Followers

Thursday, December 08, 2011

नमन चिर युवा फनकार को ( चर्चा मंच - 722 )

    आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है
सबसे पहले याद करते है महान फ़िल्मी हस्ती देवानंद जी को उन पर फिल्माए रफी साहिब के गीत खोया-खोया चाँद  जो दिया गया है ब्लॉग यादें पर. यही है एक विनम्र श्रद्धांजली इस महान शख्सियत को.
गद्य रचनाएं 

  • लघुकथा को समर्पित ब्लॉग लघुकथाओं का संसार पर मिलिए सुभाष नीरव जी से उनकी तीन लघुकथाओं के साथ. 
  •  बैंकाक में हिंदी साहित्यकारों को सम्मानित कर रही है साहित्यिक संस्था सृजन गाथा
  • छोटी सी याद जरीना बहाव के बारे में ब्लॉग जो न कह सकें पर.
  • ब्लॉग जगत की बाध्यताओं पर चर्चा कर रहे हैं प्रवीन पाण्डेय जी
  • जिन्दगी जब मायूस होती है, तभी महसूस होती है.... यह संवाद है फिल्म दी डर्टी पिक्चर का, इसी के माध्यम से फिल्म अभिनेत्री के दुःख को महसूस किया है डॉ. मोनिका शर्मा जी ने.
  • फिल्म भोभर के यूनान में वर्ल्ड प्रीमियम पर रिपोर्ट प्रस्तुत कर रहे हैं चंडीदत्त शुक्ल जी. 
  • फेसबुक किस प्रकार खिलवाड़ कर रही है भारतीय सुरक्षा से-- पढ़िए ब्लॉग जुगाली पर.
  • ग़ज़लकार दुष्यंत कुमार की भाषा बोल रहे हैं अख्तर खान अकेला जी.
  • शादी की ग्यारहवीं वर्षगाँठ मना रहे हैं अतुल श्रीवास्तव जी
  • मन को जानना सबसे बड़ी साधना है ---- यह मन्ना है अजित गुप्ता जी का. आपकी राय क्या है ?
  • लाचार, गरीब बच्चों के दुःख को महसूस करती लघुकथा मासूम अपराध पढ़िए ब्लॉग वटवृक्ष पर. 
  • ब्लॉग मयंक की डायरी पर आइए और सीखिए ज्ञान भरी बातें हिंदी व्याकरण के बारे में. 

पद्य रचनाएं 

       अंत में पढ़िए उडन तश्तरी जी की जिन्दा कविता  
                   आज की चर्चा में बस इतना ही 
                                                   धन्यवाद 
                               दिलबाग विर्क 

23 comments:

  1. सारे लिनक्स बहुत बढ़िया ..... आभार

    ReplyDelete
  2. बढ़िया लिनक्स ||
    बहुत बहुत आभार ||

    ReplyDelete
  3. अच्छे लिंक्स बधाई |
    आशा

    ReplyDelete
  4. bahut achchhi charcha ......achchhe links .aabhar

    ReplyDelete
  5. आज की चर्चा में बस १० सूत्र अनपढ़े हुये निकले, चलिये उन्हें भी पढ़ लेते हैं, आभार।

    ReplyDelete
  6. पढ़ने के लिए बहुत अच्छे लिंक दिये हैं आपने आज की चर्चा में!

    ReplyDelete
  7. इन चुनिन्दा सूत्रों में चैतन्य को शामिल किया ....धन्यवाद आपका

    ReplyDelete
  8. पठनीय लिंक्स-सुन्दर प्रस्तुति...मासूम अपराध को शामिल किया,हार्दिक आभार|

    ReplyDelete
  9. बहुत ही बढि़या लिंक्‍स का संयोजन ...आभार ।

    ReplyDelete
  10. bahut hi sundar sanyojan lagaa hamesh ki tarah..dilbag ji ko hardik badhaii

    ReplyDelete
  11. बहुत बहुत आभार, दिलबाग जी !

    ReplyDelete
  12. धन्यवाद दिलबाग जी

    ReplyDelete
  13. बढिया लिंक्‍स।
    मुझे इस चर्चा में शामिल करने के लिए आभार....

    ReplyDelete
  14. बहुत बढ़िया लिंक्स के साथ सार्थक चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार!

    ReplyDelete
  15. धन्यवाद दिलबाग विर्क जी ....बहुत बढ़िया लिंकस है.... :)

    ReplyDelete
  16. dilbaag ji mera hardik aabhar ,is charcha manch tak meri rachna ko lane k liye........ kuchh rachnao ko padh payi hun kuchh baki hain......

    ReplyDelete
  17. दिलबाग जी ,
    आभार आपका !

    ReplyDelete
  18. बहुत ही व्यवस्थित और शालीन चर्चा …………सुन्दर लिंक संयोजन्……आभार्।

    ReplyDelete
  19. दिलबाग जी,...
    रोचक लिंक्स प्रस्तुति करने के लिए बधाई....

    ReplyDelete
  20. उत्तम संयोज़ं के लिए धन्यवाद.

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"स्मृति उपवन का अभिमत" (चर्चा अंक-2814)

मित्रों! सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...