला गया...धीरे धीरे इसने जनून की शक्ल ले ली...दिन में एक पोस्ट डालना नियम सा बन गया...रात के 3-3 बजे तक जाग कर पोस्ट लिखता... 
--
--
--
--
--
साधु और शैतान महज सिक्के के दो पहलू हैं, 
पलक झपकते ही बदल जाता है दृश्य ... 
अनुशील पर अनुपमा पाठक 
--

सुना है तेरी महफिल में रतजगा है 

अब जमींदारी नहीं रही, रतजगे नहीं होते। जमींदारों की हवेलियाँ होटलों में तब्दील हो गयी हैं। क्या दिन थे वे? हवेली में सुबह से ही चहल-पहल हो जाती, जमींदार भी चौकड़ी जमाने के लिये शतरंज बिछा देते। उनकी हवेली पर ही सारे सेठ-साहूकार एकत्र होते। जहाँ जमींदार शतरंज की बाजी से शह और मात का खेल खेलते वहीं छोटे जमींदार तीतर-बटेर को लड़ा देते। जनानी ड्योढ़ी में भी चहल-पहल रहती। सुबह से ही इत्र-फुलेल से लेकर सोने के गहनों का जिक्र हो जाता... 
smt. Ajit Gupta 
--

पतझड़ 

Kailash Sharma 
--

क्योंकि मैं साक्षी हूँ  

जब आप दिखा रहे थे स्वरुप विराट 
कुछ समय के लिए मैं ढूंढ रहा था ठाट... 
Mera avyakta पर राम किशोर उपाध्याय  
--
--
--
--
--

23 comments:

  1. ब्लॉगिंग डे की शुभकामनाएं। मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
  2. ब्लॉगों में बहार है'...

    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा ....
    हिन्दी ब्लॉगिंग को जिस तरह से लोगो ने अपनाया है इससे ब्लॉगिंग की दुनिया को नया आयाम मिलेगा. आप सभी को ब्लॉगिंग दिवस की शुभकामनाये|

    ReplyDelete
  4. शुभ दिवस...
    रविवार की बजाय आज शनिवार को
    नियमित होने की शुभकामनाएँ
    आभार
    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. चर्चा करने के लिए पर्याप्त ब्लॉग मिलने लगेंगे तो चर्चा सप्ताह के सातो दिन भी हो सकती है जी। मगर लोग पहले मुखपोथी पर अपनी रचना लगाते हैं, जबकि पहले ब्लॉग पर रचना आनी चाहिए। फिर भले ही कहीं भी अपने सृजन को पोस्ट करे लोग।

      Delete
  5. बढ़िया लिनक्स .... चर्चा मंच का हार्दिक आभार ब्लॉगर साथियों को लगातार एक मंच देते रहने के लिए |

    ReplyDelete
  6. आपकी कोशीश हिंदी ब्लागिंग को उत्साहित करने का पुण्य काम रही है.
    #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
    रामराम
    ०२८

    ReplyDelete
  7. आपकी मेहनत को साधुवाद, सभी ब्लॉग दिवस की ढेरों शुभकामनाएँ, हम सभी निरंतर लिखें यही कामना है!

    ReplyDelete
  8. अन्तर्राष्ट्रीय ब्लोगर्स डे की शुभकामनायें ..... हिन्दी ब्लॉग दिवस का हैशटैग है #हिन्दी_ब्लॉगिंग .... पोस्ट लिखें या टिपण्णी , टैग अवश्य करें ......

    ReplyDelete
  9. सुंदर चर्चा।
    इस चर्चा की "कढ़ी" को कड़ी कर लें

    ReplyDelete
  10. आप की निरंतरता को नमन है सब छोड़ गए लेकिन आप जमे रहे और देखिये आपका विश्वास आज फिर ब्लोगों में बहार है :)

    सुन्दर लिंक संयोजन

    अब हम तो कहेंगे
    ताऊ के डंडे ने कमाल कर दिया
    ब्लोगर्स को बुला कमाल कर दिया

    #हिंदी_ब्लोगिंग जिंदाबाद
    यात्रा कहीं से शुरू हो वापसी घर पर ही होती है :)

    ReplyDelete
  11. बढ़िया चर्चा

    ReplyDelete
  12. अंतरराष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉग दिवस पर आपका योगदान सराहनीय है. हम आपका अभिनन्दन करते हैं. हिन्दी ब्लॉग जगत आबाद रहे. अनंत शुभकामनायें. नियमित लिखें. साधुवाद.. आज पोस्ट लिख टैग करे ब्लॉग को आबाद करने के लिए
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  13. हिंदी ब्लॉग जगत के प्रसार में चर्चा मंच का सराहनीय योगदान रहा है. आशा है कि हम सब एक बार फिर ब्लॉग जगत में वापिस आयेंगे और ब्लॉग जगत में फिर से पुरानी रौनक वापिस आयेगी. बहुत सुन्दर प्रस्तुति....हार्दिक शुभकामनाएं..
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  14. बहुत सुन्दर चर्चा। ब्लॉगिंग दिवस की शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  15. सुन्दर सार्थक चर्चा पोस्ट

    ReplyDelete
  16. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  17. जय हिन्द...#हिन्दी_ब्लॉगिंग...

    ReplyDelete
  18. सुन्दर और आकर्षक लिंक्स. मुझे सम्मिलित करने हेतु आभार.

    ReplyDelete
  19. शुभकामनायें .....

    ReplyDelete
  20. मान. शास्त्री जी ! मेरी रचना "मुक्त-ग़ज़ल : 234 - कर गया हैराँ....... " को सम्मिलित करने हेतु अनेक धन्यवाद !

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin