Followers

Monday, December 19, 2011

सीख रहा हूँ दुनियादारी (सोमवारीय चर्चामंच-733)

दोस्तों मैं चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ आप सब से मुखातिब हूँ चर्चामंच पर और पेश करता हूँ आज की चर्चा-

 नं. 1- 
_______________
2-
मेरा फोटो
_______________
3-
_______________
4-
मेरा फोटो
_______________
5-
उच्चारण
_______________
6-
_______________
7-
मेरा फोटो
_______________
8-
My Photo
_______________
9-
मनोरमा
_______________
10-
_______________
11-
My Photo
_______________
12-
_______________
13-
clip_image001clip_image001
_______________
14-
My Photo
_______________
15-
_______________
16-
_______________
17-
_______________
18-
_______________
19-
_______________
20-
_______________
21-
_______________
22-
_______________
23-
________________
24-
________________
और अन्त में
25-
________________
आज के लिए इतना ही, फिर मिलने तक नमस्कार!

23 comments:

  1. हमारी शब्दांजलि को यहाँ स्थान दिया, आभार!

    ReplyDelete
  2. मेरे ब्लाग को चर्चामंच में शामिल करने के लिए आभार।

    ReplyDelete
  3. चर्चा अच्छी रही गाफिल जी |
    मझे अपनी रचना चर्चा मंच पर पाकर बहुत अच्छा लगा आभाए |
    आशा

    ReplyDelete
  4. ब्लॉगिस्तान की दुनिया से दुनियादारी की चर्चा बहुत बढ़िया रही।
    आभार!

    ReplyDelete
  5. सुन्दर पठनीय सूत्र।

    ReplyDelete
  6. बहुत शानदार लिंक्स का संकलन,मुझे भी शामिल करने हेतु आभार.

    ReplyDelete
  7. सुन्दर लिंक्स.
    मुझे शामिल करने के लिए आभार.

    ReplyDelete
  8. chayan batata hai ki hum zindagi ko kis tarah samajhte hain !

    ReplyDelete
  9. बहुत अच्छे विचारो को पढने का सुअवसर देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार .... चन्द्र भूषण मिश्र ji

    ReplyDelete
  10. बढिया चर्चा।
    मेरी पोस्‍ट को यहां शामिल करने के लिए आपका आभार......

    ReplyDelete
  11. चर्चा में सुंदर संकलन।

    ReplyDelete
  12. बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स दिये हैं आपने ..आभार ।

    ReplyDelete
  13. बहुत सुन्दर चर्चा। मेरी अभिव्यक्ति को स्थान देने के लिए आभार

    ReplyDelete
  14. सुन्दर चर्चा ...बढ़िया लिंक्स
    मेरी रचना को चर्चा मंच में स्थान देने के लिए आभार

    ReplyDelete
  15. बेहतरीन चर्चा आगाज़ से अंजाम तक एक से बढ़के एक लिनक्स .कई एक पढ़े टिपियाए भी .

    ReplyDelete
  16. अच्छी चर्चा रही गाफिल जी |

    ReplyDelete
  17. गाफिल जी.. चर्चा बहुत अच्छी रही |

    ReplyDelete
  18. सुन्दर लिंक संयोजन्।

    ReplyDelete
  19. हमेशा की तरह सार्थक -सुन्दर लिंक्स मिले. ब्लागरों की तरफ से आभार भाई

    ReplyDelete
  20. बहुत बढ़िया लिंक के साथ सार्थक चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार!

    ReplyDelete
  21. सुन्दर सूत्र... अच्छी चर्चा...
    सादर आभार..

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"स्मृति उपवन का अभिमत" (चर्चा अंक-2814)

मित्रों! सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...