Followers

Sunday, June 30, 2019

"पीड़ा का अर्थशास्त्र" (चर्चा अंक- 3382)

स्नेहिल अभिवादन   
रविवासरीय चर्चा में आप का हार्दिक स्वागत है|  
देखिये मेरी पसन्द की कुछ रचनाओं के लिंक |  
 - अनीता सैनी 
------

 "उड़नखटोला द्वार टिका है" 

 (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’) 

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' at उच्चारण 

जब से हुई है तुमसे आँखें चार ख्यालों में रहते हमारे सदा तुम करने लगे तुमसे प्यार हम अपार ..दिल में मेरे जब से आए हो तुम आँखे बंद कर निहारें बार बार ... जाओ गे दूर हमसे जब कभी तुम ज़िंदगी भर करेंगे हम इंतजार ..तुम ही तुम हो जिंदगी में हमारी है तुमसे ही अब हमारा संसार रेखा जोशी

  Ocean of Bliss 

------ 

बने सार्थक जीवन अपना 


चेतना अपने आप में पूर्ण है. जब उसमें जगत का ज्ञान होता है, वह दो में बंट जाती है. जहाँ दो होते हैं, इच्छा का जन्म होता है, और फिर उस इच्छा को पूर्ण करने के लिए कर्म होते हैं. कर्म का संस्कार पड़ता है, और कर्मफल मिलता है. जिससे पुनः-पुनः कर्म होते हैं. कर्मों की एक श्रंखला बनती जाती है. 'ध्यान' में हम पहले सब कर्म त्याग देते हैं. फिर सब इच्छाओं का विसर्जन कर देते हैं. भीतर केवल स्वयं ही बचता है... 
डायरी के पन्नों से 

------

पत्ता गोभी और चना दाल के  कुरकुरे और चटपटे बड़े

आपकी सहेली ज्योति देहलीवाल 

------

वलीउल्लाही आन्दोलन 



शरारती बचपन   
------
घास 

कविताएँ 
------
शमशानघाट से विदा 
पंडित जी ने अपना कमन्डल उठाया और शमशानघाट से विदा लेने के लिए तैयार हो गए। बहुत ही नराज़ थे दिल्ली की सरकार से। अब शमशान घाट नये तरीके बनाया जा रहा है। जिसमे उसको बैठने के लायक बनाया जाएगा। जहाँ पर गन्दगी और कोई जानवर ना तो आएगा और ना ही दिखाई देगा। इसलिए पंडित जी की भी विदाई कर दी गई है… 
एक शहर है 
------

10 comments:

  1. स्नेहिल आभार!
    चर्चा मंच की अथक यात्रा को प्रणाम!

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर चर्चा प्रस्तुति।
    आपका आभार अनीता सैनी जी।

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर प्रस्तुति शानदार लिंकों का चयन सभी रचनाकारों को बधाई

    ReplyDelete
  4. सुन्दर रविवारीय अंक।

    ReplyDelete
  5. सुन्दर चर्चा. मेरी रचना शामिल की. आभार.

    ReplyDelete
  6. उम्दा चर्चा। मेरी रचना को 'चर्चा मंच'में स्थान देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद, अनिता दी।

    ReplyDelete
  7. बेहतरीन सूत्रों का संकलन, आभार !

    ReplyDelete
  8. बहुत सुंदर प्रस्तुति मेरी रचना को चर्चा मंच पर स्थान देने के लिए आपका हार्दिक आभार सखी अनिता

    ReplyDelete
  9. This is very good website and informative article. You give the tips to read every newbie like me and also inspiring to me. I’m Following, Thank you For sharing This Knowledge.
    https://www.governmentjobinfo.in

    ReplyDelete
  10. This is a great blog,keep sharing more.
    While using any application if there is any issue that occurs like hacking and the application is processing slow then contact McAfee account login to get the instant solution.

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।