Monday, June 03, 2019

" नौतपा का प्रहार "(चर्चा अंक- 3355)

स्नेहिल अभिवादन   
सोमवासरीय चर्चा में आप का हार्दिक स्वागत है|  
देखिये मेरी पसन्द की कुछ रचनाओं के लिंक |  
 अनीता सैनी 
----
समाचार पत्रों की कवरेज
--
साहित्य शारदा मंच खटीमा द्वारा आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय साहित्य कार समागम, सम्मान समारोह और डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक की दो पुस्तकों (प्रीत का व्याकरण और टूटते अनुबन्ध) का विमोचन हुआ।



----

ग़ज़ल 

"वहाँ दो जून की रोटी" 

(डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

roopchandrashastri at
---

लम्हों का सफ़र: 614

. नज़रबंद

My Photo
डॉ. जेन्नी शबनम at
-----

बकवास अपनी कह कह कर किसी 

और को कुछ कहने नहीं देते हैं

सुशील कुमार जोशी at
 उलूक टाइम्स
-------

प्रदूषण और हम

------

आज अनायास ही ...प्रयाण-गीत

Alaknanda Singh at 
-------

भूटान की यात्रा

My Photo
Anita at 
--------

ग़ज़ल... चलते जाओ -

 डॉ. वर्षा सिंह

 

Dr Varsha Singh at 

ग़ज़लयात्रा GHAZALYATRA 

-------

विडंबना

My Photo
Amit Mishra 'मौन' at
-------

नौतपा का प्रहार

Anuradha chauhan at
-------

सबद भेद : कृष्‍णा सोबती :ओम निश्‍चल

--------

तुम मन की वीणा बजाते हो

My Photo
निवेदिता श्रीवास्तव at झरोख़ा 
--------

जिस तन को लगे वही जाने

रवीन्द्र भारद्वाज at राग
-------- 

हम को यूँ ही प्यासा छोड़ -

 बेकल उत्साही

--------

गिरगिट -

 गिलहरियों के क्षुद्र स्वार्थ - 

01 June 2019

कि पतनशील समाज में अब साहित्य का कोई अर्थ नही है और साहित्यकारों को भी यह मुगालते दूर कर लेना चाहिए , मेरे जैसे एनजीओ वाले ने तो तय भी कर लिया है कि अब समाज को और खासकरके वंचित, दलित, आदिवासी, अल्पसंख्यक, असहाय, दिव्यांगी और उपेक्षित लोगों को मदद करने के बजाय असहाय रखना या मदद ना करना (दुत्कारना ज़्यादा बेहतर होता शब्द शायद) ही बेहतर है - क्योंकि जागरूकता का फायदा जब ऐसे मिलें तो -
----------

12 comments:

  1. बहुत सुंदर चर्चा प्रस्तुति मेरी रचना को चर्चा मंच स्थान देने के लिए आपका हार्दिक आभार अनिता जी

    ReplyDelete
  2. सुन्दर अंक। आभार अनीता जी 'उलूक की बकबक को जगह देने के लिये।

    ReplyDelete
  3. वाह ! श्रम से संयोजित की गयी शानदार चर्चा..

    ReplyDelete
  4. सुंदर चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  5. सुन्दर चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  7. बेहतरीन रचना संकलन एवं प्रस्तुति

    ReplyDelete
  8. उपयोगी लिंकों के साथ बढ़िया चर्चा।
    आपका आभार अनीता सैनी जी।

    ReplyDelete
  9. वाह! सुन्दर प्रस्तुति.

    ReplyDelete
  10. सुंदर चर्चा एवं प्रस्तुति...मेरी रचना को स्थान देने के लिए आभार आपका

    ReplyDelete
  11. बहुत सुंदर प्रस्तुति शानदार संकलन सभी लिंक बेजोड़ इतनी उम्दा प्रस्तुति में मेरी रचना को स्थान देने के लिए तहे दिल से शुक्रिया अनिता जी।
    सभी रचनाकारों को बधाई।

    ReplyDelete
  12. शानदार अंक
    बेहतरीन रचनाएं

    मुझे यहाँ स्थान देने के लिए आभार आपका सादर

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।