चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, December 06, 2012

डायलसिस पर देश ( चर्चा - 1085 )

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है
 
चर्चा मंच के संचालक आदरणीय रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी ने अपने सुखद वैवाहिक जीवन के 39 वर्ष पूरे कर लिए है  उन्हें मुबारिकबाद 40 वीं वर्ष गाँठ पर 
अब चलते हैं चर्चा की और 

बधाई निगम जी को 
Facebook Account Settings Option
मेरा फोटो
अखबार का डर 

इजहारे मुहब्बत 

बाद उसके कोई भाता ही नहीं 

सृजन यात्रा में निमग्न ऋता शेखर 

राम और न्याय 

भारतीय इतिहास और अंग्रेज 

वो सर्द सी ताज़ी हवा 

कोई भूल न हो 

भूल गया खेत खलिहान 

श्रीनिवास वत्स का बाल उपन्यास 
ZEAL
दोहरे मापदंड 
images_edited
मजदूर कभी नींद की गोली नहीं खाते

श्रद्धांजली महेश अनघ जी को 

गीर अभ्यारण के शेर 
[25032011127.jpg]
मां तेरा फोन क्यों नहीं आता..?

गुणकारी पपीता 
"लिंक-लिक्खाड़"
डायलसिस पर देश 

ब्लॉग परिचय - मेरी कलम मेरे जज्बात 

व्यथा नेता जी की 
My Photo
उस चोट ने मुझे शायद बडा कर दिया है,

लहरों पर हस्ताक्षर
आज की चर्चा में बस इतना ही 
धन्यवाद 
दिलबाग विर्क 
*******

12 comments:

  1. बहुत सुन्दर आलेख सजाये हैं आज की चर्चा में।

    ReplyDelete
  2. चर्चा में बहुत अच्छे लिंक लिए हैं आपने।
    आभार!

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया चर्चा |
    आभार भाई दिलबाग जी -

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ...आभार!

    ReplyDelete
  5. सुन्दर लिंक्स से सजी सार्थक चर्चा

    ReplyDelete
  6. बेहतरीन लिंक्‍स के साथ अनुपम चर्चा

    ReplyDelete
  7. दिलबाग सर बेहद रोचक लिंक्स सुन्दर चर्चा आदरणीय शास्त्री सर को 40वीं वर्ष-गांठ पर हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  8. बढ़ि‍या है दि‍लबाग़ जी

    ReplyDelete
  9. बढिया चर्चा

    मुझे यहां जगह देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया भाई दिलबाग जी

    ReplyDelete
  10. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति. मुझे यहां जगह देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया.

    ReplyDelete

  11. बढ़िया समन्वयन और सेतु चयन कुछ सेतुओं का परिचय भी दें अपने ज़ज्बातों में , अंदाज़ में , तो चर्चा और सार्थक हो जाए .

    ReplyDelete
  12. रोचक लिंक्स.... शास्त्री जी के, 40वीं वर्ष-गांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं.,,,

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin