Followers

Sunday, December 04, 2011

(‘‘सब जगह राम है’’-चर्चा मंच :७१८ )

आज रविवारीय चर्चा  प्रभु के नाम के साथ   ‘‘सब जगह राम है’’   से साथ शुरू कर के,     भगवती शांता परम सर्ग-१  की  सुन्दर यात्रा करेंगे , तत्पश्चात निर्णय लीजिए  भिखारी कौन- राहुल या उत्तर प्रदेश के लोग?  लेकिन भिखारी  से मिलने की तमन्ना के बाद  बस रह जाती है  एक त्रासदी भरी याद , इन्ही यादों के बीच किसी के  कोलावेरी कोलावेरी डी  कि याद आ जाये तो कुछ ख़ास अलहदा शे’र  पढ़ लीजिए,
यदि  गुस्से  की  लावा से  राम तेरी गंगा मैली हो गई तो उसको अन्ना के  लोकपाल का दायरा  में बांधना पड़ेगा ताकि   सहानुभूति सदैव मौन व्यक्ति के हिस्से में ही न रह जाए और अन्ना एंड बाबा का गुल्ली डंडा  का खेल बंद हों जाए . 
  कुछ उलझे हुए विचार  के साथ  हमारी सम्वेदना और सहनशीलता क्यों मर रही हैं ?
बंगाल टाईगर  के   सरकारी ऑनर किलिंग की  स्वाधीनता क्या  बाबा रामदेव और व्यंग के साथ खत्म होगी ???

 यदि चर्चा पसंद आये तो बिना लाग लपेट के    कमेन्ट  कर दीजिए .

आज मेरे और पता नहीं कितनो के पसंदीदा  एक कालजयी कलाकार , देवानंद को श्रद्धांजलि, भगवान इनकी आत्मा को शान्ति दें ...


आज के लिए इतना है ,

सादर 

20 comments:

  1. उम्दा चर्चा !! एक सूचना भी ..

    ब्लॉगप्रहरी का स्वरूप बदला गया है..शायद आपको ज्यादा पसंद आये..
    और हाँ .. एक नयी वेबसाईट भी हिंदी सेवा में आई है .. आज ही जुड़ने का निमंत्रण मिला .. नाम है हिंदीवाणी.. आप भी हो आयें ..

    ReplyDelete
  2. बढ़िया लिनक्स लिए अच्छी चर्चा ...... शामिल किया आभार

    ReplyDelete
  3. बहुत ही संयत चर्चा!
    सभी उपयोगी लिंको को समेट लिया है आपने आज की चर्चा में।
    आपका स्वागत-अभिनन्दन!

    ReplyDelete
  4. भाई कनिष्क कश्यप जी का कमेंट और उपयोगी सूचना के लिए आभार!
    --
    हिन्दी वाणी में मैंने भी खाता बना लिया है!
    --
    ब्लॉग प्रहरी का नया रूप तो बहुत ही पसन्द आया है मुझको!

    ReplyDelete
  5. सूत्रों की रोचक प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  6. स्वागत-अभिनन्दन ||

    बहुत ही संयत चर्चा ||

    ReplyDelete
  7. क्या ऐसा संभव हो सकता है कि स्व. देवानंद जी की एक तस्वीर लगाकर उन्हें भी श्रद्धांजलि दे दी जाए....

    ReplyDelete
  8. बढ़िया लिंक्स के साथ बढ़िया प्रस्तुति

    Gyan Darpan
    Matrimonial Site

    ReplyDelete
  9. bahut badiya links ke sath saarthak charcha prastuti hetu aabhar!
    Dev ji ko shradha suman...

    ReplyDelete
  10. बढ़िया चर्चा... सार्थक लिंक .. सादर आभार...
    देवसाहब को विनम्र श्रद्धांजली...
    “देव तुम्हे नम नैन................. बिदा
    दे करजाते तुम रैन................. बिदा
    मुख मौन न बोले बैन............. बिदा
    लाखों दिल के सुख चैन........... बिदा.”

    ReplyDelete
  11. बहुत सार्थक चर्चा...सुंदर लिंक्स... आभार

    ReplyDelete
  12. बढिया चर्चा।
    अच्‍छे लिंक्स।
    देव साहब को श्रध्‍दांजलि.....

    ReplyDelete
  13. सुन्दर चर्चा…………किया है मैने ये गुनाह परदे के पीछे से आया था परदे के पीछे चला गया………विनम्र श्रद्धांजलि।

    ReplyDelete
  14. dukhad hai ....i also miss dev ji

    ReplyDelete
  15. बढ़िया लिंक्स के साथ बढ़िया प्रस्तुति

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"सब कुछ अभी ही लिख देगा क्या" (चर्चा अंक-2819)

मित्रों! शनिवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...