चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, September 29, 2011

{ शुभकामनाएँ नवरात्रि पर्व की }चर्चा मंच - 652

        आज की चर्चा में आप सबका स्वागत है 
                           सबसे पहले नवरात्रि पर्व की शुभ कामनाएं 
            अब देखिए मेरा नया ब्लॉग इधर-उधर .

अब चलते हैं चर्चा की ओर

पद्य रचनाएं 

गद्य रचनाएं
               अंत में देखिए माँ बम्लेश्वरी जी की कुछ तस्वीरें 
                     आज की चर्चा में बस इतना ही 
                                                धन्यवाद
                                              दिलबाग विर्क  

                               * * * * *

22 comments:

  1. खुबसूरत प्रस्तुति ||
    हमेशा की तरह -
    वर्गीकृत ||
    बधाई ||

    ReplyDelete
  2. निखर रहा है आपकी चर्चा का रूप .....! अच्छा प्रयास ...!

    ReplyDelete
  3. बेहतरीन लिंक्‍स के साथ बेहतरीन चर्चा मंच ।

    ReplyDelete
  4. बहुत ही शानदार चर्चा....
    बहुत ही अच्छे लिंक्स...

    |मेरी को यहाँ स्थान देने के लिए आभार |

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छे लिंकों का चयन किया है आपने!
    नवरात्रि की शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  6. bahut acchi charcha.... ismei meri post ko shamil karne ke liye dhanybad....aabhar

    ReplyDelete
  7. सुन्दर और बेहतरीन चर्चा ....नवरात्रि की शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  8. अच्‍छी चर्चा।
    नवरात्र की शुभकामनाएं....

    स्‍थान देने के लिए शुक्रिया....

    ReplyDelete
  9. सुंदर चर्चा. मुझे सम्मिलित करने हेतु आभार.

    ReplyDelete



  10. शस्वरं को एक बार फिर मान देने के लिए शुक्रिया दिलबाग जी !


    इस बार आपने मेरे ब्लॉग के कमेंट बॉक्स में सूचना भी दी है …
    पिछली बार तो संयोग से ही जान पाया था … :))))

    चर्चामंच-परिवार को नवरात्रि पर्व की बधाई और शुभकामनाएं-मंगलकामनाएं !
    -राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  11. बहुत ही अच्छे लिंक्स... नवरात्रि पर्व की शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  12. आपके परिश्रम को नमन।

    ReplyDelete
  13. बहुत ही अच्छे लिंक्स.......मुझे स्‍थान देने के लिए आभार !

    ReplyDelete
  14. समस्या पूर्ती- में पूर्ति/ पूर्त्ति का प्रयोग सही रहेगा ।

    ReplyDelete
  15. आदरणीय श्री दिलबाग विर्क जी सर्व प्रथम तो मैं क्षमा चाहूँगा चर्चा मंच पर देर से आने के लिए । आपने चर्चाओं के श्रेष्ठ संकलन में मेरी रचना को भी स्थान दिया , आपका हार्दिक आभार ।
    वन्दे मातरम्

    ReplyDelete
  16. धन्यवाद कि किसान पर लिखे मेरे तांका को आपने पसंद किया और चर्चा मंच पर सजाया .

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin